समुद्रीय प्रदूषण (Marine Pollution) पर संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए।

0
98

समुद्र में तथा प्रत्यक्ष तथा अप्रत्यक्ष रूप से ऐसे पदार्थों का मिलना जिसके कारण हानिकारक प्रभाव उत्पन्न हो सके जिससे मनुष्य, जीव-जन्तु पर संकट उत्पन्न हो और समुद्र की गुणवत्ता पर प्रभाव पड़े तो इसे समुद्रीय प्रदूषण (marine pollution) कहते हैं।

समुद्रीय प्रदूषण के स्रोत (Sources of Marine Pollution)

समुद्रीय प्रदूषण (marine pollution) के निम्नलिखित स्रोत

1. घरेलू अपशिष्ट (Domestic wastage)

2. औद्योगिक बहिः साव (Industrial effluents) 3. रेडियोधर्मी कचरा (Radioactive waste)

4. तेल प्रदूषक (Oil pollution )

15. कृषिजन्य कचरा (Agricultural waste)। समुद्रीय प्रदूषक (Marine Pollutants)

निम्नलिखित पदार्थों को समुद्रीय प्रदूषक (marine pollutants) कहा गया है, जैसे-घरेलू अपशिष्ट, रेडियोधर्मी पदार्थ, तेल, औद्योगिक बहिसाव, कृषिजन्य कचरा इत्यादि पदार्थ जो समुद्र में लाये जाते हैं या बहकर आते हैं समुद्रीय प्रदूषक (marine pollutants) कहलाते हैं।

1. घरेलू अपशिष्ट (Domestic wastage)-बड़े-बड़े शहरों में नदियाँ होती हैं, उनमें शहरों का वाहित मल छोड़ा जाता है और इन्हीं नदियों द्वारा वाहित मल समुद्रों में आ जाता है।

2. औद्योगिक बहिःस्राव ( Industrial effluents)- प्रायः सभी उद्योग कुछ कार्बनिक या अकार्बनिक पदार्थ बनाते और अनुपयोगी पदार्थ डिटरजेन्ट्स, पेट्रोलियम कार्बोनेट्स, सायनाइड्स, फर्टीलाइजर, Hg, कैडमियम, आर्सेनिक, कॉपर इत्यादि नदी में छोड़ दिये जाते हैं और ये पदार्थ नदी के द्वारा समुद्र में आ जाते हैं।

3. रेडियोधर्मी कचरा (Radioactive waste)-जहाँ-जहाँ रेडियोधर्मी स्टेशन्स (Radioactive stations) हैं वहाँ के आस-पास के समुद्र में अनुपयोगी रेडियोधर्मी पदार्थ छोड़ दिये जाते हैं। 4. तेल प्रदूषक (Oil pollution)-तेलीय पदार्थ कभी-कभी समुद्री रास्ते से ले जाते समय समुद्र में लापरवाही से या समुद्र तट पर जब आता है तो ट्रान्सपोर्टेशन के समय लापरवाही से समुद्र में आ जाता है। कभी तेल कारखाने से जो समुद्रों के किनारे होते हैं उनके अनुपयोगी पदार्थ भी समुद्र में बहा दिये जाते हैं। 5. कृषिजन्य कचरा (Agricultural waste)- बहुत से कीटनाशक वर्षा के माध्यम से नदी आ जाते हैं और फिर नदी द्वारा समुद्र में आ जाते हैं।

समुद्री प्रदूषण से होने वाले प्रभाव (Effect of Marine Pollution)

1. समुद्र में परमाणु परीक्षण (atomic test) के कारण समुद्रीय जीव-जन्तु खासकर मछलियाँ मर जाती हैं।

2. मल-जल द्वारा नदियों से होता हुआ समुद्र में आता है तो समुद्री जल प्रदूषित हो जाता है जो समुद्रीय जीव-जन्तु, समुद्रीय वनस्पतियों के लिए हानिकारक होता है।

3. कीटनाशी इत्यादि रसायनों के समुद्र में आने के कारण कई जीव-जन्तु के अण्डे क्षतिग्रस्त हो जाते हैं।

4. तेल के प्रदूषण के कारण समुद्र में प्रकाश एवं ऑक्सीजन की कमी के कारण जीव-जन्तु, वनस्पतियों पर उनके जीवन पर बुरा असर पड़ता है। ऐसा अन्दाज है कि प्रति वर्ष करीब 50,000 से 2,00,000 समुद्रीय जन्तुओं की मृत्यु तेल (oil) के प्रदूषण के कारण होती है।

5. समुद्र में जो मछलियाँ पायी जाती हैं जब हाइड्रोकार्बन, बेंजापायरिन इत्यादि जो प्रदूषण करते हैं, के समुद्रीय भोजन साथ मछलियों के शरीर में आते हैं और इस प्रकार की मछलियों का जब मनुष्य अपने भोजन के रूप में उपयोग करता है तो मनुष्यों में कैंसर होने की सम्भावना रहती है।

समुद्री प्रदूषण की रोकथाम (Control of Marine Pollution) समुद्री प्रदूषण के रोकथाम के निम्नलिखित उपाय बताये गये हैं-

1. घरेलू अपशिष्ट (Domestic waste) को नदियों में बहाने से रोकना चाहिए नदियों के माध्यम से समुद्र में न पहुँच सकें। जिससे वे

2. औद्योगिक बहिःसाव (Industrial effluents) के मामले में उद्योग मालिकों को चेतावनी देनी चाहिए कि अनुपयोगी पदार्थ को नदियों में न बहाएँ एवं उनको पुनः उपयोग में लाने की दिशा में कार्य करें। उनके ऊपर कठोर कानून बनाना चाहिए।

3. रेडियोधर्मी पदार्थ (Radioactive substances) को किसी भी माध्यम से समुद्र में नहीं आना चाहिए एवं उपरोक्त पदार्थों को उपयोगी पदार्थों में बदलना चाहिए।

4. सागर मार्ग में जो तेल परिवहन होता है उसका करीब 0.1% भाग सागर में गिर जाता है या समुद्रों में तेल निकालने की जगह से रिसाव होने के कारण तेल समुद्र में आ जाता है। यदि हम टैंकरों के रखरखाव या मरम्मत पर ध्यान दें तो तेल निकालने वाले यंत्रों या उससे सम्बन्धित पाइप लाइनों पर ध्यान दें तो इस प्रकार का रिसाव रोका जा सकता है। रिसाव करने वाले टैंकरों या पाइपों या तत्काल अलग कर देना चाहिए।

मेरा नाम संध्या गुप्ता है, मैं इस ब्लॉग का लेखक और सह-संस्थापक हूं। मेरा उद्देश्य इस ब्लॉग के माध्यम से आपको कई विषयों की जानकारी देना है। मुझे ज्ञान बांटना अच्छा लगता है। अगर आप मुझसे कुछ सीख सकते हैं, तो मुझे बहुत खुशी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here