हार्डवेयर क्या है – What’s {Hardware} in Hindi

क्या आपको पता है के हार्डवेयर क्या है? अगर आप इन्ही सवालों को ढूंडते हुए आए हैं तो आप बिलकुल सही जगह पे हैं. आपको पता ही होगा Pc में मुख्य रूप से दो Portions होते हैं एक तो Instrument और दूसरा {Hardware}. Instrument जिनको Pc Program भी कहते हैं. सॉफ्टवेर जिनको आप हर रोज अपने cellular और pc में use करते हैं. Instrument के EX- VLC, Chrome, Web Explorer, MS-WORD, MS-POWERPOINT, Photoshop, pdf reader और Working Gadget (Android, Home windows, MAC, UNIX).

क्या कभी आप सोचे हैं, ये सारे “Instrument बिना {Hardware} के कुछ भी नहीं हैं”. एक बार सोचो बिना Keyboard के आप MS-WORD में कैसे लिखोगे. बिना Mouse के Photoshop में Edit भी नहीं कर सकते. pdf guide को कहीं laborious disk में Retailer ही नहीं करगे तो Adobe Reader से पढोगे कैसे. तो सायद मेरी बातें आपको थोड़ी बहुत समझ आ रही हैं. Keyboard, Mouse, laborious disk, Observe, Motherboard, CPU, UPS, Speaker ये सभी एक एक {Hardware} हैं.

बीना {Hardware} के तो हम कभी Pc की छबी के बारे में भी सोच ही नहीं सकते. चलिए अब विस्तार से जानते हैं के कंप्यूटर हार्डवेयर किसे कहते हैं.

हार्डवेयर क्या है – What’s {Hardware} in Hindi

हार्डवेयर, कंप्यूटर का वो हिसा है जिसे हम देख भी सकते हैं और छु भी सकते हैं. अगर हम पुरे सठिक तरीके से वर्णन केरे तो यह Pc का Bodily Part है, और इस Part में circuit board, ICs, और दुसरे electronics होते हैं. इसक पूरा सठिक उदहारण है, जो आप अभी Display screen पे जो मेरा लेख पढ़ रहे हैं, वो display Pc, Pill, Cell में से किसीकी भी हो सकती है. एक कंप्यूटर में जितने भी Enter, Output, Processing और Garage gadgets है वो सभी एक एक HW हैं.

किसी भी हार्डवेयर के बिना, आपका कंप्यूटर मौजूद नहीं है, और इसके बिना नाही आप कोई सॉफ़्टवेयर का उपयोग कर सकते है. अगर SW Pc की आत्मा है तो फिर आपका शारीर Pc का {Hardware} है. परंतु हकीकत में {Hardware} से कुछ भी कार्य करवाने के लिए हम Instrument का उपयोग करते हैं.

आगर आपको Pc में गाना सुनना है, तो एसा नहीं की आप Pc को बोलोगे और गाना Play हो जाएगा. इसके लिए Home windows Media Participant या VLC (ये दोनों सॉफ्टवेर हैं) में जब गाना Paly करोगे तभी वो Speaker पे वो गाना PLAY होगा. मतलब hw को sw के माध्यम से नियंत्रण किया जाता है.

हार्डवेयर के प्रकार – Kinds of {Hardware} in Hindi

दो प्रकार के gadget आप देखे होंगे 1. Computer 2. Desktop. Computer के सारे bodily parts जुड़े हुए रहते हैं. मगर desktop के parts अलग अलग आते हैं. लेकिन hw लगभग दोनों में एक जैसे होते हैं. चलिए इन {Hardware} के प्रकार और Examples के बारे में जानते हैं.

Keyboard

यह एक Enter instrument है. इस {Hardware} के बिना तो कंप्यूटर में कुछ डाटा ENTER भी नहीं कर सकते हैं. इसी के मदद से हम Pc के सारे लिखने वाले कार्य कर सकते हैं. आप जो अभी पढ़ रहे हैं वो भी इसी के Keyboard से लिखा गया है. इस electronics Units देख भी सकते हैं और छु भी सकते हैं. सबसे ज्यादा इस्तमाल किए जाने वाले gadgets में से यह एक है. इसके अंदर भी दूसरे Hw part होते हैं. इस instrument USB Port में लगाया जाता है.

Mouse

इसे pointing instrument और Cursor Transferring Tool के नाम से भी जाना जाता है. एक Mouse में 2 या three button हो सकते हैं. जेसे की दायां , बायां , और मध्य button (Left key, Proper key, Center key Curler). ये सभी एक एक HW हैं. Mouse को Flat Floor पे या Mouse Pad पे रखा जाता है. Cursor को Keep an eye on करने के लिए इसका इस्तमाल किया जाता है.

Scanner

यह एक कंप्यूटर का बहारी HW है. Scanner का प्रयोग करके लिखित कागजात और तस्वीरों को virtual चित्र में परिवर्तित कर reminiscence में सुरक्षित रखा जा सकता है. Scanner के जरिये paperwork को भी scan कर कंप्यूटर में स्टोर किया जा सकता है. इसे Extenal H/W कहते हैं.

Observe

कंप्यूटर मॉनिटर एक digital instrument है जो की कुछ Pc में output दिखाने के लिए किया जाता है. यह बिलकुल एक T.V के तरह दीखता है. एक बड़ा और बढ़िया show answer हमे अछि तस्वीर दिखाता है. ये {Hardware} LAPTOP में छोटा साइज़ का होता है और Desktop में थोडा बड़ा होता है.

CRT Observe :- ये भारी और बड़े होते हैं और बहुत deskspace और electrical energy इस्तमाल करते हैं. यह सबसे पुरानी इस्तमाल किये जाने वाली era है. यह cathode ray tube technologyआधारित है जोकी tv के लिए बनाए गए थे.मगर ये track आज कल नहीं चलते.

LCD Observe :- एक तरीके का flat panel show है. ये CRT के मुकाबले नयी तकनीक है. ये screens कम table house इसतमाल करते हैं. यह कम वजन के होते हैं. यह screens कम electrical energy इस्तमाल करते हैं. एक अरसे से यही screens का इस्तमाल किया जा रहा है laptops और pocket book computer systems पे, ये touchscreens का भी काम करते हैं pill computer systems, cell phones पे.

Speaker

यह भी Exterior {Hardware} हैं. इसके इस्तमाल से हम ध्वनि सुन सकते हैं. यह ध्वनि के रूप मे output देता है. आज कल ये gadget में in-built रहता है.

Printer

Exterior HW. Printer एक output instrument है जो pc से प्राप्त जानकारी को कागज पर छापता है कागज पर output की यह प्रतिलिपि laborious copyकहलाती है pc से जानकारी का output बहुत तेजी से मिलता है और printer इतनी तेजी से कार्य नहीं कर पाता. इसलिये यह आवश्यकता महसूस की गयी कि जानकारियों को printerमें ही retailer किया जा सके इसलिये printerमें भी एक reminiscence होती है जहाँ से यह परिणामों को धीरे-धीरे print करता है.

Motherboard

यह hw, कंप्यूटर का मुख्य भाग है. इसे देखने के लिए आपको Pc को खोलने की आवश्यकता है. यह एक Board है जिसको PCB (Published Circuit Board) कहते हैं. यह board Pc के अलग अलग Elements को पकडके रखता है. और वो सारे Elements हैं CPU, RAM, Laborious Disk, smps port, Graphics card.

CPU (Microprocessor)

CPU जीसका पूरा नाम है Central Processing Unit. ये खुद एक {Hardware} नहीं है इसके अंदर कई सारे छोटे बड़े {Hardware} हैं. इसे कंप्यूटर का मस्तिस्क भी कहते हैं. ये Pc को Keep an eye on करता है. जैसे हमारा दिमाग हमें जो बोलता है वही हम करते हैं. मुख्य रूप से इसके three Elements हैं ALU, CU और MU. ALU जिसे Arithmatic और Logical Unit कहते हैं. CU Keep an eye on Unit और MU Reminiscence Unit. ALU mathematics calculation जैसे Addition, Subtraction, Multiplication और Department. LU Comparability Operation Carry out करता है. जैसे Lower than, more than, equivalent to और No longer equivalent to. MU में Number one और Secondary Reminiscence होते हैं.

RAM

RAM का पूरा नाम है Random Get entry to Reminiscence. इसको Direct Get entry to Reminiscence भी बोला जाता है, यह Reminiscence ज्यादा तौर पर Pc में Secondary Reminiscence की तुलना में कम Dimension की होती है. जैसे आपके Cell में यह 1GB, 2GB, 3GB, 4GB तक होती है. यह Electromagnetic Disk है. यह hw Rectangle form में होती है.

Enlargement playing cards

Graphics Playing cards – यह HW कार्ड जैसे दीखता है, इसे MOTHERBOARD में Insert किया जाता है. Graphics card का इस्तमाल track पे Symbol Rendering/ Produce करने के लिए किया जाता है. Knowledge को कुछ इस तरह Convert करता है और Indicators Generate करता है जिसे आपका Observe आसानी से समझ जाता है.

जितना बहतर Graphics Card होगा उतनी अछि Symbol Produce होती है. Gamer’s और Video Editor प्रिय लोगों के लिए Graphics Card होना जरुरी है. यह Motherboard में लगाया जाता है. इसका आकार एक चिप जैसे होता है.

Sound card – इसका दूसरा नाम है audio output instrument, sound board, or audio card. Sound card एक enlargement card और IC है. धवनी निकालने में मदद करता है. जिसको हम audio system और headphones के द्वारा सुन सकते हैं.

SMPS

SMPS {hardware} का पूरा नाम है Transfer Mode Energy Provide. ये एक Digital Circuit है. अगर Desktop के लिए अगर अलग से खरीदो गे तो आपको वो कुछ Sq. शेप का डबा मिलेगा वही SMPS है. ये Tool Pc के अलग अलग हिस्सों को Energy देता है जैसे की RAM, Motherboard, Fan को को energy provide देता है. वैसे तो Motherboard से अलग अलग हिसों तक बिजली ज्याती है.

Laborious Disk Pressure (HDD)

HDD यह एक Knowledge Garage {Hardware} Tool है. Pc या Computer के अंदर रहता है. जितने recordsdata या knowledge या फिर कंप्यूटर प्रोग्राम इसके अंदर Retailer होता है. OS भी इस HDD में स्टोर होता है. इस reminiscence को C force के नाम से भी जाना जाता है. partition के बाद C, D, E Pressure भी बनाई जाती हैं. laborious force, laborious disk, mounted force, mounted disk, and glued disOptical drives से डाटा retrieve करके और डाटा को optical discs like CDs, DVDs, and BDs (Blue-ray discs), में Retailer करता है. इनकी Garage capability बहुत ही ज्यादा होती है.

DVD DRIVE

DVD Pressure हर Desktop और Computer के CPU में INSTALL किया जाता है . जिनको Optical Pressure भी कहते हैं. dvd force के कुछ दुसरे नाम भी हैं Disc force, Strange, CD Pressure, DVD Pressure. इनका इस्तमाल virtual knowledge को Retailer करने के लिए किया जाता है. DVD, CD में जो DATA मोजूद है उसे Pc में Play करने के लिए इसका इस्तमाल किया जाता है.

हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बीच अंतर

  • {Hardware} और Instrument अपसा में एक दुसरे पे निर्भर रहते है. सठिक Output देने के लिए दोनों (sw और hw) एक जुट होक कार्य करते हैं.
  • HW के बिना Enhance के sw को use करना unimaginable है और इस तरह sw बिना Hw का इस्तमाल करना नामुमकिन है.
  • hw को set of Program के बिना इस्तमाल करना ना के बराबर है
  • Pc में कोई भी कार्य करने के लिए सबसे पहले सॉफ्टवेर को हार्डवेयर में लोड करवाना अति आवस्यक होता है.
  • {Hardware} को एक ही बार खरीद ने की आवश्यकता है.
  • Instrument को बनाने में और upkeep करने में काफी खर्चा आता है.
  • एक ही hw से अलग अलग तरह के activity को करने के लिए, कई अलग device को Set up किया जाता है. (एक मॉनिटर H/W पे Film, phrase, Paint, enhancing जैसे कई Job कर सकते हैं लेकिन हमें अलग अलग S/W को Set up करने की आवश्यकता है)
  • H/w और Person के बिच में sw Interface का काम करता है.

तो कहने का एक ही तत्वार्य था दोनों एक दुसरे के बिना कुछ भी नहीं है. एक pc में hw की जितनी जरुरत होती है उतनी ही S/W की भी होती है.

हार्डवेयर का भाबिस्यत

जब पहला कंप्यूटर बनाया गया था उसके सारे Elements अलग अलग कमरों में थे और cables के द्वारा उन्हें जोड़ा जाता था. इसके बाद जो कंप्यूटर बने उनका आकार और छोटा किया गया, इसी वजह से HW का SIZE भी छोटे हो गया. VLSI (Very Huge Scale Integration) और LSI (Huge Scale Integration) Era की मदद से इन Hardwares को ओर छोटा कर दिया गया. अब era के कारण Pc का Dimension एक घडी के बराबर हो गया है. ULSI, Nano era, microprocessor की मदद से अब ओर छोटे से छोटे dimension के HW बनाए जा रहे हैं.

आज आपने क्या सिखा?

हमेसा से मेरी कोसिस रहती है की आपको सही और सठिक और पूर्ण Inforamtion आपको मिले. आप आज सायद ये सब सीखे हार्डवेयर क्या है (What’s {Hardware} in Hindi). सच कहूँ तो हम {Hardware} से घिरे हुए हैं. क्यूंकि इन्होने हमारी जिंदगी आसान और सरल बनादी है. कभी आप ने एसा सोचा है आपका मोबाइल और Pc कैसा होगा ? इसका जवाब है वो होगा ही नहीं तो सोचोगे. हम कंप्यूटर को छु के महसूस कर सकते है लेकिन सॉफ्टवेर को कभी नहीं.

दिन प्रति दिन sw ज्यादा reminiscence लेने लगे हैं और हार्डवेयर का साइज़ छोटा हो रहा है. आपसे यही उमीद है सायद ये लेख आपको पसंद आया होगा, कैसा लगा आप जरुर निचे बताइए. अगर अभी बी कोई सवाल आप पूछना चाहते हो तो निचे Remark Field में जरुर लिखे.

Leave a Comment