Symbol Stabilization क्या है और कैसे काम करता है (OIS vs EIS in Hindi)

[ad_1]

क्या आपको पता है की ये Symbol Stabilization क्या है (what’s symbol stabilization in digicam) और ये कैसे काम करता है अगर हाँ तो अच्छी बात है और अगर नहीं तो ये Article आपके लिए हैं. जैसे की हम जानते हैं की कभी कभी जब हम एक फोटो क्लिक कर रहे होते हैं तब कभी कबार वह Image थोड़ी blur या धुंदली सी हो जाती है ऐसा इसलिए होता है क्यूंकि Photograph खीचते वक़्त हमारा हाथ शायद थोडा हिल गया हो जिसके कारण वो Image पूरी तरह से Transparent नहीं खिंची जाती है. ऐसा होने से हमारे मन को काफी दुःख होता है.

लेकिन क्या करें हम तो आकिर इंसान हैं और इंसानों से तो गलती होती ही है. कभी आपने ये सोचा की कुछ Cell में ऐसा होने के वाबजूद Image transparent आता है. इसके पीछे की Generation कैसी काम करती है. यदि ये सब के बारे में पूरी जानकारी लेनी है तो ये article Symbol Stabilization क्या है और ये कैसे काम करता है जरुर पड़ें. क्यूंकि आज में आप लोगों को इसी विषय में बताने जा रहा हूँ. तो फिर देरी किस बात की चलिए शुरू करते हैं.

इमेज स्टेबिलाइजेशन क्या है (What’s Symbol Stabilization in Digital camera)

Image Stabilization kya hai

इमेज स्टेबिलाइजेशन ये एक ऐसा Manner है जिसकी मदद से हम blurry footage उठाने की आदत को बहुत हद तक ठीक कर सकते हैं. इस Manner में Digital camera Lens mechanically transfer करता है Digital camera Motion को alter करने के लिए जिससे की हमें एकदम transparent image मिलती है.

ये Digital camera actions होने के कई कारण हैं जैसे की अगर कोई Digital camera को अपने हाथों में लेकर फोटो उठाये या फिर जहाँ Digital camera fastened हुआ है वो थोडा हिलने वाली चीज़ हो जैसे की कोई Automobile या कोई Helmet.

आजकल जहाँ देखो वहां Optical Symbol Stabilization की बहुत चर्चा है. ये एक ऐसी characteristic बन गयी है Sensible Telephone में जिससे की हर कोई अपने telephone में पाना चाहता है. इसके नाम से ही इसके काम के बारे में पता चल रहा है. इसका connection किसी digicam की characteristic से काफी मिलता झूलता है.

और हाँ एक बात तो बिलकुल ही सही है की हम इस characteristic का इस्तमाल कर बहुत ही ज्यादा खुबसूरत picture उठा सकते हैं. Symbol Stabilization Method की हम बात करें तो मुख्यत ये दो प्रकार के ही होते हैं पहला Digital Symbol Stabilization (EIS) और दूसरा है Optical Symbol Stabilization (OIS) जिनके बारे में हम पूरी तरह से आगे जानेंगे.

Optical Symbol Stabilization क्या है

जो काम ये Optical Symbol Stabilization मुख्य रूप से करती है वो है की blurry pictures जो की person के hand motion या उस digicam की motion से पैदा होती है उनको कम करना.

ये बात से हम सभी सहमत होंगे की Blurry Pictures हम में से किसी को भी पसंद नहीं है इससे हमे दुबारा उसी काम के लिए मेहनत करनी पड़ती है ताकि एक Blur loose symbol आ सकें. इसी मुस्किल को हल करने में Optical Symbol Stabilization (OIS) का एक बहुत बड़ा हाथ है.

ये तो बात है की इस Method की मदद से हम कुछ हद तक हमारे Digital camera Movement को हिलने से बचा सकते हैं लेकिन हाँ अगर हमारे कैमेरा Violently हिले तो इससे हमें कोई मदद नहीं होगी.

क्योंकि ये कुछ prohibit तक उस Vibration को Stabilize कर सकता है. और एक बात को जरुर याद रखना चाहिए की Symbol की Blurriness को ये तकनीक नहीं सुधारती बल्कि इसके मदद से बस कुछ हद तक symbol को उठाते वक़्त stabilize किया जा सकता है.

OIS virtue हैं

  • ये पूरी तरह से simple तकनीक है जिसमे कुछ नयी चीज़ों का इस्तमाल नहीं होता.
  • इसमें कोइन भी symbol processing की जरुरत ही नहीं पड़ती.
  • ये Body को Crop नहीं करती.

OIS dis-advantage हैं

  • Digital camera module काफी बड़ा होता है.
  • ये बहुत ही ज्यादा dear होता है.

Digital Symbol Stabilization

ये Digital Symbol Stabilization की काम करने की विधि बिलकुल अलग है, इसमें Drawback को Programming Degree में ही Clear up किया जाता है, जब Optical Sign को Virtual Sign में बदल दिया गया हो. सभी Digital camera में Charged Coupled Tool (CCD) जीने CCD भी कहा जाता है मेह्जुद होते हैं जो की एक Array होता है बहुत से Mild Sensor के और जिनको एक Grid में organized कर दिया गया होता है.

इस तकनीक में processor Symbol को छोटे छोटे टुकड़ों में बाँट देता है और उसके बाद उन्हें evaluate करता है पहले वाले body के साथ. इससे ये पता चलता है की जो movement हुआ था वो Shifting Object से पैदा हुई थी या किसी अनचाहे Shake से और ये उसके मुताबिक ही correction करता है.

अब जब आप कोई symbol को shift करते हैं तब उसको replenish करने के लिए आपको बड़े CCD की जरुरत है या कुछ house present CCD की हमें देना होगा ताकि ये symbol seize कर सके Off Display Function के लिए. इससे symbol ख़राब होने की भी probabilities है, लेकिन अगर आपके Digital camera की ज्यादा Answer है तब इससे ज्यादा फरक नहीं पड़ेगा.

EIS virtue हैं

  • Digital camera module काफी छोटा होता है.
  • ये ज्यादा dear नहीं होता है.

EIS dis-advantage हैं

  • इसमें Body Cropping की जरुरत पड़ती है.
  • यहाँ solution थोड़ी कम हो जाती है.

OIS कैसे काम करता है

OIS की काम करने की विधि बहुत है आसन है इसमें Symbol को Stabilize करने के लिए Sensor की Optical Trail को बदलना पड़ता है. ये genuine time reimbursement हैं जिससे alteration नहीं होता और symbol degradation भी नहीं होता. इसमें Lens meeting को Symbol Airplane के Parallely transfer किया जाता है.

यहाँ Shake detecting sensor (Gyro Sensors) का इस्तमाल किया जाता है, जो की data Microcomputer को भेजता है जिससे वो इसे Power Sign में बदल देते हैं जो after all Lens Meeting को transfer करते हैं ताकि symbol सही जगह यानि की Sensor में venture हो सके वो भी virtual layout में convert होने के पहले जिससे ये आपकी movement को off set कर सके. यही OIS की बेसिक concept है.

नोट :- जो सेंसर किसी भी तरह के हलचल को come across करते हैं उन्हें Gyro Sensors कहा जाता है.

Multi-Frames Virtual Symbol Stabilization

अगर हम video recording की बात करें तो दोनों OIS और EIS को genuine time symbol stabiization mechanism के हिसाब से काम करने के लिए डिजाईन किया गया है.

लेकिन इस Video को और भी ज्यादा Stabilize किया जा सकता है. ऐसा करने के लिए हमें Body के पहले और बाद में क्या हुआ दोनों को देखन पड़ेगा. EIS काम करता है present body और Earlier Body (Backwards in time) के movement को ध्यान देकर.

लेकिन कुछ तकनीक में दोनों Ahead Body (subsequent body) और backward body (earlier body) को देखकर Video को stabilize किया जा सकता है. ऐसा करने के लिए उन्हें दोनों route में बहुत सारे frames को analyze करना पड़ेगा.

जैसे की हमारा मुख्य उदेश्य है की कैसे digicam को digital airplane में रखकर Video Stabilize करना हैं. उसके साथ साथ pictures के 1/15 2nd के जगह ½ 2nd को देखना, ये एक बहुत बड़ा distinction कर सकती है particularly जब उसी period के बिच अगर movement alternate का route बदले.

MF DIS virtue हैं

  • बड़े symbol actions को हैंडल कर सकता है, OIS और EIS के मुकाबले.

MF DIS dis-advantage हैं

  • इसमें काफी ज्यादा Computing Functions चाहिए real-time video की processing के लिए.

Distinction between Virtual and Optical Symbol Stabilization

अगर हम Optical symbol stabilization (OIS) की बात कर रहे हैं तब में आपको बता दूँ की इसमें Digital camera या lens के sensor होते हैं जो movement को sense कर लेते हैं और उसके मुताबिक ही transfer करते हैं digicam के Optical Phase को विपरीत दिशा में.

वो sensor किसी भी गतिविधि जैसे की Respiring or heartbeat को पहचान लेता है. छोटे motar जैसे यन्त्र movement supply करते है उलटे दिशा में जिसकी मदद से digicam optical trail bodily scene के सामान level को level करती है.

लेकिन Virtual Symbol Stabilization (DIS) में बात कुछ अलग है इसमें Sensor या digicam’s focal airplane के Pixels का इस्तमाल किया जाता है sense करने के लिए जब चीज़ें transfer कर रही होती है और उसके बाद ये alter करती है कोन से pixel का इस्तमाल publicity के दोरान gentle इक्कठे करने का काम करे.

ये सभी चीज़ें Pc Chip करती है जो की Digital camera के अन्दर होती है. इसी कारणवस digicam में ज्यादा “further” pixels focal airplane के aspects में होने चाहिए ताकि ये movement को accommodate कर सके.

OIS क्यूँ ज्यादा बेहतर है EIS से

मुख्य virtue जो OIS का पास है वो ये है की यहाँ Symbol Degradation बिलकुल भी नहीं है क्यूंकि यहाँ जो भी compensations करनी है वो optical sign CCD तक पहुँचने के पहले ही कर दी जाती है.

लेकिन यहाँ mechanical movement करने के लिए थोड़ी ज्यादा {hardware} की जरुरत पड़ती है जिससे की battery के ऊपर भी दवाब पड़ता है और इसके साथ साथ software का weight नही बढ़ जाता है.

OIS के मुकाबले EIS ज्यादा सस्ता और gentle weight होता है, और यहाँ बेहतर set of rules के कारण symbol degradation को काफी हद तक कम कर दिया जाता है. लेकिन अगर कम रोशनी वाली जगह में इस्तमाल किया जाये तो वहां EIS के मुकाबले OIS बहुत ज्यादा अच्छा सब्यस्त होती है क्यूंकि यहाँ Symbol Degradation नहीं होती पर EIS में होती है.

मुझे पूर्ण आशा है की मैंने आप लोगों को Symbol Stabilization क्या है (what’s symbol stabilization in digicam) और ये कैसे काम करता है के बारे में पूरी जानकारी दी और में आशा करता हूँ आप लोगों को Symbol Stabilization के बारे में समझ आ गया होगा.

आज आपने क्या सीखा

मेरा आप सभी पाठकों से गुजारिस है की आप लोग भी इस जानकारी को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने मित्रों में Proportion करें, जिससे की हमारे बिच जागरूकता होगी और इससे सबको बहुत लाभ होगा. मुझे आप लोगों की सहयोग की आवश्यकता है जिससे मैं और भी नयी जानकारी आप लोगों तक पहुंचा सकूँ.

मेरा हमेशा से यही कोशिश रहा है की मैं हमेशा अपने readers या पाठकों का हर तरफ से हेल्प करूँ, यदि आप लोगों को किसी भी तरह की कोई भी doubt है तो आप मुझे बेझिजक पूछ सकते हैं.

मैं जरुर उन Doubts का हल निकलने की कोशिश करूँगा. आपको यह लेख इमेज स्टेबिलाइजेशन क्या है और ये कैसे काम करता है कैसा लगा हमें remark लिखकर जरूर बताएं ताकि हमें भी आपके विचारों से कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिले.

“ मेरा देश बदल रहा है आगे बढ़ रहा है ”

आइये आप भी इस मुहीम में हमारा साथ दें और देश को बदलने में अपना योगदान दें.

Leave a Comment