SSL क्या है और कहाँ से खरीदें

0
20


SSL एक encryption protocol होता है जो इन्टरनेट में इस्तेमाल किया जाता है. ये protocol web browser और web sites के बिच एक सुरक्षित संपर्क प्रदान करता है जो Web customers को अनुमति देता है की वो अपने personal information को दुसरे site के साथ अदला बदली सुरक्षित रूप से कर सके. SSL का fullform है Safe Sockets Layer.

SSL Kya Hai Hindi

आज के वक़्त में लगभग सारे ही site SSL का इस्तेमाल कर रहे हैं. SSL protocol करोड़ो on-line trade करने वाले लोग इसलिए इस्तेमाल कर रहे हैं ताकि वो अपने shoppers और उनके द्वारा किया जा रहा on-line transactions को प्रोटेक्ट कर सके और इसके इस्तेमाल से hacker के लिए नामुमकिन होगा की वो उस संपर्क के बिच से buyer का information चुरा सके.

SSL Kya hai Hindi Me

जो site SSL का इस्तेमाल करते हैं उनका area नाम जो होता है (जैसे www.hindime.web) उसके साथ एक बंद ताले का चित्र जुड़ा हुआ होता है जो की हमारे Web browser के url में दीखता है और http के जगह https लिखा रहता है area नाम के साथ, इससे पता चलता है की वो site पूरी तरह से सुरक्षित है.

अगर कोई consumer उस ताले वाले चित्र के ऊपर click on करे जो की deal with bar में दिखाई देता है तो वहाँ से जिस site को consumer देख रहा है उस site का SSL certification, id और बाकि सारी data consumer को दिखा देता है. हर site का distinctive SSL certificates होता है.

With SSL: https://yoursite.com
With out SSL: http://yoursite.com

SSL को TLS (Shipping Layer Safety) protocol भी कहा जाता है. इसका इस्तेमाल सिर्फ site में ही नहीं बल्कि e mail में और बाकि सभी जगह में इस्तेमाल किया जा सकता है.

अगर कोई व्यक्ति e-commerce website चला रहा है तो उसे SSL का इस्तेमाल करना बहुत जरुरी है क्यूंकि इस website में buyer से cost करने के लिए उनका सारा इनफार्मेशन लिया जाता है.

SSL कैसे काम करता है?

आपने जान लिया होगा के SSL kya hai (क्या है)? तो चलिए जानते है के ये काम कैसे करता है? SSL certificates दो तरह का key का इस्तेमाल करता है; एक है Public key और दूसरा है Non-public key.

ये दोनों key एक साथ मिल कर सुरक्षित संपर्क बनाते हैं जिसके जरिये information सुरक्षित तरीके से proportion होता है.

जब हमें किसी विषय के बारे में कुछ जानना होता है या कुछ खरीदना होता है तो हम अपने internet browser में किसी site का नाम लिखते हैं. उसके बाद internet browser उस site के server के साथ जुड़ता है जो की SSL protocol का इस्तेमाल कर रहा होता है.

Person अपने browser से उस site के server को request करता है की वो अपनी पहचान दे. request देने के बाद internet server अपने SSL certificates का कॉपी के साथ एक public key browser में भेज देता है.

उसके बाद consumer उस certificates को take a look at करता है जिससे की consumer ये तय कर सके की वो उस site के साथ अपने प्राइवेट information को proportion करने के लिए उस पर भरोसा कर सकता है या नहीं. take a look at कर लेने के बाद जब consumer उस पर भरोसा करने का फैसला कर लेता है तो फिर से वो उसके server को एक encrypt message भेजता है.

Internet server उस encrypt message को decrypt करता है उसके बाद वो browser को acknowledgement भेजता है की consumer के साथ SSL encryption शुरू किया जाये, उसके बाद consumer का प्राइवेट information browser और internet server के बिच अदला बदली सुरक्षित ढंग से होता है जो पूरी तरह से confidential रहता है.

SSL के प्रकार

SSL बहुत प्रकार के होते है और other वेबसाइट के लिए अलग अलग होते है. कुछ सस्ते होते है तो कुछ महंगे होते है. चलिए उनके बारे में जान लेते है.

1. Wildcard SSL Certificates

इस SSL Certificates के मदद से आप अपने डोमेन और सारे sub-domain को सुरक्षा प्रदान कर सकते है. यहाँ पर आपको डोमेन और group validation मिलता है.

2. Multi-Area (SAN) SSL Certificates

एक Multi-Area SSL मदद से आप 250 domain names को सुरक्ष्यित रख सकते है. यहं पर आपको Area Validation, Group Validation और Prolonged Validation मिलता है.

3. EV SSL Certificates

यह SSL आपकी trade के लिए बनाया गया है जो वेब ब्राउज़र के deal with bar को ग्रीन करने के साथ साथ आपका businesss नाम भी दिखता है. ये एक extremely identified और encrypted SSL certificates है.

4. Area validated SSL

ज्यादातर ब्लॉगर और छोटे मोटे वेबसाइट इसे इस्तिमाल करते है. ये medium लेवल की सुरक्ष्या प्रदान करता है.

5. Group Validation SSL

यह ऑनलाइन trade को check और सुरक्ष्या प्रदान करने के लिए इस्तिमाल किया जाता है. इससे costumer को ये पता चलता है के वो एक protected और verified वेबसाइट को discuss with कर रहे है.

6. Code Signing Certificates

आप इसकी मदद से अपने सॉफ्टवेर के कोड को सुरक्ष्यित रख सकते है. इसके साथ साथ ये आपके information और utility को भी सुरक्ष्या प्रदान करता है.

7. Multi Area Wildcard SSL Certificates

अगर आप एक साथ बहुत सारे domain names और उनके सारे sub-domains को protected करना चाहते है तो आप इसका इस्तिमाल कर सकते है. ये 250 domain names और उनके सारे sub-domains को सुरक्ष्यित रखने का काबिलियत रखता है.

SSL कहाँ से खरीदें?

SSL का carrier बहुत सारे बड़े firms प्रदान करते हैं उनमे से कुछ के नाम हैं- GoDaddy, BigRock, HostGator and so on. जब हम अपने site के लिए internet hosting server खरीदते हैं तो हमे वो internet hosting कंपनी भी SSL carrier प्रदान करते हैं जहाँ हम internet hosting खरीदने के साथ साथ अपने site के लिए SSL certificates भी खरीद सकते हैं जो हमारे site को सुरक्षित रखेगा.

दिए गए firms से अगर हम SSL certificates खरीदते हैं तो हमें उसके दिए गए रकम को भरना होगा तभी जाकर हम उसका भरपूर लाभ उठा पाएंगे. लेकिन ऐसे भी बहुत से firms हैं जो SSL का services and products मुफ्त में प्रदान करते हैं.

उनमे से एक का नाम हैं Let’s Encrypt, ये Web Analysis Workforce का एक प्रोजेक्ट है जो मुफ्त में SSL certificates आम लोगों को प्रदान करता है. Let’s Encrypt का sponsor बहुत सारे firms कर हैं जैसे Google,Fb, Mozilla, Cisco, and so on.

अपने इसी लेख में जाना के SSL क्या है (What’s SSL in Hindi), कैसे काम करता है और कहाँ से खरीदें? अगर आपको SSL से संबधित और कुछ जानकारी चाहिए, तो आप निचे remark कर सकते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here