Rs.500 and Rs.1000 Rupees Notes are Banned! Hindi Me Jankari

[ad_1]

हमारे देश का हाल तो हम सब जानते हैं, यहाँ अधिकतर काम पैसे लेकर किया जाता है और ये काम न जाने कितने सालों से चलता आ रहा है जिसके कारण हमारे देश का एक गरीब व्यक्ति और गरीब होता जा रहा है और अमीर व्यक्ति और अमीर होता जा रहा है.

मेहनती और इमानदार आदमी वक़्त पर सरकार को टैक्स चूका कर देश के तरफ अपनी कर्तव्य को निभाता है, लेकिन इस देश में ऐसे इमानदार लोग बहुत कम देखने को मिलते हैं. जो लोग सर्कार को टैक्स नहीं देते और वो पैसे बचाकर अपने पास रखते हैं असल में वो काला धन के समान होता है.

हमारा देश इस काले धन की वजह से ही विकाश नहीं कर पा रहा है. सर्कार हमसे टैक्स इसलिए लेती है ताकि वो हमारे देश को बेहतर कर सके लेकिन अगर हम ही इस काम में उनका साथ नहीं देंगे तो हमारा देश कैसे विकास की और बढेगा.

भ्रस्टाचार दीमक की तरह हमारे देश को खोखला कर रहा है इसलिए इस समस्या से लड़ने के लिए भारत सरकार ने एक सख्त कदम उठाया है. देश को भ्रस्टाचार और काले धन से मुक्त कराने के लिए हमारे प्रधानमंत्री श्री मोदी जी ने eight नवम्बर को एक महत्वपूर्ण फैसला सुनाया की मध्य रात्रि से हमारे देश भर में कहीं भी 500 और 1000 रूपए का नोट अब नहीं चलेगा.

ये फैसला सुनकर यक़ीनन सभी लोग चिंतित हो गए होंगे क्यूंकि 500 और 1000 रूपए का नोट सभी के पास मौजूद होगा अगर वही नहीं चलेगा तो लोग अपनी जरुरत को पूरा करने के लिए खर्च कैसे करेंगे. घबराने की कोई जरुरत नहीं है प्रधानमंत्री जी ने इसके लिए भी एक हल बताया है जिसके बारे में मै आपको इस लेख में बताने वाली हूँ.

भारत सरकार का भ्रस्टाचार के खिलाफ महत्वपूर्ण कदम

500-2000
Supply: www.india.com

eight नवम्बर 2016 की मध्य रात्रि के बाद से आप सभी के पास जितने भी 500 या 1000 के नोट हैं उनका इस्तेमाल अब आप नहीं कर सकेंगे क्यूंकि ये नोट अब बंद कर दिए गए हैं. इन नोटों की जगह अब आपको 500 और 2000 के नए नोट देखने को मिलेंगे.

और जो बाकि नोट हैं जैसे 100, 50, 20, 10 ,5 , 1 और सभी तरह के सिक्के का इस्तेमाल आप customary तरीके से कर सकते हैं जैसा की आज तक आप करते आये हैं.

सरकार का ये फैसला असल में काले धन और नकली धन से मुक्त कराने के लिए है. यानि की काला धन के रूप में मौजूद 500 और 1000 रूपए के पुराने नोट जिस व्यक्ति के पास होगा उसका कोई मूल्य नहीं होगा वो सिर्फ एक कागज के टुकड़े के समान रह जायेगा. इसलिए भारत और इस भारत के लोग जो भ्रस्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं उन्हें सरकारके इस फैसले से ताकत मिलेगी जिसके मदद से हमारा देश भ्रस्टाचार और काले धन से मुक्त हो जायेगा.

इस फैसले से यक़ीनन सभी लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा लेकिन इस समस्या से लड़ने के लिए लोगों को कम से कम तकलीफ का सामना करना पड़े इसके लिए सरकार ने व्यवस्था भी की है.

Rs.500 और Rs.1000 रूपए के पुराने नोट के साथ क्या करें

प्रधानमंत्री जी ने 500 और 1000 रूपए के नोट के बंद होने के साथ साथ एक और बात बताया है की nine नवम्बर को सारे financial institution और ATM बंद रहेगें और 10 नवम्बर को कोई कोई जगह में financial institution और ATM दोनों बंद रहेगा.

यानि की लगभग दो दिन तक financial institution बंद रहेगा इसलिए तब तक आप उन पैसों के साथ कुछ भी नहीं कर सकते.लेकिन इन दो दिनों के बाद आपके पास में जितने भी 500 और 1000 के नोट होंगे उन सबको आप financial institution में ले जाकर deposit कर सकते हैं या फिर आप उन पैसों को alternate भी कर सकते हैं.

deposit की बात करें तो 10 नवम्बर से लेकर 30 दिसम्बर 2016 तक आपके पास 500 और 1000 रूपए की जितनी भी धन राशी है जैसे 500, 1000, 5000, 10000 या फिर उससे भी ज्यादा जितना भी पैसा है तो कोई दिक्कत नहीं है, उन पैसों को financial institution में लेकर जाइये और अपने account में deposit करवा दीजिये.

यक़ीनन लाखों लोग अपने पैसे deposit करवाने या alternate करवाने के लिए financial institution में जायेंगे तो इस वजह से आपके financial institution में काफी भीड़ होगी इसलिए आप financial institution के अलावा जिस व्यक्ति का submit workplace में account है तो वो व्यक्ति वहां जाकर भी पैसे deposit कर सकता है.

जिनका account submit workplace में नहीं है तो वो सिर्फ अपने पुराने नोट alternate कर सकते हैं इसके लिए उन्हें अपना ID evidence दिखाना होगा जैसे PAN card, Aadhar card, Election card, Ration card इत्यादि, इनके बिना आप पैसे deposit नहीं कर सकते. अपने पैसे financial institution या submit workplace में deposit कर लीजिये उसके बाद आपका पैसा आपके account में आ जायेगा.

फर्क सिर्फ इतना ही होगा की अगर आपका पैसा दो नंबर का हुआ तो वहां पर आपको टैक्स देना पड़ेगा और अगर वो पैसे आपकी मेहनत की कमाई का है और आपने उसका टैक्स दिया हुआ है तो इसमें आपको घबराने की कोई जरुरत नहीं है.

Transactions से जुडी जरुरी बातें

1. अपने पुराने 500 और 1000 का नोट financial institution में या submit workplace में alternate कराना है तो उसमें एक सीमा रखा गया है की आप एक दिन में सिर्फ 4000 रूपए तक का alternate करवा सकते हैं और ये सिर्फ शुरुआत समय के लिए है जहाँ आप 10 नवम्बर से लेकर 24 नवम्बर तक करवा सकते हैं, 25 नवम्बर के बाद से 4000 की सीमा को बढ़ा दी जाएगी.

2. ATM से पैसे निकालने के लिए भी सीमा तय की गयी है की आने वाले दिनों में आप एक ATM card से सिर्फ 2000 रूपए तक की धन राशी प्रति दिन निकाल सकते हैं. कुछ दिन के बाद इसमें भी बढ़ोतरी कर दी जाएगी.

3. अगर आप financial institution में जाकर counter से पैसे निकालना चाहते हैं तो वहां आप एक दिन में 10000 रूपए की धन राशी निकाल सकते हैं और एक हफ्ते में सिर्फ 20000 तक की धन राशी निकाल सकते हैं उससे ज्यादा पैसे नहीं निकाल सकते हैं.

4. अगर हम बात करते हैं बाकि जगहों पर transactions के बारे में तो जैसे किसी भी तरह की on-line fee, Web banking, cheques, DD, Fund switch की जाती है तो इन सभी चीजों में आपको कोई दिक्कत नहीं होगी आप आराम से on-line fee अपने credit score या debit card के जरिये कर सकते हैं जैसे की आप पहले करते थे उसमे किसी भी प्रकार की रोक नहीं लगायी गयी है.

5. ऐसे तो दो दिन तक banks और ATM बंद रहेंगे और क़ानूनी तौर पर 500 और 1000 रूपए के नोट भी बंद हो जायेंगे लेकिन अगर कुछ ऐसी परिस्थति हो जाती हैं जहाँ पर लोगों को पैसे की सख्त जरुरत पड़ सकती है तो उस स्तिथि में आपके पास जो पुराने 500 और 1000 के नोट हैं तो आप अस्पताल, petrol pump, CNG Fuel station, railway price tag reserving, flight price tag reserving, bus price tag reserving counter में इन पैसों का इस्तेमाल सिर्फ इन दो दिनों तक कर सकते हैं.

6. ऐसे लोग जो इस समय सीमा के अन्दर मतलब 30 दिसम्बर 2016 तक पुराने नोट किसी भी कारण से अगर जमा नहीं करा पाये तो उनको 500 और 1000 के पराने नोट को बदलने का एक आखरी मौका भी दिया जायेगा. ऐसे लोग RBI के workplace में अपने धन राशी को declaration shape के साथ ID evidence और पैसा जमा ना कर पाने का कारण बता कर 30 मार्च 2017 तक जमा करवा सकते हैं।

भारत में पहली बार नोट बंदी कब हुई थी?

भारत में पहली बार नोट बंदी अंग्रेज सरकार ने सन 1946 में की थी। इसके बाद 1978 में भी नोटबंदी की गई थी

मोदी सरकार द्वारा भारत में नोट बंदी कब हुई?

मोदी सरकार द्वारा भारत में नोट बंदी eight November 2016 को हुई थी।

आज आपने क्या जाना

तो ये थी 500 और 1000 रूपए का नोट जो अब भारत में नहीं चलेगा उससे जुडी जानकारी. इस विषय से जुडी कोई भी सवाल आपके मन में हो तो आप remark कर पूछ सकते हैं, अगर ये लेख आपको पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ जरुर percentage करें.

Leave a Comment