Google Adsense Source of revenue कैसे बढ़ाएं

[ad_1]

आजकल बहुत सारे ब्लॉगर अपने Weblog से Google Adsense के जरिये पैसा कमा रहे हैं | कुछ Bloggers कम Web page Visitors होने के बावजूद Adsense से बहुत ज्यादा कमाई करते हैं जबकि कुछ Bloggers की वेबसाइट पर अच्छा ट्रैफिक होने के बावजूद वे Adsense से अधिक नहीं कम पाते | Google Adsense CPC और CTR के हिसाब से आपको पैसे देता है इसलिए आपको अपनी CPC और CTR पर हमेशा नज़र रखनी चाहिए | CPC और CTR जितनी अधिक होंगी उतना ही अधिक पैसा आप अपने ब्लॉग से कमा सकते हैं | CPC और CTR बढ़ाने की कुछ Perfect Tactics हैं जिन्हें Observe करके आप भी अन्य सफल Bloggers की तरह ढेर सारा पैसा कमा सकते हैं | लेकिन Tactics को जानने से पहले आपको यह जान लेना चाहिए कि ये CPC और CTR आखिर हैं क्या?

CPC क्या है (What’s CPC)?

CPC का Fullform Value-In keeping with-Click on होता है | यह वह Quantity है जो Google Adsense Advertisers से उनके Advert पर हुए In keeping with-Click on के हिसाब से प्राप्त करता है और उसमें से अपना हिस्सा काटकर आपको प्रदान करता है | CPC का कम या ज्यादा होना आपके Weblog के Area of interest, Guests का Area और Weblog की गुणवत्ता जैसे कई Elements पर निर्भर करता है | उदाहरण के लिए Generation Area of interest वाले Weblog की अपेक्षा Information and Leisure Area of interest वाले Weblog की CPC बहुत कम होती है |

CTR क्या है (What’s CTR)?

CTR का Fullform होता है Click on-Thru-Fee | आपके Weblog पर आने वाले और Advert को देखने वाले Guests में से कितने प्रतिशत Guests ने Advert पर Click on किया यही आपका Click on-Thru-Fee होता है | उदाहरण के लिए अगर आपके Weblog पर आने वाले VIsitors में से 1000 Guests ने किसी Advert को देखा और उनमें से 15 Guests ने उसपर Click on किया तो आपका CTR 1.5% होगा | इसको ज्ञात करने का Method ( कुल Advert Clicks / कुल Impressions ) X 100 ‘  होता है |

Google Adsense से होनी वाली Source of revenue को बढ़ाने के लिए आपको सबसे पहले आपको अपने Weblog पर आने वाले Visitors को बढ़ाना चाहिए | जितना अधिक लोग आपके ब्लॉग की पढेंगे उतना ही अधिक Advert clicks होने की संभावना बनती है और उसी प्रकार आपको पैसे भी प्राप्त होते हैं | हालाँकि कभी कभी अधिक Visitors वाले Weblog कम ट्रैफिक वाले ब्लॉग की अपेक्षा कम पैसा कमा पाते हैं | ऐसा उनकी CPC और CTR के कम होने के कारण होता है | अगर आपके साथ भी ही ऐसा है तो आप CPC और CTR को बढ़ाने की Perfect Tactics को Observe करके अपनी CPC और CTR को बढ़ा सकते हैं –

Adsense Commercials की Perfect Measurement और Location

आपके Weblog पर दिखने वाले Commercials की Measurement और Location CPC और CTR पर सबसे अधिक प्रभाव डालती है | Weblog Submit की शुरुआत में ही अपने Adsense Commercials को Position करने से CTR और साथ ही साथ CPC Worth में उल्लेखनीय बढ़त प्राप्त की जा सकती है | इसलिए हमेशा Commercials को Submit Identify के ठीक नीचे, Submit के शुरूआती और बीच के हिस्से में Position करना चाहिए क्योंकि अधिकतर लोग Posts को पूरा नीचे तक नहीं पढ़ते हैं इसलिए अधिक नीचे लगे Commercials की CTR कम होती है | Adsense Commercials की Supreme Measurement 480×60, 300×250, 160×600 आदि होती हैं | आपकी कोशिश यही रहनी चाहिए कि आप इन्ही Sizes का Advert अपनी Weblog Submit में प्लेस करें इससे आपकी CTR में बहुत सुधार होगा |

Natural Visitors to Build up Adsense CPC

Natural Visitors वह होता है जो सीधे Seek Engine से आता है | Adsense Commercials की CPC, Natural Visitors तथा Visitors Area पर भी काफी हद तक निर्भर करती है | Natural Trafic बढ़ाने के लिए आपको चाहिए कि आप अपने Weblog को Perfect Appropriate Key phrases और Lengthy-Tail Key phrases का अच्छे से प्रयोग करके Seek Engine के लिए Optimize करें | भारत के साथ साथ आप अपने Weblog से USA का Visitors जोड़ने का प्रयास भी करें क्योंकि USA जैसे Evolved देशों के ट्रैफिक से क्लिक होने पर CPC अधिक प्राप्त होती है | Natural Visitors से CTR भी काफी ज्यादा Build up होता है |

Weblog की Efficiency 

आपके ब्लॉग की परफॉरमेंस भी आपकी CTR और CPC पर प्रभाव डालती है | Web page Sluggish होने से आपके Weblog के Visitors पर भी नकारात्मक प्रभाव पड़ता है | Weblog की Efficiency Build up करने के लिए सबसे पहले तो आपको BlueHost, Hostgator जैसी एक अच्छी Hositing Carrier ढूंढनी चाहिए जिसका Server Rapid हो | अपने Weblog की velocity speedy करने के लिए Rapid और Responsive Theme चुनें और W3 Overall Cache Plugin का उपयोग करें|

एक Rapid Web page आपके ब्लॉग पर Visitors को बढाता है तथा Load-Time घटाता है | Load-Time कम होने से आपको अधिक CPC प्राप्त होती है |

Adsense Commercials का Kind और Colour

Adsense में कई Kind के Commercials उपलब्ध हैं जैसे Symbol Commercials, Textual content Commercials और Hyperlink Commercials | आपको Textual content और Symbol दोनों तरह के ऐड को अपने ब्लॉग के लिए चुनना चाहिए | साथ ही साथ आपको अपने Weblog के Colour के अनुसार Commercials का Colour भी निर्धारित करना चाहिए | उदाहरण के लिए अगर आपके Weblog का बैकग्राउंड White है तो आपके Advert का Background भी White होना चाहिए | लेकिन अगर आप चाहें तो अन्य कोई रंग भी चुन सकते हैं पर एक ही Colour चुनने से CTR और CPC Worth बढ़ती है |

Class Blocking off

Google Adsense में आप यह जान सकते हैं कि आपके Commercials की कौन से Class कम पैसा दिला रही है? जिस Class में Impressions तो अधिक होते हों किन्तु CTR और CPC Worth कम प्रदान करती है उसे आप आसानी से Block कर सकते हैं | Class Block करने से CTR और CPC पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है |

Google Seek Field जोड़ें

अपने ब्लॉग में आप गूगल सर्च बॉक्स जोड़ें | यह Seek Field आपके Weblog पर प्रदर्शित होता है और जब भी कोई Customer इसके द्वारा Seek करता है तो यह Seek effects के साथ Commercials भी दिखाता है | इन Commercials पर Click on होने की सम्भावना भी अधिक रहती है | जिससे इनका CTR अधिक होता है साथ ही साथ इन पर CPC Worth भी अधिक प्राप्त होती है |

ऊपर दी गयी Google Adsense से कमाई बढ़ाने के 6 Tactics से आप अपनी CPC और CTR को उल्लेखनीय मात्रा में बढ़ा सकते हैं | जिससे आपके Weblog से होने वाली आपकी कमाई भी बढ़ जाएगी | अगर आप अन्य कोई दूसरी Method जानते हो जो इस लेख में शामिल न की गयी हो तो उसे Remark Field में लिखें | अगर आपके मन में कोई भी सवाल हो तो उसे हमारे सामने अवश्य प्रस्तुत करें | आपके सुझावों और सवालों का हमेशा स्वागत है |

Leave a Comment