DSLR कैमरा क्या है और कैसे यूज़ करे

0
14


DSLR Digicam क्या है (What’s DSLR in Hindi)? आज मॉडर्न जमाने और फैशन के दौर में शायद ही कोई ऐसा हो जिसे फोटो खिंचवाने का शौक ना हो. मोबाइल कैमरे ने भले ही सेल्फी को बढ़ावा दिया हो लेकिन आज रॉयल फोटोग्राफी के लिए DSLR कैमरा आज भी लोगों की पहली पसंद है. शादी-फंक्शन, समारोह आदि में DSLR कैमरा ही काम में आता है.

लोगों ने DSLR कैमरा का यूज़ किया भी होगा लेकिन इसके बारे में वे अच्छे से नहीं जानते है. वे सिर्फ यह जानते है की DSLR कैमरा अच्छी फोटोग्राफी में काम आता है लेकिन वे यह नहीं जानते की यह कैमरा कैसे काम करता है. इस कैमरे के क्या-क्या फंक्शन है और कैसे यह दुसरे डिजिटल कैमरों से अलग है.

आज भले ही बहुत से नए-नए सेल्फी फ़ोन आये है लेकिन DSLR कैमरे से ली गई फोटोज में और फ़ोन के फोटो में रात-दिन का अंतर होता है. DSLR के फीचर स्मार्टफोन के कैमरे से बहुत से अलग होते है. आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की DSLR कैमरा क्या होता है, यह कैसे काम करता है और इसके फंक्शन क्या-क्या है?

DSLR कैमरा क्या है (What’s DSLR in Hindi)

DSLR Camera Kya Hai

DSLR Digicam एक डिजिटल सिंगल लैंस रिफ्लेक्स कैमरा है जो की Virtual Structure में फोटोज और विडियो Seize करता है तथा उसे इलेक्ट्रॉनिक इमेज सेंसर की मदद से रिकॉर्ड करता है. इस कैमरे में आप फोटो लेने के तुरंत बाद उसे देख सकते है, उसे डिलीट कर सकते है और उसकी जगह नया फोटो ले सकते है.

इसके लैंस भी बहुत एडवांस होते है और यह हमारे फ़िल्मी कैमरे से बहुत अलग होता है. इसके फीचर ही इसे यूनिक बनाते है. इसके लैंस और एडवांस फीचर आपको एक परफेक्ट पिक्चर लेने में मदद करते है. आईये जानते है DSLR कैमरा के पार्ट्स कैसे काम करते है?

DSLR Cameras कैसे काम करती है?

जब हम एक DSLR के viewfinder / eyepiece से देखते हैं जो की Digicam के again में स्तिथ होता है, तब हमें जो भी दृश्य सामने देखते हैं lens के माध्यम से, इसका मतलब होता है की आप वो सारी चीज़ों को seize करने वाले हैं जो की आपको नज़र आता है.

उस scene से Mild आपके digicam के lens के माध्यम से relex reflect तक आता है जप की digicam chamber के ऊपर स्तिथ होता है 45 level perspective बनाकर, जो की फिर gentle को ahead करता है vertically एक optical component को जिसे की एक “pentaprism” कहते हैं.

ये pentaprism फिर उस vertical gentle को convert करता है horizontal में जिसके लिए वो gentle को दो separate mirrors में redirect करता है सीधी viewfinder में.

जब आप एक image लेते हैं, तब reflex reflect upward swing करता है, जिससे वो vertical pathway को block करता है और gentle को अन्दर आने को permit करता है. फिर shutter opens up हो जाता है और gentle succeed in करता है symbol sensor तक.

ये shutter तब तक open रहता है जब तक की symbol sensor, report कर न ले symbol को, फिर shutter shut हो जाता है और reflex reflect drops again करता है 45 level perspective में फिर ये gentle को आने देना चालू कर देता है viewfinder में.

ये तो जायज सी बात है की, ये procedure यहाँ पर बंद नहीं हो जाता है. वैसे आगे बहुत ही sophisticated symbol processing होने लगती है digicam में. ये digicam processor knowledge को लेता है symbol sensor से, और उसे convert करता है एक suitable structure में, फिर उसे एक reminiscence card में write करता है.

ये पूरी procedure को होने में बहुत ही कम समय लगता है और कुछ skilled DSLRs तो इस काम से भी ज्यादा और भी चीज़ों को 1 2d के भीतर करीब 11 गुना अधिक कर सकते हैं.

ये केवल एक आसान भाषा में मैंने आप लोगों को DSLR कैसे काम करता है के विषय में जानकारी प्रदान करी है.

DSLR कैमरे के Portions कौन-कौन से है?

dslr camera kaise use kare

  • Lens
  • Reflex Replicate
  • Symbol Sensor
  • Condenser Lens
  • Eyepiece / View Finder
  • Shutter
  • Focusing Display screen
  • Pentaprism

DSLR Digicam से फोटो कैसे खिचे यह तो सभी को पता होगा, पर क्या आपको इसके सारे पार्ट्स कैसे काम करता है पता है? अगर नहीं तो चलिए जानते है.

1. Lens

DSLR कैमरे में कुल तीन लेंस होते है. सबसे पहला “स्टैण्डर्ड लेंस” जो की अब यूज़ नहीं किये जाते. इन लेंसेज का इस्तेमाल फिल्म कैमरे में किया जाता था जो की 50MM रेंज की होती थी. इन लेंस को स्टैण्डर्ड लेंस इसलिए कहते थे क्योंकि यह पहले कैमरे के साथ आते थे और आप इनमे कोई Adjustment नहीं कर सकते थे.

उसके बाद आया “किट लेंस” जो की अब DSLR कैमरे में यूज़ होते है. इन लेंस को रोज की शूटिंग के लिए डिजाईन किया गया था ताकि लोग day by day foundation पर इससे फोटो क्लिक कर सके. तीसरा लेंस है “प्राइम लेंस” इनमे Focal Duration mounted होता है, इसलिए इन्हें Fastened Lens भी कहा जाता है.

साथ में इसमें zoom in या zoom out की कोई भी possibility नहीं होती है. High lenses बहुत ही sharper होते हैं zoom lenses की तुलना में. ऐसा इसलिए क्यूंकि उनके पास further glass अन्दर में नहीं होता है zoom (in या out) करने के लिए. इससे ये बेहतर high quality की Images प्रदान करती है कम diffraction के होने से.

2. Reflex Replicate

कैमरे का वो भाग जहां पर किसी इमेज की Reflex दिखाई देती है. यह कैमरे का बहुत ही महत्वपूर्ण भाग है. यह मिरर लेंस के ठीक पीछे लगा होता है जिससे लेंस से आने वाली लाइट इसपे पड़ती है और यह उसे एब्जार्व कर लेती है.

3. Shutter

यह पार्ट हर तरह के कैमरे में होता है. इसका काम कैमरे में जा रही लाइट को कण्ट्रोल करना होता है. शतर जितना जल्दी बंद होगा उतना ही कम लाइट इमेज को मिलेगा और शटर जितना स्लो बंद होगा उतना ही ज्यादा लाइट इमेज को मिलेगा. ज्यादा लाइट से फोटो ज्यादा Shiny दिखती है और कम लाइट से फोटो Darkish दिखती है.

आपको इन दोनों के बीच का कॉम्बिनेशन यूज़ करना होता है ताकि फोटो परफेक्ट और अच्छे से आ सके.

4. Symbol Sensor

शटर जब एक बार बंद हो जाता है तो इमेज सेंसर उस इमेज को कैप्चर कर लेता है. जितना सेंसर बड़ा होगा उतनी ही डिटेल में फोटो आएगी. इमेज सेंसरो अगर छोटा होगा तो इमेज छोटी आएगी और दिखने में भी Transparent नहीं आएगी.

DSLR जैसे कैमरे में बहुत बड़े सेंसर का यूज़ होता है जिसके कारण आपको एक बहुत ही अच्छी और परफेक्ट इमेज मिलती है.

5. Focusing Digicam

यह DSLR कैमरे का बहुत ही महत्वपूर्ण भाग है. यह आपको फोटो का Preview दिखा सकता है की आप किस चीज की फोटो लेने जा रहे है. इसमें आप सामने दिख रही इमेज को View Finder में देख सकते है की इमेज सही से आ रही हा या नहीं.

6. Condenser Lens

इसमें 2 Convex लेंस होते है और इन लेंसेज को डिजाईन करने का मतलब सिर्फ इतना है की जो लाइट लेंस पर पड़े वो सीधी रहे और एक पाथ पर चले.

7. Pentaprism

यह पांच कोनो वाला एक Reflecting Prism होता है जो किसी भी लाइट को 90 डिग्री पर मोड़ देता है चाहे वो लाइट 90 डीग्री के Prism में आई हो या नहीं. ऐसा करने से लाइट इमेज पर सीधी पड़ती है और फोटो Transparent आती है.

8. Eyepiece / View Finder

कैमरे का वो भाग जहां से आप इमेज को देखते है वह View Finder होता है. यह एक LED ग्लास जैसा होता है जिसमे आप जो फोटो लेने जा रहे है उसे देख सकते है. View Finder की मदद से फोटो पर अच्छे से फोकस सेट किया जा सकता है.

Cell Digicam और DSLR कैमरा में क्या अंतर है?

मोबाइल के कैमरे और DSLR के कैमरे में वही अंतर है जो की एक प्रोफेशन और अनप्रोफेशनल चीज में होता है. DSLR में इमेज सेंसर बहुत बड़ा होता है जबकि मोबाइल के कैमरे में यह बहुत छोटा होता है. जितना बड़ा सेंसर होता है उतनी ही अच्छी पिक्चर आती है.

ज्यादा मेगापिक्सेल का कैमरा होने से कुछ नहीं होता फोटो की क्वालिटी उसके सेंसर पर Rely करती है. फोटो के मामले में DSLR कैमरा बहुत ही जबरदस्त है.

DSLR में Focal point बहुत ही शानदार तरीके से किया जा सकता है Cell Digicam के तुलना में. इसके अलवा DSLR की battery lifestyles भी बहुत ज्यादा होती है Cell Digicam की तुलना में.

Conclusion

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख DSLR कैमरा क्या है (What’s DSLR in Hindi) जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को DSLR Digicam कैसे यूज़ करे के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे websites या web में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है.

इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी knowledge भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच feedback लिख सकते हैं.

यदि आपको यह submit DSLR क्या होता है हिंदी में पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Fb, Twitter इत्यादि पर proportion कीजिये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here