स्टोरेज डिवाइस के प्रकार – Sorts of Garage Gadgets in Hindi

[ad_1]

बहुत बार ये सवाल आपने किसी aggressive परीक्षा में ज़रूर देखा होगा की कंप्यूटर स्टोरेज डिवाइस के प्रकार या टाइप्स क्या क्या हैं? यदि आपको भी इनके विषय में सम्पूर्ण जानकारी चाहिए तब आपको यह आर्टिकल Laptop Garage Tool Sorts in Hindi पूर्ण ढंग से पढ़ना होगा.

तो फिर बिना देरी किए चलिए सभी कम्प्यूटर Garage Tool के प्रकारों के बारे में जानते हैं.

कंप्यूटर स्टोरेज डिवाइस के प्रकार

वैसे तो Laptop Garage Tool के बहुत से अलग अलग प्रकार महजूद हैं, लेकिन यहाँ हम उन सभी प्रकारों को कुछ ऐसे तरीक़े से बाँटेंगे जिससे की हमें उन्हें समझने और याद रखने में आसानी हो.

storage device ke prakar

इसलिए हम इन garage डिवाइस को पाँच हिस्सों में विभाजित करेंगे. जिनके विषय में नीचे आपको जानकारी प्राप्त होगी. आपकी जानकारी के लिए बता दूँ की इन garage डिवाइस का इस्तमाल कम्प्यूटर डेटा को स्टोर करने के लिए होता है.

1. Magnetic Garage Tool

सबसे पहला जो Garage Tool आता है वो है magnetic garage units. इन डिवाइस का आज के समय में सबसे ज़्यादा उपयोग किया जाता है. ऐसा इसलिए क्यूँकि वो बहुत ही सस्ते होते हैं और साथ में आसानी से get entry to किए जा सकते हैं.

इसके अलावा इसमें काफ़ी बड़ी मात्रा की डेटा को भी स्टोर किया जा सकता है.

जब ये Magnetic Garage Gadgets को कम्प्यूटर के साथ जोड़ा जाता है, तब एक magnetic box उत्पन्न होता है वो भी दो magnetic polarities की मदद से. वहीं ये डिवाइस आसानी से binary language पढ़ सकता है और साथ में इन्फ़र्मेशन को स्टोर भी कर सकता है.

मैग्नेटिक स्टोरेज डिवाइस के उदाहरण

चलिए अब कुछ magnetic garage units के उदाहरणों के बारे में जानते हैं.

Floppy Disk – इन्हें floppy diskette भी कहा जाता है. यह एक detachable garage software होता है यानि की इसे आसानी से निकाला और लगाया जा सकता है. वहीं इसका आकार एक sq. के तरह होता है जिसमें की कुछ magnetic parts होते हैं.

इसे जब कम्प्यूटर के disk reader में स्थापित किया जाता है, तब ये घूमता है और इसमें डेटा स्टोर किया जाता है. इसे अब इस्तमाल में नहीं लाया जाता है, लेकिन इसके जगह में CDs, DVDs और USB drives का उपयोग किया जाता है.

Arduous Pressure – Arduous Pressure एक ऐसा number one garage software होता है जिसे सीधी तोर से motherboard के disk controller के साथ जोड़ा गया होता है. यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण cupboard space होता है क्यूँकि इसका इस्तमाल किसी भी नए program या utility को डिवाइस में set up करने के लिए किया जाता है.

फिर चाहे वो कोई Tool techniques, pictures, movies, या कोई दूसरा क्यूँ ना हो. काफ़ी ज़्यादा मात्रा में डेटा को exhausting power में स्टोर किया जा सकता है.

Zip Disk – Zip Disk एक ऐसी detachable garage software है जिसे की Iomega द्वारा शुरू किया गया था. इसके शुरूवती दौर में ये केवल 100 MB तक का ही डेटा स्टोर कर पाता था. वहीं लेकिन बाद में ये क़रीब 750 MB तक डेटा स्टोर कर पाता है.

Magnetic Strip – ये magnetic strip उन डिवाइस के साथ जुड़े हुए होते हैं जिनमें की virtual information महजूद होता है. इसका सबसे बढ़िया उदाहरण है आपका ATM debit card, जिसके पीछे में जो स्ट्रिप लगा होता है वो virtual information स्टोर करती है.

2. Optical Garage Tool

Optical Garage Gadgets उन units को कहा जाता है जो की lasers और lighting fixtures का इस्तमाल करते हैं डेटा को discover और retailer करने के लिए. ये काफ़ी ज़्यादा सस्ते होते हैं USB drives की तुलना में, वहीं उनके मुक़ाबले ज़्यादा डेटा भी स्टोर करने में सक्षम होते हैं.

ऑप्टिकल स्टोरेज डिवाइस के उदाहरण

चलिए अब कुछ optical garage units के उदाहरणों के बारे में जानते हैं.

CD-ROM – CD-ROM का फ़ुल फ़ोरम होता है Compact Disc. यह एक Learn-Simplest Reminiscence होने के साथ साथ एक exterior software होता है जो की डेटा को learn और retailer कर सकता है audio या instrument information के रूप में. एक CD-ROM क़रीब 650MB या 700MB तक की information स्टोर कर सकता है.

Blu-Ray Disc – Blu-ray Disc, या जिसे केवल Blu-ray के नाम से भी जाना जाता है. यह एक virtual optical disc garage structure होता है. इसे ख़ास तोर से DVD structure को supersede (उससे बेहतर बनने) के लिए डिज़ाइन किया गया था. वहीं ये कई घंटों की high-definition video को स्टोर करने में सक्षम होती है.

DVD – DVD का फ़ुल फ़ोरम होता है Virtual Flexible Disc. यह एक अलग प्रकार की optical garage software होती है.

वहीं इसे आप readable, recordable, और rewritable के तोर पर भी इस्तमाल कर सकते हैं. इन डिवाइस में Recordings कर उसे बाहर दूसरे सिस्टम पर भी जोड़ कर इस्तमाल किया जा सकता है.

CD-R – CD एक readable Compact Disc होती है जो की photosensitive natural dye का इस्तमाल करती है डेटा को document और retailer करने के लिए. इसे आप एक low cost substitute मान सकते हैं instrument और packages को स्टोर करने के लिए.

DVD-R, DVD+R, DVD-RW और DVD+RW disc – DVD-R और DVD+R recordable discs होते है जिन्हें की केवल एक बार लिखा जाता है, वहीं DVD-RW और DVD+RW को rewritable discs भी कहा जाता है यानी की इन पर एक से ज़्यादा बार लिखा जा सकता है.

+ और – में जो मुख्य अंतर है वो इसके formatting और compatibility में होती है.

3. Flash Reminiscence Garage Tool

Flash Reminiscence Garage Gadgets ने अभी के समय में दोनों magnetic और optical garage units का स्थान ले लिया है. ये बहुत ही आसान होते है इस्तमाल करने के लिए, moveable होते हैं साथ में इन्हें कहीं और कभी भी उपलब्ध करवाया जा सकता है.

ये काफ़ी ज़्यादा सस्ते और ज़्यादा सुविधाजनक होते हैं डेटा स्टोर करने के लिए.

फ्लैश मेमोरी स्टोरेज डिवाइस के उदाहरण

चलिए अब कुछ Flash Reminiscence garage units के उदाहरणों के बारे में जानते हैं जिन्हें लोगों द्वारा ज़्यादा इस्तमाल किया जाता है.

USB Pressure – USB ड्राइव को pen power भी कहा जाता है. ये garage software बहुत ही छोटे होते हैं आकार में वहीं लेकिन इनमें काफ़ी बड़ी मात्रा में डेटा को स्टोर करने की खाशियत होती है.

इनमें एक built-in circuit महजूद होती है जो की इसे permit करती है डेटा को retailer और change करने के लिए.

Reminiscence Card – इन मेमोरी कार्ड का उपयोग अक्सर छोटे digital और computerised units जैसे की cell phones या virtual digicam में होता है. इन reminiscence card का इस्तमाल pictures, movies और audios डेटा को स्टोर करने के लिए किया जाता है. ये काफ़ी ज़्यादा appropriate होते हैं, साथ में इनके आकार भी काफ़ी छोटे होते हैं.

Reminiscence Stick – इन Reminiscence स्टिक को Initially Sony कम्पनी द्वारा लॉंच किया गया था. मेमोरी स्टिक अधिक डेटा स्टोर कर सकती है और इस स्टोरेज डिवाइस का उपयोग करके डेटा ट्रांसफर करना आसान और त्वरित है.

समय के साथ साथ, इन Reminiscence Stick के अलग अलग वर्ज़न भी तैयार होने लगे.

SD Card – SD Card का फ़ुल फ़ोरम होता है Safe Virtual Card. इन कार्ड का इस्तमाल अलग अलग digital units में होता है डेटा को स्टोर करने के लिए. वहीं ये SD Card उपलब्ध होते हैं mini और micro sizes में भी.

आम तोर से देखा जाए तो, computer systems में एक अलग ही slot महजूद होती है एक SD card को insert करने के लिए. वहीं यदि किसी डिवाइस में ऐसी स्लॉट महजूद नहीं हो तब, ऐसे में कुछ USB रीडर भी महजूद होते हैं जिसमें की इन SD Card को इन्सर्ट कर फिर बाद में कम्प्यूटर के साथ जोड़ कर इस्तमाल किया जा सकता है.

SSD – SSD का फ़ुल फ़ोरम होता है Forged State Pressure. यह एक flash reminiscence software होता है जो की built-in circuit assemblies का इस्तमाल करता है डेटा को save करने के लिए.

4. On-line and Cloud Garage Tool

आज के दौर में Cloud Garage Gadgets की चाहत काफ़ी ज़्यादा है क्यूँकि आज सभी को घर बैठे ही सब कुछ चाहिए. ऐसे में On-line और Cloud Garage Gadgets ऐसा कर पाने में पूर्ण सक्षम नज़र आती है. क्यूँकि इन्हें कोई भी कहीं से भी ऐक्सेस कर सकते हैं.

क्लाउड स्टोरेज डिवाइस के उदाहरण

चलिए अब कुछ Cloud garage units के उदाहरणों के बारे में जानते हैं.

Cloud garage – इसमें Information को arrange किया जाता है remotely और साथ में इसे उपलब्ध करवाया जाता है एक community के माध्यम से. इसके Fundamental options को तो आप मुफ़्त में इस्तमाल कर सकते हो लेकिन यदि आपकी खपत की सीमा बढ़ती है तब आपको इसके लिए ज़्यादा पैसों का भुक्तान करना पड़ सकता है.

Community media – Audio, Video, Photographs या Textual content इन सभी को एक कम्प्यूटर नेट्वर्क में इस्तमाल किया जाता है. इसमें लोगों का एक समूह कुछ कांटेंट को ऑनलाइन बनाते हैं और एक दूसरे के साथ percentage भी करते हैं.

5. Paper Garage Tool

इन Paper Garage Gadgets का इस्तमाल पहले जमाने में हुआ करता था वो भी data को सेव करने के लिए.

पेपर स्टोरेज डिवाइस के उदाहरण

चलिए अब कुछ Paper garage units के उदाहरणों के बारे में जानते हैं.

OMR – OMR का फ़ुल फ़ोरम होता है Optical Mark Reputation. यह एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें की इंसानों द्वारा किए गए marked information को seize किया जाता है. उदाहरण के लिए surveys और exams. वहीं इसका उपयोग प्रश्नावली को कई विकल्पों के साथ पढ़ने के लिए किया जाता है जिन्हें छायांकित किया जाता है.

Punch Card – यह एक शक्त पेपर का हिस्सा होता है जिसका इस्तमाल virtual data को स्टोर करने के लिए होता है जो की perforated holes से आ रहे होते हैं. पूर्व निर्धारित पदों में छिद्रों की उपस्थिति या अनुपस्थिति डेटा को परिभाषित करती है.

आज आपने क्या सीखा

मुझे उम्मीद है की आपको ये लेख पसंद आये और आपको ये भी समझ में आ गया होगा की स्टोरेज डिवाइस के प्रकार. हमने Laptop Garage Tool के अलग अलग प्रकार और उन्हें उदाहरण के विषय में जाना.

इस लेख से जुड़े कोई भी सवाल हो तो आप निचे remark कर पूछ सकते हैं मुझे आपकी सहायता करने में बहुत खुशी होगी.

Leave a Comment