सॉफ्टवेयर क्या है और कैसे बनाते है

[ad_1]

सॉफ्टवेयर क्या है, ये शायद आपको बताने की कोई भी जरुरत नहीं; क्यूँकी जो कोई smartphone या laptop इस्तमाल करते है, वो इस शब्द से पहले ही वाकिफ हैं. कुछ वर्षों पहले की बात है जब मानव कंप्यूटर से वाकिफ हुआ, उस समय शायद आप छोटे बच्चे होंगे.

किंतु कंप्यूटर के आने के बाद हमारी जिंदगी पूरी तरह से बदल गई. हम इतने आलसी हो गए हैं की हम प्रत्येक कार्य कंप्यूटर या फिर Cell के द्वारा ज्यादा कर रहे हैं. इसमें हमारी कोई गलती नहीं हैं क्यूंकि इसी Laptop से हमारी ज़िदगी आसान बन गई है.

वैसे एक Laptop को देखा जाये तो ये बस एक digital instrument ही होता है जो की बहुत से operations एक साथ carry out कर सकता है. उदाहरण के तोर पर, ये बहुत से computation वो भी बहुत ही ज्यादा pace में, जिसे शायद ही कोई strange device या हमारी इंसानी दिमाग कभी कर पाए.

ये बहुत से bodily और मूर्त घटक (tangible parts) से बनी हुई होती है जिसे की हम contact और really feel कर सकते हैं, इन्हें {Hardware} कहा जाता है और ऐसे techniques और instructions जो की इन hardwares को force (चलाती) करती है, उन्हें Device कहा जाता है.

आज आप मेरा जो ये लेख पढ़ रहे हैं वह भी एक सॉफ्टवेयर से पढ़ रहे है, जिसका नाम है Internet Browser जो एक Software Device है. जैसे हमारे शरीर में हात, पावों, नाक, कान, आंखे हैं इसके साथ दया, माया, प्यार, देर्द भी हमारे अंदर हैं.

वैसे ही Laptop दो चीजों से बना है एक {Hardware} और दूसरा Device. हाथ, पावों, नाक, कान, आंखे हमारें शारीर के {Hardware} हैं जिन्हें हम हाथ लगा सकते हैं. वहीँ दया, माया, प्यार, दर्द ये सब हमारे शारीर के Device हैं जिन्हें हम हाथ लगा नहीं सकते हैं.

आज के समय में जितने भी Virtual gadgets है जैसे Cell, desktop, tab, computer, oven इन सभी में सॉफ्टवेयर Program है. तो चलिए जानते है के सॉफ्टवेयर किसे कहते हैं और ये कितने प्रकार के होते है.

सॉफ्टवेयर किसे कहते हैं – What’s Device in Hindi

Software Kya Hai in Hindi

Device बहुत सारे Methods का Assortment है जो एक Laptop के विशिष्ट कार्य (Process) को निष्पादन करता है.

हम अपने Laptop में जितने भी Process करते हैं वो सभी इस instrument के माध्यम से ही संपन होते हैं. Device उन set of directions को refer किया जाता है जिन्हें की fed किया जाता है techniques के shape में, ताकि वो पुरे laptop device को govern कर सके और साथ में दुसरे {hardware} parts को procedure भी कर सकें.

ये वो instructions होते हैं जो की {hardware} को force करते हैं. MS-WORD जिसमे हम कुछ TYPE करते है. Photoshop जिसमे हम pictures को edit करते हैं. Chrome जिसे Web Get admission to करते हैं, जिसे Browser भी कहते हैं.

Device के उदहारण हैं Google Chrome, Photoshop, MS-WORD, VLC Participant, UC Browser इत्यादि.

सॉफ्टवेयर की परिभाषा

सॉफ़्ट्वेर या जिसे हाँ कम्प्यूटर सॉफ़्ट्वेर भी कहते हैं वो असल में एक कुछ प्रोग्राम होते हैं जो की यूज़र को सक्षम बनाते हैं कुछ कुछ विशेष कार्य करने के लिए। ये असल में कम्प्यूटर सिस्टम को या उसके peripheral gadgets को निर्देशित करती है कुछ कार्य करने के लिए और साथ में उस कार्य को कैसे करना है वो भी बताती है। 

सच में एक instrument बहुत ही बड़ी और मुख्य भूमिका निर्वाह करता है एक यूज़र और कम्प्यूटर हार्डवेर के बीच में। सॉफ़्ट्वेर के बिना महजूदगी में एक यूज़र चाहकर भी किसी भी प्रकार का काम कम्प्यूटर पर नहीं कर सकता है। 

सॉफ्टवेयर कौन बनाते हैं ?

सॉफ़्ट्वेर को मुख्य रूप से सॉफ़्ट्वेर डिवेलपर बनाते हैं। ये सॉफ़्ट्वेर डिवेलपर जिस कम्पनी में काम करते हैं उसे instrument product building corporate कहा जाता है। यहाँ यूज़र के ज़रूरत के हिसाब से सॉफ़्ट्वेर तैयार किया जाता है।

Softwares को हम क्यूँ देख या छु नहीं सकते हैं?

Softwares को हम अपनी आंखों से न तो देख सकते हैं और ना ही इसे अपने हाथों सेछु सकते हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि इसका कोई भौतिक अस्तित्व नहीं होता हैं. यह एक आभासी वस्तु हैं जिसे केवल समझा जा सकता हैं.

हम कभी भी सॉफ्टवेयर Software के बिना अपने Laptop और Cell को चला ही नहीं सकते हैं.

     Device                        Examples
Antivirus AVG, Housecall, McAfee, Norton
Audio / Tune program iTunes, WinAmp
Database Get admission to MySQL SQL
Instrument drivers Laptop drivers
E mail Outlook, Thunderbird
Sport Madden, NFL Soccer, Quake, International of Warcraft
Web browser Firefox, Google Chrome, Web Explorer
Film participant VLC, Home windows Media Participant
Running device Android, iOS, Linux, macOS, Home windows
Photograph / Graphics program Adobe PhotoShop, CorelDRAW
Presentation PowerPoint
Programming language C++, HTML, Java, Perl, Visible Fundamental (VB)
Simulation Flight simulator SimCity
Spreadsheet MS Excel
Application Compression, Disk Cleanup, Encryption, Registry cleaner, Screensaver
Phrase processor MS Phrase

Device Definition in Hindi

Directions या Methods के Assortment को सॉफ्टवेयर कहते हैं, यह Methods Laptop को Customers के इस्तमाल योग्य बनाते हैं.

जैसे Running Machine, सबसे पहले Android OS (Running Machine) Device को Cell/Laptop में Set up किया जाता है, उसके बाद ही आप इसे इस्तमाल करते हैं. अब सवाल आता है यह Methods और Instruction क्या है. इसे पहले आपको Programming Language का ज्ञान होना अति आवश्यक है.

Programming Language क्या है?

Programming Language की बात करें तब यह एक ऐसी भाषा या language होती है जिसके द्वारा की Laptop Device और Software बनाया जाता है. इसमें बहुत सारे Key phrases, Purposes और Laws रहते हैं. इन Laws के जरिये हम ऐसे Methods लिखते हैं, जिन Methods को Laptop समझता है और कुछ निर्देशित Process Carry out करता है.

या यह भी कह सकते हैं Programming Language को इस्तमाल करके Device बनाया जाता है.

उदाहरण के लिए C, C++, JAVA, PHP,My SQL, .NET, COBOL और FOXPRO ये सब एक एक Programming Language के नाम हैं.

आप Play retailer में जितने भी Software और Web में जितने भी Device देख रहे हैं, वो सभी इन Programming Languages के द्वारा Expand किए जाते हैं. इनसे ही हम Methods लिखते हैं.

Methods और Instruction क्या होते हैं ?

कई सारे Directions को मिलाके एक Program बनता है. ये सभी Methods को लिखने के लिए Programming Language का इस्तमाल होता है. शायद आप पढ़े भी होंगे अपने Faculty में की “Write a Program to Test whether or not the Quantity is Top or Now not”. यह एक प्रोग्राम का उदहारण है.

Computer systems में आप जरुर देखे होंगे Calculator होता है. जिसमे आप Addition, Subtraction, Multiplication और Department कर सकते हैं.

अब यहाँ पर Calculator एक Device है, वहीँ इसमें स्तिथ Addition के लिए अलग Program, Subtraction के लिए अलग Program, ऐसे ही Multiplication और Department के लिए अलग से Program लिखे जाते हैं. इन चारों Methods जब एक ही जगह जोडे दते है तब एक बड़ा Program बन जाता है, जिसे Device कहते हैं.

Instruction किसे कहते हैं?

एक Program में four से five line का code रहता है. जो एक instrument का छोटा सा काम करता है. जिसे Instruction कहते हैं. Instruction में प्रत्येक Line को Command कहते हैं. अब सीखते हैं यह Device कितने प्रकार के होते हैं.

Programmer किसे कहते हैं?

Programmer उन्हें कहा जाता है जो की Methods लिखते हैं. वहीँ उनके पास Programming ability होती है. जिन्हें की वो जरुरत के हिसाब से इस्तमाल करते हैं.

एक Device Corporate बहुत सारे Programmers को नौकरी पे रखती है. जो इनके लिए काम करते हैं. प्रोग्रामर को एक Device का छोटा सा हिसा मिलता है और उसके उपर वो करीबन 6 महीने या 1 साल तक काम करता है. Corporate Device बनाने के लिए करोड़ों की Deal करती है. जिसमे से कुछ हिसा Programmers को wage के रूप में मिलती है.

कौन सा सिस्टम सॉफ्टवेयर है?

यदि आप ये जानना चाहते हैं की कौन सी चीज़ सिस्टम सॉफ्टवेयर कहलाती है तब वो है Running device(OS), BIOS, instrument firmware इत्यादि.

सिस्टम सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर में क्या अंतर है?

सिस्टम सॉफ्टवेयर ऐसी सॉफ्टवेयर होती है जो की एक interface के रूप में कार्य करती है एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर और device के बीच. वहीं एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर ऐसी सॉफ्टवेयर होती है जो की यूज़र के रिक्वेस्ट के अनुसार कार्य करती है. यह एक ऐसी प्लाट्फ़ोर्म पर run करती है जिसे की सिस्टम सॉफ्टवेयर द्वारा प्रदान किया गया होता है.

मोबाइल सॉफ्टवेयर कैसे मारते हैं?

मोबाइल सॉफ्टवेयर को uninstall कर मारा जाता है. यहाँ मारा जाना का मतलब होता है मोबाइल से उसे दूर करना.

मोबाइल में सॉफ्टवेयर मारने से क्या होता है?

मोबाइल में सॉफ्टवेयर मारने से आप उस सॉफ्टवेयर को हमेशा के लिए अपने मोबाइल से दूर कर देते हैं। यदि कोई सॉफ़्ट्वेर आपकी और ज़रूरत नहीं होती है, या किसी कारणवस वो नोर्मल मोबाइल के फ़ंक्शन में दिक़्क़त पैदा करती है तब उसे uninstall या मार दिया जाता है.

सॉफ्टवेयर का रखरखाव कैसे करते है?

सॉफ्टवेयर का रखरखाव ऐन आपको उसकी फंक्शनेलिटी को जाँचना होता है. साथ में उस सॉफ्टवेयर को नियमित रूप से अपडेट करना होता है, चूँकि ऑनलाइन दुनिया में हैकर्स की कमी नहीं है इसलिए इन्हें उनसे भी बचाव किया जाता है, साथ में यदि वो सॉफ्टवेयर किसी प्रकार की कोई एरर फिक्शिंग करे तब उसे ठीक करने में दूसरे ड्राइवर या instrument का उपयोग भी किया जाता है.

क्या मैं फ्री सॉफ्टवेयर डाउनलोड कर सकता हूँ?

जी आप फ्री में बहुत से सॉफ्टवेयर डाउनलोड कर सकते हैं. आपको इंटर्नेट पर ऐसे बहुत से फ़्री सॉफ़्ट्वेर डाउनलोड साइट मिल जाएँगी जहां से आप मुफ़्त की सॉफ्टवेयर डाउनलोड कर सकते हैं.

कम्प्यूटर सॉफ़्टवेयर कहां मिलते है?

कम्प्यूटर सॉफ़्टवेयर आपको ऑनलाइन या ऑफ़्लाइन भी मिल सकते हैं. ऑनलाइन में आपको उनकी अफ़िशल साइट या कुछ दूसरे डाउनलोड साइट पर मिल जाएँगी। वहीं ऑफ़्लाइन में आपको कम्प्यूटर के दुकान पर आसानी से कोई भी सॉफ़्ट्वेर मिल जाएँगी.

आज आपने क्या सीखा?

हमेसा से मेरी कोसिस रहती है की आपको सही और सठिक और पूर्ण Knowledge आपको मिले. आप आज शायद ये सब सीखे सॉफ्टवेयर क्या है (What’s Device in Hindi) और इसके प्रकार. सच कहूँ तो हम Device से घिरे हुए हैं. क्यूंकि इन्होने हमारी जिंदगी आसान और सरल बनादी.

कभी आप ने एसा सोचा है आपका मोबाइल बिना APPS के किस काम का होगा. प्रत्येक कार्य के लिए आप Device का इस्तमाल कर रहे हैं. कोसिस करने वालों की कभी हार नहीं होती

आपसे यही उमीद है ये लेख सॉफ्टवेयर का अर्थ आपको पसंद आया होगा, कैसा लगा आप जरुर निचे बताइए. अगर अभी बी कोई सवाल आप पूछना चाहते हो तो निचे Remark Field में जरुर लिखे. कोई सुझाव या सलाह देना चाहते हो तो जरुर दीजिये जो हमारे लिए काफी उपयोगी हो.

हमारे Weblog को अभी तक अगर आप Subscribe नहीं किये हैं तो जरुर Subscribe करें आपको हनारी जानकरी आपको सबसे पहले मिले. मस्त रहें और खुस रहें. चलो बनायें Virtual India जय हिंद, जय भारत, धन्यबाद.

Leave a Comment