सॉफ्टवेयर अपडेट करने से क्या होता है और इसका तरीका

[ad_1]

सॉफ्टवेयर अपडेट करने से क्या होता है? चाहे आप एक SmartPhone की बात कर लें या Pc Desktop की, सभी Digital Gadgets में जिनमें Working Gadget का इस्तमाल हुआ है और जो की Web के साथ जुड़ा हुआ होता है, उन सबमें Instrument Replace या Software Replace का notification जरुर से आता है.

यह Notification बहुतों को worsen भी करता है और कई तो इसे forget about ही कर देते हैं. लेकिन मेरी मानें तो ऐसा करना बिलकुल भी सही नहीं है. Corporations के द्वारा भेजी गयी ये सभी Updates आपके Telephones और Hardwares के लिए बहुत ही जरुरी होते हैं.

जैसे हमें समय समय पर नए कपड़ों की जरुरत होती है ठीक ऐसे ही किसी भी Software या Working Gadget को सुचारू रूप से चले के लिए Instrument Replace की जरुरत होती है.

वैसे एक Instrument Replace में ऐसे बहुत से चीज़ें होती है जिन्हें आपको पहले समझने की जरुरत हैं. बहुत से Customers को Instrument Replace करने पर क्या होता है उसकी थोड़ी भी जानकरी नहीं है. ऐसे में यदि Customers को Instrument Replace करने से क्या होता है के विषय में पूर्ण जानकारी हो जाये तो वो कभी भी Replace Notifications को forget about नहीं करेंगे.

और ये उनके devies के Safety और sturdiness के लिए बाद में बहुत अच्छा सिद्ध होगा. इसलिए आज मैंने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को Instrument Replace और उससे होने वाले advantages के विषय में जानकारी प्रदान करूँ.

इससे आपको Updates को Set up करें पर हो रहे benefits की वास्तविकता का आभास होगा. तो बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं और सॉफ्टवेयर अपडेट करने की विधि हिंदी में जानने की कोशिश करते हैं.

अपडेट क्या होता है

Instrument Replace को Replace भी कहा जाता है. ये Replace का मतलब होता है ऐसे छोटे छोटे codes जिन्हें builders के द्वारा लिखा जाता है. ये codes को आप fixes भी समझ सकते हैं. किसी भी device को expand करने पर उसे check करने की जरुरत होती है, ऐसे में बहुत से exams के बाद भी कुछ insects (mistakes) device में रह जाती है.

ऐसे में अगर उन insects को ठीक नहीं किया गया तब consumer को उस device के इस्तमाल में परेशानी हो सकती है.

इसलिए Builders ऐसे छोटे छोटे या बड़े fixes तैयार करते हैं और उन्हें Instrument के मुख्य server में replace किया जाता है और उन updates को पाने के लिए customers को भी उन्हें obtain कर set up करना होता है. ऐसा करने पर Customers या Instrument Builders के द्वारा पाई गयी mistakes और insects को repair किया जाता है.

सॉफ्टवेयर अपडेट करने से क्या होता है

software update karne se kya hota hai

Instrument Replace करने से Customers को सभी newest updates अपने gadgets में प्राप्त होते हैं. इसके अलावा भी और बहुत से चीज़ें भी होते हैं जिनके विषय में हम आगे जानेंगे.

1.  Gadgets में स्तिथ सभी एप्लीकेशन Error ठीक हो जाता है

अक्सर Andorid Gadgets में Software Error या insects होते हैं जो की Software को ठीक तरीके से run करने में तकलीफ पैदा करते हैं. लेकिन एक सॉफ्टवेयर अपडेट से ये सभी चीज़ें ठीक हो जाती है. इन्ही प्रकार के insects को repair करने के लिए समय समय पर Instrument Replace की काफी जरुरत होती है.

2 .  नए Options Upload हो जाते हैं

यदि कोई corporate कुछ नए options अपने Software में या Working Gadget में लाती हैं तब Instrument को replace करने से हमें भी वो नए options हमारे gadgets में प्राप्त हो जाते हैं.

3. जितनी भी खामियां चाहे वो Insects हो या Mistakes सब Repair हो जाते हैं

नए device या एप्लिकेशन में अक्सर आपको mistakes या insects देखने को मिल सकते हैं. वहीँ builders उस insects को फिक्स करने के लिए नए updates के माध्यम से repair भेजते हैं. इससे अगर consumer device replace कर लेते हैं तब उनके सभी insects repair हो जाते हैं.

4 . फोन या एप्लीकेशन की उपयोगिता काफी बढ़ जाती है

अक्सर नए udpates के साथ नए options को देखा गया है, ऐसे में नए updates से Telephone या utility की उपयोगिता काफी बढ़ जाती है. वो ज्यादा consumer pleasant बन जाते हैं. बहुत बार तो Person Interface भी काफी आकर्षक और उपयोगी बन जाता है.

5 .  Instrument की Safety बेहतर हो जाती है

अक्सर hackers और crakers ऐसे malicious device बनाते हैं जो की customers की on-line safety पर काफी बड़ा सवाल बनाते हैं. ये Softwares इतने ज्यादा खतरनाक होते हैं की customers को ये पता भी नहीं चलता की कब वो आपके सभी information को चुराकर ले जाएँ, ऐसे में साॅफ्टवेयर अपडेट करने से आपका Telephones या कोई दूसरा gadgets एकदम से ऐसे softwares से protected हो जाता है. क्यूंकि builders ऐसे सभी loopholes को बंद कर देते हैं जिनका इस्तमाल कर hackers आपके device को हानि पहुंचा सके,

6 .  Working Gadget या एप्लीकेशन की Pace काफी बढ़ जाती है

सॉफ्टवेयर अपडेट करने से आपका मेह्जुदा Working Gadget और Software की running velocity काफी बढ़ जाती है. पहले जो भी lag हुआ करते होंगे वो सभी repair हो जाते हैं. इससे Person Revel in काफी बाद जाता है.

7 .  Working Gadget ज्यादा suitable बनता है

Gadgets में {Hardware} और Softwares का तालमेल होना बहुत ही जरुरी होती है. यदि {hardware} के साथ device suitable नहीं हुआ तब Customers को तकलीफ आ सकती है.

जैसे जैसे Hardwares में upgradation आ रही है वैसे में अगर उसके साथ Instrument में भी बदलाव नहीं किया गया तब Working Gadget में compaibility error दिखा सकता है. इसलिए इस परेशानी को दूर करने के लिए device को replace जरुर करना चाहिए.

Instrument को नियमित अपडेट करना क्यों जरुरी होता है

जब भी कोई Building Corporate कोई Instrument बनाती हैं तब अक्सर उन Softwares में कुछ insects, mistakes जैसे बहुत से चीज़ रह जाती हैं. वैसे तो वो बहुत से trying out पहले से ही करते हैं लेकिन फिर भी 100% error unfastened तब भी नहीं होता है.

ऐसे में जब उस softwares का इस्तमाल Customers करते हैं तब उन्हें उस softwares के उन कमियों के विषय में पता चलती है और वो अपना comments या प्रतिक्रिया builders के साथ proportion करते हैं.

ऐसा करने से builders को device में स्तिथ insects और loopholes के विषय में जानकरी मिलती है और वो उनमें जरुरी सुधार लाते हैं नए replace के हिसाब से. जिन्हें customers को अपने device को replace कर वो प्राप्त होता है. इसलिए अपने device को नियमित replace करना बहुत ही जरुरी हो जाता है.

किसी सॉफ्टवेयर को कैसे अपडेट करे

आखिर सॉफ्टवेयर अपडेट करने के लिए क्या करना पड़ेगा? वैसे Instrument को आप दो तरीके से replace कर सकते हैं, जो की हैं On-line Replace और दूसरा है Offline Replace.

जहाँ On-line Replace में आपको software को Web के साथ attach करना पड़ता है, और ये प्रायतः automated replace होता है. बस आपको Replace का notification मिलते ही Replace के button पर click on करना होता है और कभी कभी तो वो routinely ही replace हो जाता है.

वहीँ Offline Replace में आपको Software के लिए Replace Legitimate Website से obtain करना होता है. इसे Replace करने के लिए आपको Web की जरुरत भी नहीं होती है. इसमें अक्सर आपको प्रिंटर, कैमरा या स्कैपनर साॅफ्टवेयर या मदरबोर्ड के ड्राइवर को ज्यादातर replace करने होते हैं. देखा जाये तो इसे आप Guide Replace भी कह सकते हैं.

सॉफ्टवेयर अपडेट करने का तरीका

अपने Cell या Gadget का Replace करने से पहले आपको कुछ चीज़ों का ख़ास ध्यान रखना चाहिए इससे आपको Instrument Replace करने में आसानी होगी.

Battery की Price Test कर लें

Person को हमेशा ये take a look at करना चहिये की उनके gadgets की rate 75% से ज्यादा हैं या नहीं. क्यूंकि यदि इतनी rate नहीं है तब बाद में आपको दिक्कत आ सकती है. इसलिए Battery का 75 % से ज्यादा rate होनी चाहिए.

Web Mode क्या है : – Wifi या Cell Information

Replace करने के लिए हमें Web की जरुरत होती है और इसमें काफी information का खर्च हो सकता है. ऐसे में अगर आपके पास WiFi की सुविधा मेह्जुद हैं तब उसे जरुर इस्तमाल करें. लेकिन वहीँ यदि नहीं है तब आप Cell Information का इस्तमाल कर सकते हैं लेकिन ये take a look at कर लें की आपके Replace होने तक उसमें enough information रहेगा भी या नहीं. अन्यथा आपको Replace करते वक़्त दिक्कत आ सकती है.

Information का Complete backup कर लें

कई बार पाया गया है की Instrument Replace होने के समय में information को क्ष्यति पहुंचती है इसलिए बेहतर होगा की आप Replace करने से पहले अपने सभी information जैसे की Footage, Movies, paperwork का एक दुसरे जगह में ठीक तरीके से Backup ले लें. इससे आपको information loss होने की समस्या नहीं होती है.

Conclusion

मुझे आशा है की मैंने आप लोगों को सॉफ्टवेयर अपडेट करने से क्या होता है के बारे में पूरी जानकारी दी और में आशा करता हूँ आप लोगों को सॉफ्टवेयर अपडेट करने का तरीका के बारे में समझ आ गया होगा.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच feedback लिख सकते हैं. आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिलेगा.

यदि आपको मेरी यह publish सॉफ्टवेयर अपडेट करने की जानकारी हिंदी में अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो तब अपनी प्रसन्नता और उत्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Fb, Twitter इत्यादि पर proportion कीजिये.

Leave a Comment