सीए का फुल फॉर्म क्या है

[ad_1]

क्या आप जानते हैं की CA का Complete Shape क्या है? बारहवीं कक्षा पास करने के साथ ही छात्रों के लिए भविष्य में CA की पढ़ाई के रास्ते खुल जाते हैं, इसलिए प्रत्येक वर्ष देश में लाखों छात्र CA की परीक्षा पास करने के लिए मन लगाकर पढ़ाई करते हैं! CA के विषय में शायद एक trade pupil को ज्यादा जानकारी हो. लेकिन यदि आप भी CA को Career के रूप में चुनना चाहते हैं तब आपको CA का Complete Shape और उससे जुडी जानकारी के बारे में जरुर से पता होना चाहिए.

लेकिन चूँकि CA की जॉब करना बेहद सम्माननीय होता है, इसलिए अक्सर CA शब्द को हम दैनिक जिंदगी में सुनते रहते हैं , परन्तु असल मेंअनेक लोगों को यह पता नहीं होता की आखिर CA की फुल फॉर्म क्या होता है? CA को हिंदी में क्या कहते हैं?

इसलिए आज का यह लेख CA की complete shape के विषय पर ही है, जिसमें हम आपको विस्तारपूर्वक CA की complete Shape के विषय पर उपयोगी जानकारी देने की कोशिश करेंगे! तो आइए बिना समय को नष्ट किये बगैर आज के इस लेख की शुरुवात करते हैं और जानते है की CA क्या है और इसे कैसे करे?

CA का फुल फॉर्म हिंदी में – Complete type of CA in Hindi

ca ka full form kya hai hindi
सीए पीएचडी फुल फॉर्म

CA का Complete shape “Charted Accountant” होता है. CA एक skilled कोर्स है,और इस कोर्स में आपको हिसाब किताब के बारे में सिखाया जाता है. भारत में CA एक प्रतिष्टित पेशा है, वास्तव में एक CA का मुख्य कार्य कंपनी के एकाउंटिंग कार्य को मैनेज करना अर्थात हिसाब किताब देखना होता है.

एक charted अकाउंट का कार्य कंपनी में वित्तीय क्षेत्र से जुड़े सभी कार्य जैसे- बैलेंस शीट तैयार करना, tex रिटर्न करना, के साथ-साथ कंपनी के बिज़नेस Account, टैक्स इत्यादि से संबंधित Monetary सलाह देना होता है.

जिस तरह भारत में डॉक्टर, इंजीनियर को एक सम्माननीय पद माना जाता है. ठीक उसी प्रकार एक चार्टर्ड अकाउंट की भी पोस्ट को काफी सम्मान दिया जाता है, इसलिए देश के लाखों युवा हर साल CA की तैयारी करने हेतु मन लगाकर पढ़ाई करने की इच्छा रखते हैं, क्योंकि आजकल सभी कंपनियां फिर चाहे वह कोई personal फर्म, पब्लिक सेक्टर कंपनी हो या फिर कोई Executive कंपनी हो सभी को एक कुशल Monetary Accountant की आवश्यकता पड़ती है.

सीए का पूरा नाम क्या है?

हालांकि CA शब्द एक अंग्रेजी भाषी शब्द है, परंतु यदि हम charted Accountant को यदि देशी भाषा में समझें तो CA एक “मुनीम” होता है.

जी हाँ, जिस प्रकार पहले के जमाने में मुनीम का कार्य हिसाब-किताब करना एवं लोगों को वित्तीय सलाह होता था, ठीक उसी तरह आज यह कार्य Charted Accountant द्वारा किया जाता है.

CA को हिंदी में “सनदी लेखाकार” या “अधिकारपत्रप्राप्त लेखाकार” के नाम से भी जाना जाता है.

CA का क्या कार्य

किसी फर्म या कंपनी में एक CA का मुख्य कार्य वित्त से जुड़े पेशेवर सलाह देना होता है. अर्थात एक CA फाइनेंस एवं बिजनेस के क्षेत्र में निपुण होता है. किसी कंपनी में CA द्वारा किए जाने वाले कुछ महत्वपूर्ण activity का विवरण नीचे दिया गया है-

  • किसी फर्म में CA एक फाइनेंसियल Observation पर नजर बनाए रखता है. तथा जोखिम को भी analyze करता है.
  • Accounting स्टेटमेंट को तैयार करना तथा उसका निर्माण करना भी CA के द्वारा ही किया जाता है.
  • इसके साथ ही एक CA कंपनी में टैक्स making plans, trade transaction, insolvency, merger and three way partnership में महत्वपूर्ण वित्तीय सलाह देता है.

CA Day कब एवं क्यों मनाया जाता है?

आप में से अब तक कई लोग Charted अकाउंटेंट को बस एक process के रूप में देखते होंगे! लेकिन हर साल भारत में 1 जुलाई को चार्टेड अकाउंटेंट Day के रूप में मनाय जाता है.

क्योंकी पहली बार वर्ष 1949 में Institute of Charted Accountants of india अर्थात ICAI की स्थापना इसी दिन की गई थी.

आपको बता दें उस समय संसद में पारित एक अधिनियम के तहत institute of charted Accountant of india अर्थात ICAI की स्थापना की गई थी.

इसलिए देश के सभी Charted Accountant को सम्मानित करने हेतु भारतीयों द्वारा प्रतिवर्ष 1 जुलाई को चार्टर्ड अकाउंटेंट दिवस के रूप में मनाया जाता है.

ICAI हमारे देश की राष्ट्रीय पेशेवर Accounting frame है. देश के लिए गर्व की बात यह है कि icai विश्व का दूसरा सबसे बड़ा लेखा संगठन अर्थात accounting Group के रूप में भी जाना जाता है.

दोस्तों यहाँ आपके लिए ICAI से जुड़े शानदार info की जानकारी सांझा की है, तो चलिए जानते हैं Icai क्या होता है और उससे जुडी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी.

Info about ICAI in Hindi

भारतीय संसद अधिनियम 1949 के तहत ICAI अब तक के सबसे पुराने पेशेवर निकाय (Skilled frame) में से एक है. CPA अर्थात American Institute of qualified Public accountants के बाद ICAI भारत का नहीं बल्कि दुनिया का सबसे बड़ा लेखा निकाय है.

ICAI Reservation अर्थात आरक्षण मुक्त है इसमें पदाधिकारियों का भी चयन किया जाता है बिना किसी आरक्षण मानदंड के बगैर.

ICAI द्वारा पहला सर्टिफिकेट सर्वप्रथम CA गोपालदास पदमासी कपाड़िया जी को दिया गया. जो कि ICAI के पहले President के रूप में भी जाने जाते हैं.

अब हम बात करते हैं कि भारत में CA कैसे बना जा सकता है? लेकिन अक्सर छात्रों के बीच CA करने को लेकर कुछ भ्रांतियां फैली हुई है, जिनके बारे में नीचे FAQ के माध्यम से उत्तर देने का प्रयास किया गया है-

क्या Arts Circulation लेकर भी CA किया जा सकता है?

यह सवाल अधिकतर आर्ट्स के छात्रों द्वारा पूछा जाता है कि क्या वे 10th के बाद Arts स्ट्रीम लेकर भी CA बन सकते है, तो इसका जवाब हां है. यदि आपके पास Artwork topic है, तो आप 12th के बाद Front एग्जाम देकर भी CA कर सकते हैं.

क्या Charted Accountant का एग्जाम कोई भी Circulation के विद्यार्थी दे सकते हैं?

जी हां! कोई भी छात्र 12वीं कक्षा पास करने के बाद charted अकाउंट का एग्जाम दे सकते हैं यहां पर ध्यान रखने योग्य बात यह है कि यदि आप स्कूल में हैं, तथा भविष्य में ca बनने का सपना देख रहे हैं, तो 10th के बाद trade Circulation से पढ़ाई करना आपके लिए फ़ायदेमंद साबित होगा. क्योंकि CA में अधिकतर Trade के सब्जेक्ट पढ़ाए जाते हैं.

लेकिन यदि आप 11th में arts ले लेते हैं, तो ऐसे में आपको CA सब्जेक्ट को पढ़ने के लिए कोचिंग लेनी होगी. तभी आप CA एग्जाम को Transparent कर पाएंगे. क्योंकि CA का पहला examination Cpt विद्यार्थियों के लिए आसान नहीं होता, यह कड़ी मेहनत के बाद ही पास किया जा सकता है.

चलिए अब हम उन योग्यताओं की बात कर लेते हैं जो की प्रत्येक छात्र में होनी चाहिए जो CA बनना चाहता है

किसी भी स्ट्रीम से 12वीं पास करना candidate के लिए आवश्यक है.

12वीं पास करने के बाद CA की परीक्षा देने हेतु पहले छात्रों को cpt. (Commonplace Skillability Check) एग्जाम क्लियर करना पड़ता है.

ध्यान दें12 वीं पास होना आवश्यक है, किस circulation से पास कर रहे हैं, कितनी परसेंटेज% है यह मैटर नहीं करता.

CA बनने के लिए सबसे पहला स्टेप Cpt एग्जाम को देना होता है. इस एग्जाम को देने के लिए आपको ICAI रजिस्ट्रेशन करना पड़ता है. इस एग्जाम को क्लियर करने के बाद फिर CA बनने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है.

दोस्तों CA बनने के बाद सैलरी?

लोगों के मन में सवाल होता है कि आखिर CA बनने के बाद कितनी सैलरी होती है, तो दोस्तों भारत में यदि औसतन CA के पैकेज की बात करें तो वह 6 लाख से 7 लाख से लेकर 30 लाख तक के बीच होता है. यदि इंटरनेशनल पैकेज की बात करते हैं तो यह 75,00000 तक होता है.

आज आपने क्या सीखा

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख CA का फुल फॉर्म क्या है जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को CA Complete Shape in Hindi के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे websites या web में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है.

इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी knowledge भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच feedback लिख सकते हैं.

यदि आपको यह submit सीए का फुल फॉर्म क्या होता है पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Fb, Twitter और दुसरे Social media websites proportion कीजिये.

Leave a Comment