शंट क्या है और कैसे काम करता है

[ad_1]

एक Electric Circuit में Shunt का कुछ अलग ही महत्व है. लेकिन सही माईने में बहुत से लोग शंट क्या है (What’s Shunt in Hindi) इसके विषय में बहुत ही कम जानते हैं. क्यूंकि यह एक छोटा सा element होने के कारन अक्सर लोग इसे अनदेखा कर देते हैं. लेकिन यदि आप सही माईने में Shunt के विषय में जानेंगे तब आपको भी इसकी खासियत के विषय में जानकारी मिल जाएगी. इसके अलावा हूँ Shunt resistance के benefits और disadvantages के विषय में भी जानेंगे.

इसलिए आज मैंने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को Shunt क्या है और इसके utility कहाँ कहाँ किये जाते हैं के विषय में सम्पूर्ण जानकारी दे दी जाये जिससे की आपको ये article पढने के बाद कहीं और जाने की जरुरत ही नहीं है. तो फिर बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं की ये शंट मोटर क्या है हिंदी में.

शंट क्या है (What’s Shunt in Hindi)

Shunt Kya Hai Hindi

एक Shunt resistor उसे कहते हैं जिसकी एक prime precision resistor होती है और जिसका इस्तमाल circuit में float हो रहे present को measure करने के लिए किया जाता है. यहाँ पर Shunt का मतलब होता है flip away करना या गतिपथ को बदलना. इसे present shunt resistor या ammeter shunt भी कहा जाता है. Shunt resistance को मुख्य रूप से present measure करने के लिए इस्तमाल किया जाता है. वहीँ इसकी conventional worth milli ohms की vary में होती है.

William E. Ayrton ने सबसे पहली बार Common Shunt का आविष्कार किया था. Present shunt resistors में बहुत ही low resistance precision resistors का इस्तमाल किया जाता है AC और DC electric currents को measure करने के लिए, इसमें present के कारण जो voltage drop होता है resistance के throughout उसे ही मापा जाता है. इसलिए ऐसे प्रकार के ammeter shunt को present sensor के sort में भी रखा जाता है.

Present Shunt और Ammeter का इतिहास

अगर में previous के बात करूँ तब, एक ammeter shunt का मतलब होता था एक present shunt resistor जिसे की parallel रखा जाता था coil of an analog, galvanometer sort meter के throughout. अक्सर इसका इस्तमाल Cars में किया जाता था. इसमें जो concept था वो ये की केवल एक tiny fraction की present जिसे की measure करना होता है वो meter के माध्यम से handed होता है, वहीँ बाकि को “shunted” किया जाता था एक present shunt के इस्तमाल से.

यहाँ present shunt का resistance कुछ इसप्रकार से चुना जाता है जिससे की meter की मदद से circuit में desired most present को complete scale में learn किया जा सकता है. वहीँ अभी की बात करें तब present shunt अक्सर सभी present और voltage drop जो इसके throughout होता है उसे measure किया जाता हिया एक analog to virtual converter (ADC) के मदद से. फिर measured worth को show किया जाता है एक virtual show में.

डीसी शंट जनरेटर का परिभाषा

एक shunt generator ऐसा sort का direct present electrical generator होता है जिसमें की box winding और armature winding को parallel में attach किया जाता है, और इसमें armature provide करता है दोनों load present और box present. एक direct present (DC) generator, जिसमें की एक everlasting magnet का इस्तमाल नहीं होता है, तब इसमें एक DC box present का इस्तमाल किया जाता है excitation के लिए.

इसमें box को one after the other excite किया जाता है एक supply of DC के मदद से, जैसे की battery, या self excited किया जाता है जब उन्हें attach किया जाता है किसी armature के साथ किसी generator के, ऐसे में generator भी प्रदान करते हैं power जो की जरुरत होती है box present के लिए.

डीसी शंट मोटर की कंटीन्यूटी चेक करना कैसे करे

ये Continuity Take a look at को D.C Shunt generator में carry out किया जाता है ये test करने के लिए armature winding और box winding steady है भी या नहीं. इस continuity check को Take a look at Lamp के मदद से किया जाता है. इसमें अगर armature winding और box winding steady हो तब Bulb जल जायेगा. वहीँ अगर armature winding और box winding steady नहीं होगी (मतलब की यदि open होगी तब) तब bulb नहीं glow करेगा.

Shunt Resistance के Benefits क्या है

वैसे तो Shunt resistance के भी बहुत सारे advanages हैं, लेकिन यहाँ हम कुछ के विषय में जानेंगे.

1. ये shunt resistance present के route को भी बदल सकता है जिससे ये instrument को prime present से बचा सकता है. अगर low worth वाले shunt resistance का इस्तमाल किया जाये किसी circuit में तब ये prime present को एक trail प्रदान करता है ताकि जो भी prime present हो वो इस shunt के मदद से divert हो जाये और instrument को prime present से होने वाली injury से बचाया जा सके.

2. Bypassing कर एक faulty instrument: एक erroneous instrument को आसानी से offer protection to किया जा सकता है यदि एक shunt resistor को उसके parallel attach किया जाये तब. इससे instrument को offer protection to किया जा सकता है.

3. Coverage प्रदान करती है overvoltage में : Top present के circuit में होने से वो पुरे circuit को injury कर सकता है, इसलिए prime present से shunt resistor cause कर देता है fuse को.

4. Prevention प्रदान करती है noise से : बहुत से noise को save you किया जा सकता है अगर एक capacitor और resistance को flooring के साथ attach किया जाये, ऐसे में shunt resistor बहुत ही मदद करता है noise को कम करने के लिए.

Notice : Top present size में यदि हम prime present float को shunt resistance में believe करें तब हम present की इन massive values को measure करने के लिए उन्हें galvanometer के throughout attach कर सकते हैं.

Shunt Resistance की Disadvantages क्या है

जब shunts का इस्तमाल prime present measurements में किया जाता है, तब exact present studying “extrapolated“(जिसमें एक issue से multiplied हो जाता है, जितना वो specific होना चाहिए उससे हो जाता है और shunt tolerance की variances से ultimate worth में बदलाव दिखाई पड़ सकता है जिससे correct measurements का होना बहुत ही मुस्किल है.

Conclusion

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख शंट क्या है (What’s Shunt in Hindi) जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को शंट मोटर क्या है के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे websites या web में उस article के सन्धर्व में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी data भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच feedback लिख सकते हैं. यदि आपको यह submit Shunt क्या होता है in hindi पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Fb, Google+ और Twitter इत्यादि पर percentage कीजिये.

Ultimate Up to date on October 14, 2019

Leave a Comment