विंडोज रजिस्ट्री क्या है – What’s Home windows Registry in Hindi

[ad_1]

क्या आप जानते हैं की ये विंडोज रजिस्ट्री क्या है? आप सब लोग Laptop का यूज़ करते है तो आपके Laptop में विंडोज जरुर इनस्टॉल होगा. ऐसे में आपने Registry का नाम जरुर सुना होगा. रजिस्ट्री विंडोज का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. हमारे Laptop में इनस्टॉल होने वाले सारे प्रोग्राम और Instrument रजिस्ट्री पर ही डिपेंड करते है और इन Instrument और Program का कुछ हिस्सा रजिस्ट्री में ही लोड होता है.

लेकिन आपने सिर्फ विंडोज रजिस्ट्री के बारे में सुना है, आपको यह पता नहीं है की आखिर विंडोज रजिस्ट्री क्या है, यह कैसे काम करती है, इसकी जरूरत क्या है, रजिस्ट्री क्लीनिंग की क्यों जरुरी है? इन सब चीजों के बारे में हम आज की इस पोस्ट में जानेंगे. इस पोस्ट को पढने के बाद आप विंडोज रजिस्ट्री के बारे में सब कुछ जान जायेंगे. तो फिर बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं की आखिर ये Home windows Registry क्या होता है?

विंडोज रजिस्ट्री क्या है – What’s Home windows Registry in Hindi

windows registry kya hai hindi

Home windows Registry, जिसे की most often referred किया जाता है simply the registry से. यह Microsoft Home windows ऑपरेटिंग सिस्टम में कॉन्फ़िगरेशन सेटिंग्स के डेटाबेस का एक संग्रह है.

आपने अपने विंडोज में कई जरुरी Instrument इनस्टॉल किये होंगे तो आपको यह पता होगा की हर Instrument का कुछ जरुरी डाटा होता है जैसे उसका trail, location, deal with, Instrument की जरुरी सेटिंग्स, Subject matters, Assets भी होते है, इसके अलावा Instrument का वर्जन भी होता है.

इन सबको इनस्टॉल करने के लिए जिस जगह का इस्तेमाल होता है उसे विंडोज रजिस्ट्री कहते है. विंडोज रजिस्ट्री एक तरह का Database होता है जहां Instrument के सारे डाटा को ट्री के फोर्मेट में रखा जाता है. इसमें एक फोल्डर के अंदर दूसरा फोल्डर होता है और हर फोल्डर के राईट साइड में उसका डाटा होता है.

Instrument के अलावा विंडोज की जरुरी सेटिंग्स, References, Database आदि भी विंडोज रजिस्ट्री में ही इनस्टॉल होते है. इसके अलावा Working Machine और {Hardware} से संबधित डाटा भी Home windows Registry में ही इनस्टॉल होता है. इस तरह आप जान गए होंगे की विंडोज रजिस्ट्री में कितना महत्वपूर्ण डाटा इनस्टॉल रहता है.

सबसे ख़ास बात यह है की विंडोज रजिस्ट्री को हम Learn भी कर सकते है और जरूरत पड़ने पर हम उसे Write भी कर सकते है अर्थात उसमे बदलाव भी कर सकते है. रजिस्ट्री विंडोज का मुख्य भाग है जहां सभी तरह के Instrument, {Hardware}, Home windows Settings आदि कई तरह के Databse set up रहते है.

विंडोज रजिस्ट्री कैसे काम करती है?

Home windows Registry में Instrument और प्रोग्राम की सेटिंग्स, विंडोज की डिफ़ॉल्ट सेटिंग्स, Working Machine Configure, {Hardware} Configure, कण्ट्रोल पैनल सेटिंग्स आदि इनस्टॉल रहती है. हम जब भी कोई Instrument या प्रोग्राम विंडोज में लोड करते है तो उसका सारा Database विंडोज रजिस्ट्री में चला जाता है. जब भी हम विंडोज में कुछ बदलाव करते है तो विंडोज रजिस्ट्री में भी अपने आप बदलाव हो जाता है.

उदाहरण के लिए विंडोज में जब भी कोई Instrument Set up किया जाता है तो रजिस्ट्री में एक Sub Key बन जाती है जिसमे उस Instrument का location, केशन, Model , इस Instrument को शुरू करने की तकनीक, कुछ जरुरी settings आदि अपने आप इंस्टाल हो जाती है. आप रजिस्ट्री में जाकर उस सॉफ्टवेयर के बारे में जानकारी पा सकते है.

विंडोज रजिस्ट्री का क्यूँ इस्तमाल किया जाता है?

Home windows Registry का इस्तमाल होता है Instrument methods की knowledge और surroundings को retailer करने के लिए, जिसमें {hardware} gadgets, person personal tastes, running device configurations, इत्यदि मुख्य रूप से शामिल होते हैं.

उदाहरण के लिए, जब आप कोई new program को set up करते हैं, तब एक नयी set की directions और document references robotically ही upload हो जाती है registry में, एक particular location में program के लिए, और दुसरे के लिए जो की उनके साथ engage करते हैं, जिससे ये दुसरे चीज़ों को refer कर सके additional information के लिए जैसे की कहाँ information कहाँ पर situated होते हैं, कोन से choices का इस्तमाल करें program में इत्यादि.

विंडोज रजिस्ट्री क्लीनिंग क्यों जरुरी है?

जब आपका Laptop धीरे चलने लगे, चलते-चलते हैंग होने लगे, आपका Laptop फ्रीज या क्रेश होने लगे तो समझ जाईये आपको Home windows की रजिस्ट्री को क्लीन करने की जरूरत है. हमारे विंडोज रजिस्ट्री में पहले से हजारों एंट्रीज़ होती है और आये दिन नई-नई एंट्रीज़ बनती रहती है और जब यह एंट्रीज़ जरूरत से ज्यादा हो जाती है तो उसका असर हमारे PC पर पड़ता है.

विंडोज में सबसे बड़ी समस्या यह है की हम जब भी कभी कोई Instrument अनइनस्टॉल करते है तो उस Instrument से संबधित सारी रजिस्ट्री कभी नहीं निकाली जा सकती है. इस कारण से विंडोज रजिस्ट्री को क्लीन करने की जरूरत पड़ती है. इस काम को आप मैन्युअली नहीं कर सकते है, कहीं कोई गलत रजिस्ट्री क्लीन कर दी तो उसका असर विंडोज की सेटिंग्स पर हो सकता है, इसलिए आप इसके लिए Ccleaner की मदद ले सकते है.

विंडोज रजिस्ट्री को कैसे देखें?

Home windows Registry को देखने के लिए सबसे पहले Run में जाए इसके लिए Home windows + R दबाएँ. अब Run डायलॉग बॉक्स ओपन होगा उसमे Regedit टाइप करें और इंटर करें. अब आपको विंडोज की सारी रजिस्ट्री दिख जाएगी. इसमें सारा डाटा ट्री फोर्मेट में होता है.

  • HKEY_CLASSES_ROOT: इस Key में कार्य करने के लिए सुचना या एप्लीकेशन संबधित जानकारी होती है.
  • HKEY_CURRENT_USER: इसमें वर्तमान यूजर की सारी सेटिंग्स होती है.
  • HKEY_LOCAL_MACHINE: इसमें Laptop की महत्वपूर्ण जानकारी होती है, जिसमे उसके Instrument और {Hardware} शामिल है.
  • HKEY_USERS: इसमें वर्तमान सभी एक्टिव यूजर की सुचना होती है.
  • HKEY_CURENT_CONFIG: इसमें स्थानीय Laptop प्रणाली के मौजूदा {Hardware} की जानकारी होती है.

निष्कर्ष

इस लेख को पढ़कर आप विंडोज रजिस्ट्री क्या है (What’s Home windows Registry in Hindi), यह कैसे काम करती है, इसकी जरूरत क्यों है और इसको क्लीन करने की जरूरत क्यों रहती है आदि के बारे में आप अच्छे से जान गए होंगे. हालाँकि हमने इस पोस्ट में आपको विंडोज रजिस्ट्री के बारे में सब कुछ बताने का प्रयास किया है. अगर फिर भी कोई जानकारी रह गई है तो आप कमेंट बॉक्स में हमें बता सकते है. यदि आपको मेरी यह लेख विंडोज रजिस्ट्री क्या होता है अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो तब अपनी प्रसन्नता और उत्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Fb और Twitter इत्यादि पर proportion कीजिये.

Leave a Comment