लिफ्ट क्या है और कैसे काम करती है?

[ad_1]

Elevate in hindi : दोस्तो आज का परिवेश जिसको हम trendy युग कहते हैं में हर आदमी को सब काम जल्दी चाहिए वो अपनी शुविधा के लिए हर काम को आसान बना रहा है. एक ऐसा ही मशीन है लिफ्ट या एलीवेटर. जो की सच में हमारे बहुत से कार्यों को आसान बना देता है.

वैज्ञानिकों ने हमे समय समय पर लोगो की जरूरत को ध्यान में रख कर हर चीज को इंवेंट किया और आसान बनाया आज कल जब पूरा विश्व टेक्नोलॉजी के दौर में है जहाँ हर काम रिमोट के बटन से हो रहा है.

फिर वो चाहे television हो या ac cooler गाड़ी हो या घर का दरवाजा तक ऑटोमेटिक है जो बटन दबाते ही खुल और बंद हो जाती है दोस्तो आज हम एक ऐसे टॉपिक के कब बारे बात करने वाले हैं जिसके आविष्कार के बाद आज आसमान को छूती हुई इमारतों को बनाने का सपना साकार हुआ.

जैसा की हम सब जानते हैं कि पहले घर एक दो मंजिल ही बनता था क्योकि ज्यादा ऊँचाई वाले घर मे शीढिया चढ़नी पड़ती थी जो कि बहुत थकावट भरा होता था इसलिए ज्यादा से ज्यादा दो या तीन मंजिल का ही मकान बनाते थे.

किंतु जब से वैज्ञानिकों ने लिफ्ट का अविष्कार किया तब से आसमान छूती इमारते बन रही है आप जानते हैं कि दुनिया मे बड़ी बिल्डिंगों में बुर्ज खलीफा है इसका नाम तो सुना ही होगा उसकी उचाई का आप अंदाजा लगा लीजिए जो लगता है कि आसमान से थोड़ा ही नीचे होगी!

lift kya hai hindi

आप समझ सकते हो अगर इतनी बड़ी इमारत को हम पैदल चढ़े तो कितना समय और कितनी एनर्जी लगेगी ईमानदारी से कहूं तो यह असंभव है लेकिन लिफ्ट ने ये काम आसान कर दिया इसकी वजह से ही आज अगर इतनी बड़ी बुर्ज खलीफा जैसी इमारत बनने का सपना साकार हुआ. तो फिर चलिए जानते हैं की लिफ्ट क्या है और इसके प्रकार क्या है.

लिफ्ट क्या है?

लिफ्ट ऐसी ऊर्ध्वाधर परिवहन वाहन होती है जो की लोगों और सामान को एक ईमारत के अलग अलग फ्लोर्स में लेने लाने के लिए होता है. लिफ्ट की मदद से अब चीज़ों को बड़ी ही आसानी से और successfully ले जाया जा सकता है.

इन लिफ्ट या एलीवेटर को most often energy प्रदान किया जाता है electrical motors के जरिये जो की या तो force करते हैं traction cables और counterweight techniques, या pump करते हैं hydraulic fluid को वो भी एक cylindrical piston को ऊपर उठाने के लिए.

लिफ्ट के प्रकार

वैसे तो आपको लिफ्ट या elevator के कई अलग अलग प्रकार देखने को मिल जायेंगे जिनका उपयोग अलग अलग कार्यों के लिए होता है. अब चलिए उन अलग अलग लिफ्ट या elevator के प्रकार के बारे में जानते हैं.

Sl.No Elevators के प्रकार
1 Freight elevators
2 Boat lifts
3 Level lifts
4 Sidewalk elevators
5 Dumbwaiters

लिफ्ट का इतिहास

हालांकि जब पहली लिफ्ट बनी उस वक़्त 1800 ईस्वी सन था 1743 के वर्ष में फ्रांस के राजा लुइस xv ने अपनी महारानी के लिए बनवाई थी जिसको “flying chair” के नाम से जाना जाता था जिसका इस्तेमाल राजा अपनी बालकनी से महल के दूसरे मंजिल में जाने के लिए करते थे.

हालांकि यह इलेक्ट्रॉनिक से चलित नही हुआ करता था इसको मैनुअली चलाया जाता था कुछ भी यहा से एक ऐसे आईडिया की उत्पत्ति हुई जिसने संभावनाएं जगी और वैज्ञानिको ने इस पर काम शुरू किया पहली स्क्रू ड्राइवर elevator को बनाने वाले वैज्ञानिक Ivan kuli bin थे.

समय के साथ बड़े वैज्ञानिकों को इसके पीछे छुपी जरूरत समझ आयी इसका उपयोग समझने के बाद इसमें सुधार करना शुरू किया ब्रिटेन के दो आर्किटेक्ट burton और hormer ने स्टीम भाप से चलने वाली लिफ्ट बनाई जो एक छोटे से कमरे के आकार का डिब्बा था धीरे धीरे जब आवश्यता बढ़ी ज्यादा भार न सहने की वजय से लिफ्ट कई बार टूट जाती थी या वजन नही उठा पाती थी.

यह 19वी सदी के मध्य तक स्टीम और पानी से से चलने वाली यह लिफ्ट का काम तो जारी रहा मार्किट में भी उपलब्ध थी किन्तु जिस रस्सी के सहारे से इस लिफ्ट को चलाया जाता था उसमे टूटने का खतरा बना रहता था उस पर लोगो का भरोसा नही कर पा रहे थे.

ऐसे में इसकी गंभीर समश्या का आखिर कर समाधान निकाला अमेरिकी व्यवसायिक वैज्ञानिक Elisha Graves otis ने जिन्होंने 1852 में लिफ्ट को protection प्रॉब्लम को दूर किया protection elevator की खोज की और गगन चुम्भी इमारतों के लिए पावरफुल लिफ्ट का अविष्कार कर के Commercial go away में क्रांति ला दी हालांकि इसमें अभी भी काफी कम होना बाकी था एक आध हादसे से यह विश्वनीय नही बन पा रहा रहा था.

Elisha Graves otis ने 1857 में एक बार फिर से अपनी रिसर्च और काबलियत के दम पर इस समश्या से निजात दिलाई और आखिर कार अमेरिका के शहर न्यूयॉर्क सिटी में first business carry को बना कर दुनिया को नायाब विश्वसनीय तोहफा दिया.

अगर ऐसा कहे कि लिफ्ट के आविष्कार में केवल एक आदमी का हाथ था तो यह कहना शायद सही न हो क्योकि लिफ्ट को बनाने में कई वैज्ञानिकों का सतत प्रयास था जिसको बाद में elisha ग्रेव otic ने अमली जामा पहनाया मतलब फाइनल टच दिया.

लिफ्ट कैसे काम करती है?

Elevate कैसे काम करता है ये जानने के लिए पहले आपको इसकी operating idea या काम करने की विधि को समझना होगा. एक elevator या carry काम करता है ठीक एक pulley device के जैसे ही.

जैसे एक pulley device का इस्तेमाल कुँए से पानी खींचने के लिए होता है. वहीँ इस pulley device को design किया गया होता है एक बाल्टी, एक रस्सी वो भी एक चक्के या wheel के सहारे. साथ ही वही बाल्टी या bucket को attach किया गया होता है एक रस्सी के सहारे जो की चक्के के होकर गुजरता है.

इससे कोई भी व्यक्ति बड़ी ही आसानी से पानी खिंच सकता है कुएं से. ठीक इसी तकनीक का इस्तेमाल लिफ्ट के कार्य करने में ही किया जाता है. बस जो मुख्य अंतर है इन दोनों ही सिस्टम में वो ये की, pulley techniques को मैन्युअली perform किया जाता है वहीँ एक elevator या लिफ्ट में कुछ subtle mechanisms का इस्तेमाल होते हैं जो की elevator के load को हैंडल करते हैं.

चलिए थोड़ा element में समझते हैं.

एक elevator असल में एक steel field होता है अलग अलग shapes के जिन्हें की attach या जोड़ा जाता है एक difficult steel rope से. ये difficult steel rope go करता है एक sheave से वो भी elevator में होता है उसके engine room पर.

यहाँ पर एक sheave ठीक एक wheel या चक्के के तरह होता है जैसे की आप उसे एक pulley device में देखते हैं. इसका इस्तेमाल उस मेटल rope या रस्सी को जकड कर पकड़ने के लिए उपयोग होता है. वहीँ इस device को एक मोटर के सहारे भी perform किया जा सकता है. जिसमें की जैसे की transfer को grew to become ON किया जाता है, तब motor turn on हो जाता है, वहीँ elevator या तो ऊपर जाता है या नीचे या फिर रुक जाता है.

 लिफ्ट कैसे बनाया जाता है?

लिफ्ट या elevator बनी होती है बहुत से अलग अलग elevator Parts या elevator portions से जिसमें शामिल है pace controlling device, electrical motor, rails, cabin, shaft, doorways (guide and automated), force unit, buffers, और protection software.

आज आपने क्या सीखा

मुझे आशा है की मैंने आप लोगों को लिफ्ट क्या है के बारे में पूरी जानकारी दी और में आशा करता हूँ आप लोगों को Elevate कैसे काम करता है के बारे में जानकारी मिल गया होगा.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच feedback लिख सकते हैं. आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिलेगा.

यदि आपको मेरी यह लेख लिफ्ट कैसे काम करती है, अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो तब अपनी प्रसन्नता और उत्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Fb, Twitter इत्यादि पर percentage कीजिये.

Leave a Comment