भारत ई-मार्केट क्या है जो देगा फ्लिपकार्ट और अमेज़न को टक्कर

[ad_1]

Bharat E-Marketplace भारत का सबसे पहला E-Trade portal है जो की भारत सरकार के प्रयास से बनाया जा रहा है. इस यूनीक portal का मुख्य उद्देस्य ही है की कैसे वो लोकल भारतीय स्टोर को हमारे निकट तक पहुँच पाए. यानी की हमारे लोकल दुकानदारों को हम तक पहुँचाना वो भी इंटर्नेट के माध्यम से.

भारत की अपनी ही e-commerce portal ‘Bharat e Marketplace’ की App को व्यापारियों की संस्था CAIT के द्वारा लॉंच किया गया है. यह नया एप्लिकेशन व्यवसायों और सेवा प्रदाताओं को पोर्टल पर पंजीकरण करने और अपना खुद का “ई-दुकान” बनाने में सक्षम करेगा.

CAIT के राष्ट्रीय अध्यक्ष BC Bhartia ने बताया की उन्होंने हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘vocal for native‘ और ‘Aatmanirbhar Bharat‘ से प्रेरणा लेकर इस Bharat e Marketplace portal को तैयार किया है. ये पोर्टल दोनों B2B और B2C trade को बढ़ावा देने का काम करेंगी. Confederation of All India Investors (CAIT) के अनुसार ये Bharat E-Trade portal पूरी तरह से भारतीय है और ये हमारे देश की सभी laws और laws का पालन भी कर रही है.

bharat e market kya hai hindi

इस app के अनुसार वो सभी लोकल दुकानदारों को इन virtual mediums के ज़रिए ऑनलाइन लाने में मदद करेंगे. वहीं इससे सभी अब धीरे धीरे ऑफ़्लाइन के साथ साथ अपनी E दुकान को इंटर्नेट पर ला सकते हैं. सच में ये सोच बहुत ही बढ़िया है हमारे लोकाल दुकानदारों के साथ साथ हमारे ग्राहकों के लिए भी, जिन्हें की आसानी से और सुलभ मूल्य में अपनी ज़रूरत की चीजें मिल पाएगी.

Table of Contents

भारत ई-मार्केट पोर्टल किसके द्वारा लॉंच किया गया है?

Bharat E-Marketplace Portal को CAIT The Confederation of All India Investors (CAIT) द्वारा लॉंच किया गया है. उन्होंने इसका एक app भी expand किया है जो की जल्द हमें इस्तमाल करने को मिलेगा.

भारत ई-मार्केट बनाने का लक्ष्य क्या है?

अगर हम इस app के लक्ष्य की बात करें तब ये मुख्य रूप से महजूदा e-commerce firms को अच्छी चुनौती देने वाला है. CAIT के normal secretary Praveen Khandelwal का कहना है, इस पोर्टल Bharat e-Marketplace के द्वारा, वो खुदरा व्यापारी को हमारे घरों तक पहुँचने में मदद करेंगे वो भी निर्धारित समय सीमा के भीतर ही.

इसके साथ वो सभी चीजों को सुलभ मूल्यों में उपलब्ध करवाएँगे जो की हम जैसे आप ग्राहकों के लिए बहुत ही बढ़िया बात होने वाली है. वहीं उन्होंने होम डिलिव्री प्रदान करने के बारे में भी सोचा हुआ है. ये सभी चीजें विक्रेता और ग्राहकों दोनो के लिए बहुत ही अच्छा होने वाला है.

भारत ई-मार्केट पोर्टल का Professional Website online क्या है?

यदि आप Bharat E-Marketplace Portal के Professional Website online पर जाना जाते हैं. यहाँ इस लिंक पर क्लिक कर आप वहाँ तक पहुँच सकते हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दूँ की अभी ये साइट पूर्ण रूप से काम नहीं कर रही है, लेकिन जल्द ही ये काम भी काम करने लगेगा.

Registered दुकानदारों का e-dukaan कब बनेगा?

Confederation of All India Investors (CAIT) के अनुसार, दुकानदारों का e-dukaan March 15 २०२१ से शुरू होने वाला है. इसलिए चिंता करने की कोई ज़रूरत नहीं है. जदल ही इस विषय में आपको जानकारी प्राप्त हो जाएगी.

क्या e-dukaan बनाने के लिए कोई पैसों का भुक्तान करना पड़ेगा?

e-dukaan बनाने के लिए दुकानदारों को किसी भी तरह का कोई भुक्तान नहीं देना पड़ेगा. इस पोर्टल में आपको न तो किसी भी तरह को कोई चार्ज पड़ने वाला है इसे इस्तमाल करने के लिए और ना ही इससे किसी को कोई कमिशन प्राप्त होगा.

जहां दूसरे e-commerce portals क़रीब five p.c से लेकर 35 p.c तक का कमिशन चार्ज करते हैं प्रति transactions के लिए जो की उनके portal से होती है. वहीं यहाँ इस पोर्टल में आपको सभी सर्विस मुफ़्त में परत होगी.

भारत ई-मार्केट बनाने की पीछे क्या कारण हैं?

Bharat E-Marketplace Portal बनाने की पीछे का मुख्य कारण ये है की आज के समय के विदेशी multinational e-commerce कम्पनीज़ हमारे भारतीय विक्रेताओं को सही अवसर प्रदान नहीं करते हैं उनकी चीजों को बेचने के लिए. ऐसे में उन्हें भारी दिक़्क़तों का सामना करना पड़ता है. इसलिए इस प्रकार के पोर्टल के ज़रिए विक्रेताओं को सही अवसर प्रदान किया जा सकता है.

क्या भारत ई-मार्केट का एंड्रॉयड app महजूद है?

जी Bharat eMarket का android app भी बनाया जा रहा है. बहुत ही जल्द उसे भी लाँच किया जाने वाला है.

क्या Bharat eMarket में बाहर से पैसे लगने वाले हैं?

जी नहीं इस पोर्टल में कहीं से भी overseas funding स्वीकृत नहीं किया जाएगा. वहीं यहाँ पर यूज़र की डेटा को भारत में ही रखा जाएगा. यानी की ग्राहकों की प्राइवसी का ख़ास ध्यान रखा जाएगा.

इस पोर्टल का भविस्य कैसा है आगे का?

Bharat E-Marketplace का भविस्य बहुत ही उज्ज्वल दिखायी पड़ रहा है. ये सर्वे से ये बात सामने आयी है की December 31, 2021 तक क़रीब सात लाख से भी ज़्यादा वेंडर इस पोर्टल का हिस्सा बनने वाले हैं. वहीं हज़ारों की तादाद में business associations के जुड़ने से ये प्लाट्फ़ोर्म बहुत ही ज़्यादा बड़ा भी बनने वाला है.

क्या भारत ई-मार्केट पूरी तरह से एक भारतीय app है?

जी हाँ दोस्तों Bharat E-Marketplace पूरी तरह से एक भारतीय app है. इसे भारतीयों द्वारा ही बनाया गया है और भारतीयों के लिए ही बनाया गया है. वहीं यह Bharat eMarket portal हमारे देश के सभी laws और laws को मानने वाला है.

जहां दूसरे E Trade कम्पनी ये laws को मान नहीं रहे हैं, वहीं आने वाले समय में भारत का खुद्का Bharat E-Marketplace प्लाट्फ़ोर्म उन्हें ज़रूर अच्छी चुनौती प्रदान कर सकता है.

क्या भारत ई-मार्केट पोर्टल पर चीनी चीजें भी बेची जाएँगी?

जी नहीं, Bharat E-Marketplace पोर्टल पर चीनी चीजें नहीं बेची जाएँगी. वहीं इस पोर्टल में मुख्य रूप से महिला उद्यमी, कारीगर और शिल्पकार को ज़्यादा सुविधा प्रदान किया जाएगा अपनी चीजें बेचने के लिए .

Bharat eMarket Portal को Formally कब लॉंच किया जाने वाला है?

Bharat eMarket Professional portal को Formally 30th October 2021 को लॉंच किया जाने वाला है .

Bharat eMarket Portal के लॉंच होने के पीछे कौन सी authoritative frame का हाथ है?

Bharat E-Marketplace Portal के लॉंच होने के पीछे Confederation of All India Investors (CAIT) का हाथ है. वो ही इस पोर्टल के सभी चीजों की जाँच करते हैं.

क्या विक्रेताओं को कुछ पैसों का भुक्तान करना पड़ता है Confederation of All India Investors (CAIT) को?

नहीं, विक्रेताओं को किसी भी प्रकार से कोई भी पैसों का भुक्तान नहीं करना पड़ता है किसी को भी, फिर वो चाहे CAIT ही क्यूँ न हो.

क्या भारत ई-कॉमर्स पोर्टल में विदेशी कंपनियों के निवेश का कोई मौका है?

Bharat E-Trade Portal में किसी भी विदेशी कंपनियों का निवेश करने का कोई भी मौक़ा उपलब्ध नहीं है.

Leave a Comment