बीबीए का फुल फॉर्म क्या है

[ad_1]

आज के इस लेख में हम आपको बताने वाले हैं BBA का Complete Shape क्या है. यही नहीं साथ ही हम आपको BBA से जुड़ी बहुत सारी जानकारियां देने वाले हैं. सबसे पहले तो हम आपको बता दें कि BBA एक स्नातक डिग्री है और यह व्यावसायिक प्रबंध से जुड़ी हुई है. हम आपके मन में चल रहे BBA से जुड़े सारे सवालों का जवाब देंगे.

इस लेख में हम आपको बताने वाले हैं BBA का Complete shape क्या होता है, BBA क्या होता है, BBA कैंसे करें, BBA करने में कितनी फीस लगती है, BBA करने के बाद क्या करें, BBA करने के बाद कौन कौन सी नौकरियां मिलती है, BBA करने के बाद कितनी सैलरी मिलती है आदि. यदि आप BBA के बारे में एक अच्छी और विस्तारपूर्वक जानकारी चाहते हैं तो कृपया इस आर्टिकल के साथ बने रहें. BBA Complete Shape in Hindi बताने से पहले हम आपको बताएंगे कि BBA क्या होता है?

बीबीए क्या है?

bba ka full form kya hai hindi
बीबीए का फुल फॉर्म क्या है

BA, B.Com, BSc की तरह BBA एक स्नातक डिग्री है जिसे आप बाकी स्नातक डिग्रियों की तरह 12वी कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद कर सकते हैं. BBA कोर्स में व्यापार और प्रबंधन के गुण सिखाये जाते हैं. इस कोर्स में Communique abilities और Entrepreneur abilities को बढ़ाया जाता है.

इस कोर्स को करने के बाद सरकारी या फिर प्राइवेट नौकरी में अच्छा खासा करियर बना सकते हैं. हालांकि इस कोर्स को अधिकतर आगे चलकर व्यापार करने का प्लान करने वाले व्यक्ति करते हैं. यह कोर्स मूलतः किसी भी व्यक्ति के अंदर व्यापार के गुण लाने के लिए बनाया गया है.

BBA कोर्स के गुणों को सीखने के बाद अपने व्यापार को आगे बढ़ाने में काफी ज्यादा मदद मिल सकती है. बहुत से लोग इस कोर्स को करने के बाद MBA करते हैं. MBA मास्टर डिग्री है जिसे स्नातक के बाद किया जा सकता है.

हालांकि MBA किसी भी स्ट्रीम से स्नातक करने के बाद किया जा सकते है लेकिन यदि कोई BBA करने के बाद MBA करे तो यह और भी ज्यादा अच्छा साबित हो सकता है क्योंकि MBA के कोर्स में भी व्यापार और प्रबंध से जुड़ी शिक्षा दी जाती है और यह कोर्स 2 वर्षों का होता है. BBA करने के बाद MBA के अलावा और भी बहुत से कोर्स है जिन्हें आप BBA करने के बाद किसी विशेष व्यवसाय क्षेत्र में एक अच्छी और फ़ायदेमंद शिक्षा हासिल कर सकते हैं.

बीबीए का फुल फॉर्म हिंदी में – Complete type of BBA in Hindi

BBA का फुल फॉर्म होता है Bachelor of Industry Management. इसका हिंदी अर्थ ‘व्यवसाय प्रबंधन में स्नातक’ होता है.

BBA कोर्स को कुछ इंस्टिट्यूट्स के द्वारा भिन्न भिन्न नाम भी प्रदान किये गए हैं जिन्हें सुनकर आप भ्रमित न हों इसीलिए हम आपको बता दें कि BBA को BMS और BBS के नाम से भी जाना जाता है.

यहां पर BMS का Complete shape ‘Bachelor of Control Research‘ है और BBS का Complete shape ‘Bachelor of Industry Research‘ होता है.

B – Bachelor of
B – Industry
A – Management

नाम सुनकर प्रायः तीनो अलग अलग कोर्स प्रतीत होते हैं लेकिन तीनों कोर्सेस में आपको व्यापार और प्रबंध से जुड़ी शिक्षा ही प्रदान की जाती हैं.

BBA करने के बाद आप MBA, PGDM या MMS कोर्सेस में से किसी एक को चुनकर व्यापार और प्रबंध के ज्ञान में और भी ज्यादा वृद्धि कर सकते हैं. MBA का Complete shape ‘Grasp of Industry Management‘ होता है, हमने आपको ऊपर MBA के बारे में बताया है.

PGDM का Complete shape ‘Publish Graduate Degree in Control‘ होता है. यह एक डिप्लोमा कोर्स है. यह कोर्स अलग अलग इंस्टिट्यूट्स के द्वारा एक वर्ष से दो वर्ष की अवधियों में कराया जाता है. MBA और PGDM में यही फर्क है कि MBA डिग्री कोर्स है जबकि PGDM डिप्लोमा कोर्स है.

MMS का Complete shape ‘Grasp of Control Gadget‘ होता है. MMS भी डिग्री कोर्स है और इसे आप स्नातक करने के बाद कर सकते हैं. BBA करने के बाद MMS का कोर्स एक अच्छा विकल्प है. यह कोर्स बहुत सी सरकारी यूनिवर्सिटी के द्वारा कराया जाता है. इस कोर्स की अवधि 2 वर्षों की होती है.

बीबीए कैसे करे?

चलिए जानते हैं की कैसे आप BBA का Path कर सकते हैं. नीचे आपको BBA के सम्बंधित सभी जानकारी प्राप्त हो जाएगी.

1. BBA के लिए योग्यता

BBA करने के लिए आपको किसी भी विषय से 12वी कक्षा उत्तीर्ण करना आवश्यक है और न्यूनतम 45% के साथ उत्तीर्ण होना चाहिए. बहुत सी यूनिवर्सिटी BBA में एडमिशन के लिए एंट्रेंस परीक्षा लेती है, जब आप उस परीक्षा में उत्तीर्ण हो जाते हैं तभी आपको एडमिशन दिया जाता है.

2. BBA कहाँ से करें

चूंकि BBA व्यापार से जुड़ा हुआ कोर्स है इसीलिए यह कोर्स सभी जगह अर्थात सामान्य शहरों एवं गांवों में नहीं कराया जाता है. हालांकि बड़े शहरों में बहुत सी यूनिवर्सिटी हैं जहाँ से आप BBA का कोर्स कर सकते हैं.

BBA प्राइवेट और सरकारी दोनों प्रकार के कॉलेज से किया जा सकता है. प्राइवेट कॉलेज में ज्यादा फीस देना होता है वहीं शासकीय कॉलेज में बहुत कम फीस लगती है.

यदि आपके शहर के नजदीक कहीं ऐंसा कोई कॉलेज नहीं है जहाँ BBA होता है और आप कहीं दूर जाकर ये कोर्स करने में अक्षम हैं तो आप इस कोर्स को ऑनलाइन कर सकते हैं. बहुत सी यूनिवर्सिटी ऑनलाइन पत्राचार के माध्यम से BBA का कोर्स करती हैं. इसके लिए आपको संबंधित यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में जाकर जानकारी प्राप्त करना होता है.

3. BBA करने के लिए कितनी फीस लगती है

BBA कोर्स के लिए फीस अलग अलग यूनिवर्सिटी के हिसाब से अलग अलग रहती हैं. वैंसे सामान्यतः यह कोर्स प्राइवेट कॉलेज में न्यूनतम 60,000 रुपये से लेकर अधिकतम 4,00,000 रुपये तक कराया जाता है. वहीं यदि आप इसे किसी शासकीय कॉलेज में करते हैं तो आपको बहुत ही कम फीस देना होता है.

4. BBA करने के बाद क्या करें

i) आगे की पढ़ाई

BBA करने के बाद MBA, PGDM और MMS जैंसे कोर्स कर सकते हैं जिनके बारे में ऊपर हमने आपको बताया है.

ii) प्राइवेट जॉब

BBA करने के बाद यदि आप कोई प्राइवेट जॉब जॉइन करते हैं तो आपको शुरुआती आय 10,000 रुपये से 20,000 रुपये महीने की होगी. BBA करने के बाद आपको प्राइवेट कंपनी में वित्त प्रबंधक, प्रबंधक, एच.आर. मैनेजर आदि पद मिल सकते हैं.

iii) सरकारी जॉब

BBA करने के बाद सरकारी जॉब अधिकतर बैंकिग के क्षेत्र में मिलती हैं. हालांकि सरकारी क्षेत्र में सैलरी पैकेज प्राइवेट की तुलना में बहुत कम है लेकिन इसमें नौकरी की और आपकी सुरक्षा प्राइवेट नौकरी की अपेक्षा काफी ज्यादा अच्छी रहती है.

बीबीए में सब्जेक्ट

यहाँ पर हम आपको BBA में मेह्जुद topics के बारे में जानकारी देंगे. दोस्तों ये तो शायद आप जानते होंगे की BBA के path में कुल मिलाकर 6 Semester होते है. और वहीँ इन 6 Semester में अलग अलग बहुत सारे topics होते है. वहीँ scholars को सभी topics पढना होता है और इसमें पास के बाद ही उन्हें BBA की level प्राप्त हो सकती है.

Semester 1

  • Industry English – I
  • Industry Arithmetic – I
  • Rules of Micro Economics
  • Rules of Monetary Accounting
  • Basics of Knowledge Generation
  • Components of Control
  • Enrichment Path-I

Semester II

  • Industry English – II
  • Rules of Macro Economics
  • Industry Arithmetic – II
  • Good judgment & Important Considering
  • Corporate Accounts
  • Advent to Indian Society
  • Enrichment Path –II

Semester III

  • Advent to Indian Industry Atmosphere
  • Advent to Industry Statistics
  • Executive & Industry
  • Value & Control Accounting
  • Enrichment Path -III
  • Oral Communique in Industry
  • Managerial Talents

Semester IV

  • Taxation
  • Advent to Operations Analysis
  • Advent to Organizational Conduct
  • Advent to Ethics & Company Social Accountability
  • English Literature
  • Indian Industry Historical past
  • Enrichment Path –IV
  • Advent to Environmental Control

Semester V

  • Advent to Operations Control
  • Industry Regulation
  • Human Useful resource Control
  • Indian Financial system
  • Basics of Monetary Control
  • Advertising Control
  • Enrichment Path –V

Semester VI

  • Basic of World Industry
  • Entrepreneurship
  • Rules of Analysis Method
  • Advent to Strategic Control
  • Control Knowledge Gadget
  • Monetary Services and products
  • Enrichment Path –VI

आज आपने क्या सीखा

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख बीबीए का फुल फॉर्म क्या है जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को BBA Complete Shape in Hindi के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे websites या web में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है.

इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी data भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच feedback लिख सकते हैं.

यदि आपको यह submit बीबीए का फुल फॉर्म क्या होता है पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Fb, Twitter और दुसरे Social media websites proportion कीजिये.

Leave a Comment