जावास्क्रिप्ट क्या है – What’s JavaScript in Hindi

[ad_1]

जावास्क्रिप्ट क्या है (What’s JavaScript in Hindi)? अगर आप Web Surfing के लिए Browsers का इस्तमाल किये होंगे तब आपने जरुर ही Permit Javascript का possibility जरुर से देखा होगा. तब आपके मन में ये जरुर आया होगा की आखिर ये जावास्क्रिप्ट क्या होती है और इसे Permit करना क्यूँ जरुरी होता है.

वैसे इसे हम आसान शब्दों में समझने के लिए ये कह सकते हैं की JavaScript एक मुख्य programming language नहीं होता है बल्कि यह एक Scripting Language होता है. इसका इस्तमाल मुख्य रूप से Browsers में होता है और इसे HTML या CSS के साथ ही इस्तमाल किया जाता है. इसके बहुत सी खूबियाँ है जिसे की हम आगे article में जानेंगे.

अक्सर लोगों को JavaScript और Java के बीच का अंतर पता नहीं होता है और वो दोनों को समान सोचने लगते हैं. वैसे ऐसा बिलकुल भी नहीं होता है. ये दोनों ही languauge बिलकुल ही भिन्न होते हैं.

इसलिए आज मैंने सोचा की क्यूँ न आपको लोगों को जावास्क्रिप्ट की जानकारी और इसके क्या benefits होते हैं इस्तमाल करने के, विषय में आपको पूर्ण रूप से जानकारी प्रदान की जाये जिससे आपके मन में और कोई दुविधा उत्पन्न नहीं होगी. तो फिर बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं जावास्क्रिप्ट के बारे में हिंदी में.

जावास्क्रिप्ट क्या है (What’s JavaScript in Hindi)

JavaScript Kya Hai Hindi

JavaScript एक बहुत ही frequently used Jstomer facet scripting language होती है. या हम कह सकते हैं इसे सभी main internet browsers में इस्तमाल किया जाता है.

इसमें सबसे बड़ी library ecosystem होती है किसी भी programming language की. चूँकि यह एक scripting language होता है इसलिए इसके code को एक HTML web page में भी लिखा जा सकता है.

तो जब एक consumer requests करता है HTML web page में, जिसमें की एक JavaScript provide होती है, तब ये script को browser तक भेजा जाता है और ये browser पर ही निर्भर करता है की वो इसके सह क्या करना चाहती है.

वैसे देखा जाये टी JavaScript की कोई भी relation नहीं होती है Java के साथ. बस इसके नाम में Java का इस्तमाल होने के कारण JavaScript को कहा जाता है : The Global’s Maximum Misunderstood Programming Language (दुनिया की सबसे गलत समझी जाने वाली language)

JavaScript Professional Identify है ECMAScript outlined underneath Usual ECMA-262.

JavaScript के Frameworks क्या हैं?

जिन Frameworks को Maximum regularly इस्तमाल किया जाता है वो हैं React JS, Angular JS, Create JS, jQuery, nodeJS इत्यादि.

जावास्क्रिप्ट का परिचय

JavaScript उन Three Languages में से एक Language होता है जिसे की सभी internet builders को जरुर से सीखना चाहिए, चलिए उन तीनों languages के विषय में भी जानते हैं.

1. HTML इसका इस्तमाल Internet Pages के content material को outline करने के लिए किया जाता है.

2. CSS इसका इस्तमाल Internet Pages का Structure को specify करने के लिए किया जाता है.

3. JavaScript इसका इस्तमाल Internet Pages के Habits को program करने के लिए किया जाता है.
केवल Internet pages ही वो एकमात्र जगह नहीं होती जहाँ की JavaScript का इस्तमाल होता है. बहुत से desktop और server methods में भी JavaScript का उपयोग होता है.

Node.js ऐसा की एक Program होता है. कुछ databases, जैसे की MongoDB और CouchDB, में JavaScript को एक उनके programming language के हिसाब से इस्तमाल किया जाता है.

जावा और जावास्क्रिप्ट में अंतर

अक्सर लोगों को यही लगता है की जावा और जावास्क्रिप्ट के बीच का अंतर समान ही हैं. लेकिन असल में ऐसा कुछ भी नहीं है. तो चलिए इन दोनों के बीच के अंतर के विषय में जानते हैं.

JavaScript बिलकुल भी Java के समान नहीं है. मैं आपको और एक बार बताना चाहता हूँ की JavaScript और Java दोनों अलग अलग हैं.

वैसे इन दोनों के नाम बहुत ही मिलते झूलते जरुर हैं, जो की एक doubt create करते हैं लोगों के मन में. जहाँ इस language को basically एक scripting language के तोर पर इस्तमाल किया जाता है HTML pages में, वहीँ Java एक actual programming language होता है जो की पूरी तरह से दुसरे काम में इस्तमाल किया जाता है.

वहीँ Java को सीखना थोडा कठिन हो सकता है. इसे Solar Microsystem के द्वारा expand किया गया इस्तमाल के लिए उन सभी चीज़ों में जहाँ की computing energy की जरूरत थी.

JavaScript को expand किया था Brendan Eich ने, जो की उस समय में Netscape में काम किया करते था, उन्होंने इसे एक Jstomer facet scripting language के तोर पर expand किया था (वैसे ऐसा कुछ elementary reason why नहीं है की क्यूँ इसे एक server facet setting में इस्तमाल नहीं किया जा सकता है).

At first इस language का नाम था Reside Script, लेकिन जब इसे unencumber किया जाने वाला था, तब Java बहुत ही in style हो चूका था. इसलिए final imaginable second में ही Netscape ने इसका नाम बदलकर “JavaScript” रख दिया.

Java और JavaScript दोनों ही वंसज हैं C और C++ के, लेकिन ये languages अपने पूर्वजों से बिलकुल ही अलग काम करते हैं. दोनों ही languages object orientated होती हाँ और वो कुछ समान syntax भी proportion करते हैं. लकिन इसमें variations ज्यादा होती हैं similarities की तुलना में.

JavaScript को कैसे Permit करे

अभी तो प्राय सभी internet pages में JavaScript होता है, ये एक scripting programming language होता है जो की customer के internet browser में run करता है.

ये internet pages को purposeful बनाता है particular functions के लिए, वहीँ अगर ये disable हो गया कुछ कारणों के लिए तब, Internet Web page की content material या उसकी capability भी restricted या unavailable हो जाती है.

तो चलिए जानते हैं की अलग अलग browsers में JavaScript को permit कैसे करें : –

Google Chrome में

1.  आपके internet browser की menu में click on करें “Customise and regulate Google Chrome” में और make a selection करें “Settings“.

2.  वहीँ “Settings” phase में click on करें “Display complicated settings…” पर.

3.  वहीँ “Privateness” के निचे click on करें “Content material settings.” में.

4.  जब conversation window open होता है, आपको देखना होगा “JavaScript” phase को और make a selection करना होगा “Permit all websites to run JavaScript (beneficial)” में.

5.  फिर Click on करें “OK” button को इसे shut करने के लिए.

6.  उसके बाद Shut करें “Settings” tab.

7.  Click on करें “Reload this web page” button पर आपके internet browser में जिससे web page refresh हो जायेगा.

Web Explorer में

1.  Internet browser menu पर click on करें “Gear” icon पर और make a selection करें “Web Choices” को.

2.  वहीँ “Web Choices” window पर make a selection करें “Safety” tab पर.

3.  वहीँ “Safety” tab पर click on करें “Customized degree” button पर.

4.  जब “Safety Settings – Web Zone” की conversation window open होती है, आपको “Scripting” phase पर जाना होगा.

5.  इसमें “Lively Scripting” merchandise में make a selection करें “Permit“.

6.  ऐसा करने से आपके सामने एक “Caution!” window pops out होगी जिसमें ये पूछा जायेगा की “क्या आप certain हैं की ये atmosphere आप alternate करना चाहते हैं इस zone के लिए?” make a selection करें “Sure“.

7.  वहीँ “Web Choices” window पर click on करें “OK” button पर उसे shut करने के लिए.
8.  फिर Click on करें “Refresh” button पर internet browser के जिससे web page फिर से refresh हो जायेगा.

Mozilla Firefox में

1.  इसके cope with bar में, kind करें about:config और press करें Input.

2.  Click on करें “I’ll watch out, I promise” पर अगर कोई caution message आपके सामने seem हो तब.

3.  वहीँ seek field पर, seek करें javascript.enabled

4.  फिर Toggle करें “javascript.enabled” choice (right-click करें और make a selection “Toggle” या double-click करें उस choice को) को जिसे आप इसकी worth को alternate कर सकते हैं “false” से “true”.

5.  Click on करें “Reload present web page” button पर internet browser के जिससे web page को आप refresh कर सकते हैं.

Opera में

1.  Click on करें Opera icon “Menu” और फिर “Settings”.

2.  Click on करें “Internet sites” और फिर make a selection करें “Permit all websites to run JavaScript (beneficial)”

3.  Click on करें “Reload” button पर internet browser के उस web page को refresh करने के लिए.

Apple Safari में

1.  अपने internet browser menu में click on करें “Edit” पर और make a selection करें “Personal tastes“.

2.  वहीँ “Personal tastes” window पर make a selection करें “Safety” tab पर.

3.  इसके बाद “Safety” tab phase के “Internet content material” पर mark करें “Permit JavaScript” checkbox को.

4.  Click on करें “Reload the present web page” button को internet browser के जिससे आप web page को refresh कर सकते हैं.

JavaScript Language क्या है?

JavaScript एक programming language ही नहीं है अगर हम strict sense में बात करें तब. बल्कि यह एक scripting language होता है क्यूंकि ये browser को instruct करता है background के सभी grimy paintings को करने के लिए.

अगर आप command करें एक symbol को दुसरे से exchange करने के लिए, JavaScript browser को कहता है ऐसा करने के लिए. क्यूंकि असल में सभी काम browser ही करता है, आपको सिर्फ कुछ codes लिखने होते हैं इस scripting language में जिससे की browser आपके सभी काम कर सके.

ख़ास इसलिए ही JavaScript एक बहुत ही आसान language होता है rookies के लिए.

JavaScript के Benefits और Disadvantages

दुसरे pc languages के ही तरह, JavaScript की भी कुछ benefits और disadvantages हैं. जहाँ पहले इसे केवल कुछ कार्यों के करने तक ही prohibit कर दिया जाता था वहीँ आजकल इसे बहुत से कार्यों में उपयोग किया जाता है.

 जावास्क्रिप्ट के फायदे

1.  Pace. Consumer-side JavaScript बहुत ही rapid होती है क्यूंकि ये straight away run करती है client-side browser में. जब तक out of doors assets की जरुरत हो, JavaScript बिलकुल ही unhindered रहती है community calls से एक backend server में.

इसे Jstomer facet में compiled होने की कोई भी जरुरत नहीं है जिससे की इसे कुछ velocity benefits मिलते हैं.

2.  Simplicity. JavaScript बहुत ही easy होती है सीखने के लिए और साथ में enforce करने के लिए भी.

3.  Reputation. JavaScript को पुरे internet में इस्तमाल किया जाता है. साथ में इसे सीखने के लिए भी web पर बहुत से assets मेह्जुद हैं. StackOverflow और GitHub ऐसे दो बड़े web pages हैं जहाँ से आप Javascript के विषय में सबकुछ जान सकते हैं.

4.  Interoperability. JavaScript बड़ी आसानी से दुसरे languages के साथ suitable होती है, साथ में इसे बहुत से programs में इस्तमाल भी किया जाता है. PHP और SSI scripts के विपरीत, JavaScript को आसानी से किसी भी internet web page में insert किया जा सकता है.

JavaScript का इस्तमाल दुसरे scripts के भीतर भी किया जा सकता है जिन्हें की अलग languages जैसे की Perl और PHP में लिखा गया है.

5.  Server Load. ये client-side में इस्तमाल होने के कारण, web page server में इसकी call for कम हो जाती है.

6.  Wealthy interfaces. Drag, या drop elements या फिर slider के होने से ये आपके web page को एक wealthy interface प्रदान करती है.

7.  Versatility. अभी तो JavaScript को बहुत सारे servers में भी इस्तमाल किया जाने लगा है. JavaScript को front-end में shoppers server में इस्तमाल किया जाता है, साथ ही अभी तो एक पूरा whole JavaScript app भी बनाया जा सकता है entrance से लेकर again तक केवल JavaScript के मदद से.

जावास्क्रिप्ट के नुकसान

1. Consumer-Facet Safety. चूँकि ये code execute होता है customers के pc से, इसलिए कुछ circumstances में इसे exploit भी किया जा सकता है malicious functions के लिए. यही वो एक मुख्य कारण है जिसके लिए कुछ लोग Javascript को disable करना ज्यादा पसंद करते हैं.

2.Browser Strengthen. JavaScript को कभी कबार अलग अलग browsers में in a different way interpret किया जाता है. जहाँ की server-side scripts हमेशा एक ही प्रकार का output produce करती है, वहीँ client-side scripts की output थोड़ी बहुत unpredictable होती है.

वैसे ये कोई बड़ी समस्या नहीं है क्यूंकि जब तक बड़े और in style browsers में ये सही तरीके से काम कर रहे हों, तब तक सब secure होता है.

आज के समय की जावास्क्रिप्ट

अभी के समय की बात करूँ तब ये Script सभी जगहों में मेह्जुद हैं – ये सबसे frequently used client-side scripting language होता है. JavaScript को लिखा जाता है HTML paperwork में और ये permit करता है interactions दुसरे internet pages के साथ बहुत ही distinctive tactics में.

उदाहरण के लिए, ये केवल JavaScript के कारण ही हूँ mechanically agenda कर सकते हैं appointments और on-line video games play कर सकते हैं. इसके अलावा, new tendencies, जैसे की Node.js, permit करता है इसका इस्तमाल server-side में वहीँ APIs, जैसे की HTML5, permit करता है regulate करना consumer media और दुसरे instrument options को.

Conclusion

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख जावास्क्रिप्ट क्या है (What’s JavaScript in Hindi) जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को जावा और जावास्क्रिप्ट में अंतर के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे websites या web में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है.

इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी knowledge भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच feedback लिख सकते हैं.

यदि आपको यह submit जावास्क्रिप्ट क्या होती है हिंदी में पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Fb, Twitter इत्यादि पर proportion कीजिये.

Remaining Up to date on November 6, 2020

Leave a Comment