कंप्यूटर की पूरी जानकारी हिंदी में

दोस्तों क्या आप कंप्यूटर नाम के इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को जानते हैं? क्या आपको कंप्यूटर के बारे में जानकारी है? अगर हां तो यह बहुत अच्छी बात है. लेकिन कंप्यूटर के बारे में जितनी जानकारी प्राप्त की जाए उतनी कम होती हैं. अगर आप कंप्यूटर के बारे में जानना चाहते हैं, तो यह पोस्ट आपके लिए ही लिखा गया है.

मुझे भी कंप्यूटर आती है. मेरे मन में हमेशा कंप्यूटर को लेकर अलग-अलग सवाल आते हैं? और इन सवालों का जवाब ढूंढते हुए मैंने जाना कंप्यूटर के बारे में कई ऐसी जानकारियाँ हैं जिसके बारे में मुझे कुछ मालूम नहीं है. अपने इस तलाश से मैंने जो कुछ भी सीखा उसे इस पोस्ट में शेयर करने जा रहा हूं कंप्यूटर की सामान्य जानकारी.

कंप्यूटर की जानकारी हिंदी में

कंप्यूटर के विषय में और अच्छे से जानने के लिए हमने कुछ सवालों के मदद से आपको जानकारी देने की कोशिश की है. इसीलिए इन questions को ध्यान से पढ़ें. आशा करता हूँ की आपको कंप्यूटर के सम्बंधित बहुत ही ज़रूरी जानकारी अवस्य मिल जाएगी.

कंप्यूटर का हिंदी अर्थ क्या है?

कंप्यूटर का हिंदी अर्थ या यूं कहें कि कंप्यूटर का हिंदी नाम संगणक हैं. वही लैपटॉप को हिंदी में लैपटॉप के नाम से ही जाना जाता है.

कंप्यूटर में Knowledge किसे कहते हैं?

Knowledge RAW, Info और Determine का एक ऐसा संग्रह हैं जहां पर हर तरह के प्रोसेस्ड इंफॉर्मेशन को इक्कठा करके रखा जाता हैं. डाटा में अधिकतर unorganised और unprocessed information ही दिखाई देते हैं. इस तरह के Knowledge को experiment और survey के मदद से प्राप्त की जाती हैं.

विंडोज क्या है?

Home windows डेस्कटॉप के left facet में मौजूद एक ऐसा house है, जिसमें home windows पर आधारित program को चलाया जाता है. Window के मदद से कंप्यूटर के अधिकतर प्रोग्राम को run किया जाता है. चाहे किसी सॉफ्टवेयर को ओपन करना हो या फिर कंप्यूटर को बंद करना हो Window के जरिए दोनों ही काम किए जाते हैं.

कंप्यूटर प्रोग्राम क्या है?

एक कंप्यूटर programme directions का एक संग्रह है, जिसे किसी विशिष्ट कार्य को करने के लिए कंप्यूटर द्वारा instructions दिया जाता है. कंप्यूटर के programme को एक programmer लिखता है. प्रोग्राम से मदद सही कंप्यूटर में किसी भी process को परफॉर्म किया जाता है.

कंप्यूटर programme, libraries और programme से संबंधित डाटा के संग्रह को सॉफ्टवेयर के नाम से भी जाना जाता है. कंप्यूटर प्रोग्राम को कोई अलग अलग तरह से categorise किया गया है, जैसे एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर और सिस्टम सॉफ़्टवेयर.

उदाहरण के तौर पर समझे तो अगर आपको कंप्यूटर में कोई letter लिखनी है तब आपको कंप्यूटर के phrase processing programme इस्तेमाल करना होगा यानी आपको Microsoft phrase का उपयोग करना होगा.

वहीं अगर आपको कंप्यूटर में अपना account report करना है तो आपको कंप्यूटर के Microsoft Excel कमाल करना होगा.

ड्राइव क्या है?

Drives एक {hardware} element हैं जिसका उपयोग information retailer करने के लिए किया जाता हैं. हर कंप्यूटर में कम से कम दो Drives होते ही हैं. एक exhausting power और दूसरा CD/DVD होता है. कंप्यूटर में मौजूद हार्ड ड्राइव को C:power के नाम से जाना जाता है. और CD को D:power के नाम से जाना जाता है. अगर आपके कंप्यूटर में एक्सटर्नल हार्ड ड्राइव है तो आप उसका partitioned करके दूसरे ड्राइव क्रिएट कर सकते हैं.

फोल्डर क्या हैं?

ब्यूटी के ड्राइवर मौजूद दांतों को सही से ऑर्गेनाइज करने के लिए फोल्डर्स का इस्तेमाल किया जाता है. कंप्यूटर के फोल्डर में फिजिकल फोल्डर की तरह ही होते हैं जिसके अलग अलग फोल्डर में अलग अलग डाटा को retailer करके रखा जाता है.

फाइल क्या हैं?

Report एक computerised report हैं, इसमें एक तरह के data को स्टोर किया जाता हैं.

डेटाबेस क्या हैं?

Database बहुत सारे संबंधित डाटा का एक संग्रह है जो इस तरह से organised रहता है कि यूजर इसे आसानी से get right of entry to, replace और deal with कर सकते हैं. Database में non redundant information भी retailer रहते हैं जिससे इसे आसानी से other software gadget को शेयर किया जा सकता है. Non redundant information दूसरे डेटा के बीच consistency बनाकर रखता है.

Database डाटा के फिजिकल स्टोरेज को software programme से अलग करने का काम करते हैं. इस प्रक्रिया को information independence के नाम से जाना जाता है. इस तरह के information independence मैं प्रोग्रामर कोई जानकारी नहीं होती है कि डाटा को किस तरह से retailer किया गया है.

डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम क्या है?

Database Control Machine database को deal with या यूं कहे कि organised करने का एक तरीका हैं जिसमे database में सिर्फ a success transaction को retailer किया जाता हैं. एक a success transaction वही होता हैं जिसमे ACID के सभी belongings मौजूद होती हैं. ACID को विस्तार से कहे तो इसका complete shape atomicity, constant, remoted और sturdy हैं.

Atomicity : एक ट्रांजेक्शन में Atomicity का मतलब ट्रांजेक्शन का पूरा entire होना जरूरी हैं. जैसे अगर आप cash transfers करते हैं तो एक पैसे भेजने वाले पार्टी के अकाउंट से पैसे कट कर पैसे रिसीव करने वाली पार्टी के अकाउंट में पैसे रिसीव होना Atomicity transaction हैं.

Consitency : consitency database में लगातार information के ट्रांजेक्शन को दर्शाता हैं.

Isolation – Database में Isolation एक समय में एक ट्रांजैक्शन के होने को दर्शाता है. इसे serializability भी कहते हैं.

Sturdiness : Sturdiness Database में मौजूद डाटा को लंबे समय तक स्टोर करने के प्रक्रिया को कहा जाता हैं.

कंप्यूटर की सबसे छोटी इकाई क्या है?

कंप्यूटर की सबसे छोटी इकाई chew होती है.

1 KILO BITE में कितनी BITE होती है?

1 KILO BITE में 1024 BITE होती है.

1 MEGA BITE में कितनी KILO BITE होती है?

1 MEGA BITE में 1024 KILO BITE होती हैं.

1 TERA BITE में कितनी GIGA BITE होती है?

1 TERA BITE में 1024 GIGA BITE होती हैं.

आज आपने क्या सीखा

दोस्तों मुझे उम्मीद है कि इस पोस्ट में बताएं गई जानकारी को पढ़ने के बाद आपको कंप्यूटर के बारे में जानकारी मिल गई होगी. हम आपके लिए ऐसे इंटरेस्टिंग और ‌काम जानकारी लेकर आते रहते हैं. कंप्यूटर से जुड़ी और जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे दूसरे पोस्ट को भी जरूर पढ़िए आप को उनसे फायदा जरूर होगा.

अगर आपको हमारा यह काम पसंद आया हो तो इस अपने दोस्तों के साथ शेयर करना बिल्कुल ना भूलें. हमारी हमेशा यही कोशिश रहती है कि पोस्ट में पाठकों को पूरी नॉलेज मिल जाए ताकि उनसे किसी भी तरह की जानकारी मिस न हो. यह पोस्ट आपको कैसा लगा नीचे कमेंट करके जरूर बताएं.

धन्यवाद.

Leave a Comment