एन्क्रिप्शन और डिक्रिप्शन क्या है

[ad_1]

आपने पहले भी Encryption के विषय में जरुर सुना होगा, लेकिन क्या आप जानते हैं की technically ये एन्क्रिप्शन क्या है और ये कैसे काम करता है इत्यादि. Delicate data raise करने के लिए एक machine को दोनों secrecy और privateness की जरुरत होती है put into effect करने के लिए.

एक machine पूरी तरह से unauthorized get right of entry to को रोक नहीं सकता है media के transmission के दौरान. Knowledge tampering जिसमें की जानबूजकर information को intentionally adjust किया जाता है एक unauthorised channel के माध्यम से,. यह एक नयी factor नहीं है, और न ही ये distinctive होता है pc technology के लिए.

Knowledge में बदलाव लाने से उसे unauthorised get right of entry to से give protection to किया जा सकता है जिसे केवल accredited receiver ही समझ सकता है. इस चीज को करने के लिए जिस way का इस्तमाल किया जाता है उसे encryption और decryption कहा जाया है. इन दोनों Encryption और Decryption क्या है में जो मुख्य अंतर है वो ये की Encryption में message को convert किया जा सकता है एक बहुत ही unintelligible shape में जिसे की बिना decrypt किया समझा नहीं जा सकता है.

वहीँ Decryption का मतलब होता है वो प्रक्रिया जिससे unique message को encrypted information से get well किया जाता है. इसलिए आज मैंने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को एन्क्रिप्शन क्या होता है के विषय में पूरी जानकारी दे दी जाये जिससे आपको भी इस प्रक्रिया के विषय में जानकारी हो. तो बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं.

एन्क्रिप्शन क्या है (What’s Encryption in Hindi)

Encryption Kya Hai Hindi

Encryption एक ऐसा procedure होता है जिसमें की sender unique message को एक unintelligible shape में बदल देती हैं और उसके बाद उसे community के माध्यम से दुसरे जगह में भेजा जाता है.

इसमें sender को एक encryption set of rules और एक key की जरुरत होती है जिससे वो plaintext (unique message) को ciphertext (encrypted message) में बदल देता है, इस प्रक्रिया को enciphering कहा जाता है.

Plaintext ऐसा information होता है जिसे की give protection to किया जाता है transmission के दौरान. ये ciphertext एक प्रकार का scrambled textual content होता है जो की produce होता है एक consequence के तरह encryption set of rules की और जिसके लिए एक particular key का इस्तमाल किया जाता है. ये ciphertext shielded नहीं होता है.

ये केवल flows करता है transmission channel के ऊपर. ये encryption set of rules एक प्रकार का cryptographic set of rules होता है जो की enter के तोर पर simple textual content और एक encryption key लेता है और output में एक ciphertext produce करता है.

वहीँ standard encryption strategies की बात करें तो, दोनों encryption और decryption keys समान होते हैं और secret भी. इन Typical strategies को widely दो categories में divide किया जाता है: Personality point encryption और Bit point Encryption.

  • Personality – point Encryption – इस way में, encryption को persona point में carry out किया जाता है. Personality Degree Encryption के लिए इस्तमाल किया गया दो not unusual methods हैं Substitutional और Transpositional.
  • Bit-level Encryption – इस way में, पहले information (जैसे की textual content, graphics, audio, video, इत्यदि) को divide किया जाता है blocks of bits में, उसके बाद उन्हें adjust किया जाता है बहुत से ways से जैसे की encoding/deciphering, permutation, substitution, unique OR, rotation, इत्यदि.

एन्क्रिप्शन कैसे हटायें?

Decryption Kya Hai Hindi

Encryption को हटाने के लिए Decryption का इस्तमाल किया जाता है. चलिए समझते हैं की आखिर ये Decryption होता क्या है. Decryption एक ऐसा procedure होता है जो की पुरे encryption procedure को ही invert कर देता है.

इस procedure के मदद से encrypted message को एक बार फिर से उसके actual shape में ले आया जाता है. इसमें receiver एक decryption set of rules और एक key का इस्तमाल करता है जिससे ciphertext को again unique plaintext में तब्दील किया जा सके, इस प्रक्रिया को decoding कहा जाता है.

एक mathematical procedure जिसे की decryption करने के लिए इस्तमाल किया जाता है वो unique plaintext generate करता है consequence के हिसाब से किसी given ciphertext और decryption key तब उसे Decryption set of rules कहा जाता है. यह procedure encryption set of rules का opposite procedure होता है.

Keys जिनका इस्तमाल होता है encryption और decryption के लिए वो identical या dissimilar हो सकते हैं. ये निर्भर करता है है की किस प्रकार की cryptosystems का इस्तमाल हो रहा है (i.e., Symmetric key encryption और Uneven key encryption).

Decryption क्या है ?

Decryption एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें की encoded/encrypted information को एक ऐसी फ़ोरम में बदला जाता है जो की हम इंसानों द्वारा या कम्प्यूटर द्वारा आसानी से समझा जा सके। इस प्रक्रिया को करने के लिए टेक्स्ट को मैन्यूअली या keys के मदद से un-encrypting की जाती है। 

Community Encryption Machine कब चालू हुआ था?

Community encryption Machine की शुरुवात सन 1970 से हुई थी. Community Encryption को community layer या network-level encryption भी कहा जाता है. यह एक community safety procedure होता है जो की crypto products and services का इस्तमाल करता है community switch layer में जो की information hyperlink point के ऊपर होता है वहीँ Utility point के निचे. यह community switch layers होते हैं layers three और four किसी Open Programs Interconnection (OSI) reference style के.

ये layers accountable होते हैं connectivity और routing के लिए दो endpoints के बीच. Present community products and services और software device के इस्तमाल से, community encryption पूरी तरह से invisible होते हैं finish consumer को और वो independently function करते हैं, चाहे आप कोई भी encryption procedure इस्तमाल कर लो. Knowledge केवल transit के दौरान ही encrypted होती हैं और plaintext के हिसाब से रहती है originating और receiving hosts पर.

एन्क्रिप्शन और डिक्रिप्शन में क्या अंतर है?

वैसे देखा जाये तो Encryption और Decryption एक दुसरे के परिपूरक हैं. लेकिन इनके procedure में, options में और purposes में ये दोनों बिलकुल ही अलग हैं. तो चलिए इन दोनों में क्या अंतर हैं उसके विषय में जानते हैं.

COMPARISON का BASIS ENCRYPTION DECRYPTION
Fundamental इसमें इंसानों द्वारा समझा जाने वाला message को एक unintelligible और difficult to understand shape में convert किया जाता है जिसे की interpret नहीं किया जा सकता है. इसके ठीक उसका उल्टा होता है जो की है unintelligible message को एक understandable shape में convert किया जाता है जो की आसानी से इंसानों द्वारा समझा जा सके.
ये Procedure कहाँ होता है Sender’s finish Receiver’s finish
Serve as इसमें plaintext को ciphertext में बदला जाता है. इसमें ciphertext को plaintext में बदला जाता है.

आज आपने क्या सीखा

मुझे आशा है की मैंने आप लोगों को एन्क्रिप्शन क्या है (What’s Encryption in Hindi) के बारे में पूरी जानकारी दी और में आशा करता हूँ आप लोगों को Encryption क्या है के बारे में समझ आ गया होगा.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच feedback लिख सकते हैं. आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिलेगा.

यदि आपको मेरी यह लेख एन्क्रिप्शन और डिक्रिप्शन क्या है हिंदी में अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो तब अपनी प्रसन्नता और उत्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Fb, Twitter इत्यादि पर proportion कीजिये.

Leave a Comment