ऍल्गोरिथम क्या है और आसानी से कैसे लिखें

[ad_1]

सायद आपको पता नहीं होगा ऍल्गोरिथम क्या है (What’s Set of rules in Hindi) और आपको अगर यह नहीं पता तो आपको Set of rules कैसे लिखें यह भी नहीं पता होगा. लेकिन आज मैं आपको, आपके दोनों सवालों के जवाब के साथ साथ कुछ और जानकारी देने की कोसिस करूँगा जो की Set of rules सम्बन्धी होगा.

जिसे आपके सारे सवालों के जवाब मिल जाएँ वो भी हिंदी में.

प्रत्येक दिन सुबह उठते ही हम काम पे लग जाते हैं. हर काम को प्रारंभ से लेके ख़तम होने तक कुछ Steps को Practice करते हैं. हर काम आपके लिए Downside जैसे होते है ओर Downside का हल काम करने से मिलता है. हल निकालने के लिए हम एक क्रम निश्तित करते हैं.

एक उदाहरण से समझते हैं “आपको चाय बनानी है” तो इस कार्य को संपन करने के लिए, हेमे कुछ क्रम का अनुसरण करने की आवस्यकता है. वैसे ही अगर आप रोटी बना रहे हो तो इस कार्य को संपन करने के लिए भी आप कुछ Steps को Practice करते हैं. निचे चाय बनाने के Steps दिए गए हैं.

  1. सबसे पहले एक बरतन में पानी डालके उसे गरम करें.
  2. पानी में चाय पति, चीनी और दूध डालें.
  3. चाय उबलने तक इंतजार करें.
  4. गैस को बंद करें और चाय को छान लें.
  5. चाय तयार है अब आप इसे पि सकते हैं.

उपर दिए गए इस उदहारण को हम Set of rules कह सकते हैं. क्यूंकि यह एक क्रम में है. एक भी क्रम को बदलेंगे तो चाय नहीं बनेगी. सायद कुछ ओर ना बन जाएं. अभी तक आपको हल्का सा आभास होने लगा होगा की Set of rules क्या होता है. आपका सवाल है, “यह Pc में कैसे काम आता है”.

Pc को कुछ कार्य करने के लिए, Pc Program लिखे जाते हैं. अब Pc Program में हम बहुत सारे Steps लिखते हैं. जिन Steps को Pc Execute करता है और कार्य को ख़तम करता है.

जब आप Pc को कुछ कार्य बताते हैं तब आप यह भी सोचते ही होंगे की कैसे Pc इन कार्य को करता है. इसके लिए हम इस्तमाल करते हैं Pc Set of rules. तो चलिए बिस्तर से जानते हैं के ऍल्गोरिथम क्या होता है.

ऍल्गोरिथम क्या है (Set of rules in Hindi)

Algorithm Kya Hai Hindi

Set of rules (Al-go-rith-um) यह एक Process (Step by means of Step Procedure) या फिर यह एक Method है. जो की एक Downside को Remedy करता है. यह एक Process है जिसमे सीमित नियम होते हैं, जिनको Instruction भी कहा जाता है.

जिन नियमों को एक के बाद एक लिखा जाता है और हर एक नियम(Steps) कुछ ना कुछ Operation को दर्शाते है. इन नियमों के जरिए Downside का Resolution निकलते हैं.

दुसरे सब्दों में कहें तो Set of rules किसी भी समस्या या Downside का समाधान निकलने की Step by means of Step प्रक्रिया है. अब और थोडा सरल भाषा में समझते हैं Set of rules में कुछ Steps होते हैं, जिनमे हर एक Step एक Operation को दर्शाता है.

एक Step सुरुवात करता है और आखिर में एक Step रहता है जो ख़तम करता है और इन दोनों Steps के बिच में और बहुत सारे Steps होते हैं जो अलग अलग कार्य करते हैं.

जैसे चावल बनाना यह आपकी Downside है. इस काम को ख़तम करने के लिए चलिए कुछ Steps लिखते हैं. पहले चावल को धोना होगा फिर, पानी गरम करो और पानी गरम करने के उसमे चावल डालना है और चावल के उबलने का इंतजार करना होगा.

10-15 मिनट में चावल बन के तयार. अब यहाँ  हर एक steps कुछ न कुछ Operation को Carry out करते हैं. जैसे चावल धोना मतालब इसमें कचे चावल में पानी डालके धोया जाता है. ऐसे ही हर Steps में अलग अलग Operations होते हैं. देखिए यहाँ हम Downside को छोटे छोटे Steps में divide कर दिए यही तो है जिसको आपको सझना था.

Programming में Set of rules का इस्तमाल बहुत है. तो चलिए बिस्तर से जानते हैं कैसे और कहाँ इनका इस्तमाल होता है.

Makes use of/Significance Of Set of rules

Set of rules का इस्तमाल तो हर जगह है जैसे आप पने हर दिन की समस्याओं का जवाब भी आप इस Step by means of Step Procedure के जरिए निकाल सकते हो. Technically हम बोले तो ज्यदा इस्तमाल IT Business, Trade Style, Programming में किया जाता है. तो चालिए एक एक कर इसके Makes use of के बारे में जानते हैं.

  • Pc Programming में Program को लिखने से पहले Set of rules लिखा जाता है. अगर आप एक Pc Sc, IT, BCA और MCA के Scholar हो तो आपको एक Program लिखना है. जैसे Take a look at Whether or not the Quantity is High और Now not ? इस Program को अगर आप बिना सोचे लिखना सुरु कर देंगे तो सायद Program में आपको बहुत सारे Error देखने को मिल सकते हैं. इन Mistakes को आप कम कर सकते हो अगर आप पहले Set of rules बना लें तो.
  • Flowchart बनाने से पहले Set of rules लिखा जाता है. वरना गलतियाँ होने की संभावना बढ़ जाती है.
  • Pc Scientist और Device Engineer इसका इस्तमाल करते हैं. क्यूंकि इसके इस्तमाल से उनका समय और महनत कम हो जाती है. जैसे एक Device Corporate को SBI के लिए app Broaden करना है. अब यह tool Engineer के लिए एक समस्या है इसका समाधान Step by means of Step लिखने से ही होगा. अगर कोई downside या गलती हो जाती है तो समाधान वहीँ पे मिल जाता है. जिसे Software Broaden करने आसानी होती है.
  • Seek Engine, Fb में like, google map Shortest Trail, Ranking, Looking वगेरा यह सब set of rules के जरिए काम करते हैं.
  • Mathematical Downside Remedy करने के लिए इसका इस्तमाल होता, जैसे एक छोटा उदहारण लेते हैं. आपको यह पता लगाना है एक Quantity –ve है या +ve ?. आपके मन जवाब तुरंत आया होगा की + और – चिन्ह को देख के आप बता सकते हैं. लेकिन यह आप समझ जाओगे लेकिन Pc कैसे समझेगा. इसके लिए आपको set of rules लिखना होगा. अगर एक नंबर zero से बड़ा है तो वह +ve Quantity है और अगर zero से छोटा है तो वह quantity –ve नंबर है.
  • Pseudo Code लिखने के लिए भी इसकी जरुरत होती है वरना Pseudocode को दोबारा लिखना पड़ता है.
    व्यक्तिगत जीवन की समस्याओं का समाधान भी कर सकते हैं. जैसे मुझे कल सुबह जल्दी उठाना है. सबसे पहले इसके Steps कैसे लिखोगे 1. मुझे जल्दी सोना है. 2. Alarm थोडा दूर रखना है. 3. अब सो जाना है . 4. सुबह alarm बजा तो उठके अलार्म बंद करो 5. मुह दोहने जाओ. यह 5. काम ख़तम Steps भी एक Set of rules हैं. (यह उदाहरण समझाने लिए लिया गया है)
  • AI, area analysis, robotics इन सभी Box में बहुत उपयोग किया जाता है.

यह जो सवाल था Set of rules क्यूँ चाहिए ये सवाल कुछ इस तरह था हम काम क्यूँ करते है. हर काम को सठिक तरीके से ख़तम करने के लिए एक प्रक्रिया की होनी अति अवश्यक है.

Traits Of Set of rules

आपको पता ही है यह Set of rules एक Step by means of Step Process है. जो ये स्पस्ट करता है की Steps किस क्रम में Execute होंगे जिसे हमें Desired (आकांक्षा जनक) Output मिल सके. Set of rules को दो कारक के जरिए analyze  किया जाता है. जैसे Time और House.

Time यह बताता है की Set of rules लिखने के लिए कितना समय लगेगा और House से यह पता चलता है की कितने कम समय में हम लिख सकते हैं. अब इसके Traits  के बारे में बात करते हैं.

  1. Unambiguous – जो भी अल्गोरिदम आप लिखें वह स्पष्ट और सठिक होना अति अवश्यक है. हर एक step या Line का कुछ That means होना चाहिए.
  2. Finiteness-हर एक Set of rules कुछ सिमित Steps के अंदर ख़तम होना चाहिए. और हर step Finite यानि सिमित बार Repaet होना चाहिए. steps का Exection भी सिमित समय के लिए होना चाहिए. हर एक Step का कुछ कुछ न कुछ That means होना चाहिए.
  3. Enter – हर Set of rules में O या फिर O से ज्यादा सठिक steps होने चाहिए.
  4. Output – जैसे हर Set of rules का Enter Step होते हैं वैसे ही Set of rules का Output Step भी होना चाहिए. Output भी वही आना चाहिए जिसके लिए हम लिखे हैं.
  5. Effectiveness– Time और House से  Effectiveness का अंदाजा लगाया जाता है. अगर set of rules कम time और House में लिखा जाता है. या फिर कम समय में Execute होता है और  कम House में Run होता इसे ही Effectiveness कहते हैं.

Information construction के मुताबिक यह सब Necessary Classes होनी चाहिए.

  • Seek-item को DATA Construction में Seek आसानी से सर्च कर सकें.
  • Type-एक लिस्ट को Order कर सके या Sorting कर सकें.
  • Insert– information Construction में set of rules को Insert कर सकें.
  • Replace– AlGORITHM के जरिए Merchandise को replace करने की ख्यामता हो.
  • Delete– Set of rules से जो merchandise information construction में है उसे Delete कर ने में असुविधा न हो.

The complexity of Set of rules

दो elements को ध्यान में रख के Set of rules की Complexity को Classify किया गया है. एक Time Complexity और दूसरा House Complexity.

Time Complextiy:
Program को Run होने में जितना टाइम लगता है.

House Complexity:
pc के अंदर Program को Execute होने के लिए जितना House चाहिए उसे House Complexity कहते हैं.

Set of rules कैसे लिखें

इसको लिखना बड़ा ही आसान है आपको कुछ ज्यादा सिखने की आवस्यकता ही नहीं. आपको को पता होगा सुरुवात में एक उदहारण लिए थे जहाँ एक ex- था चाय कैसे बनानाते हैं.

उसी तरह आपको लिखना है Step by means of Step. Set of rules की जादा जरुरत Programming में होती है. आप Direct भी लिख सकते हो या आप कुछ regulations का इस्तमाल करके भी लिख सकते  सकते हैं.

Laws जैसे Get started, Enter, Output, Learn, Variable, Show, Forestall. निचे दिए गए Instance को एक बार देख लें जिसे आपको समझने में आसानी होगी.

Instance: 1

Q1. दो Quantity को को input करें और दोनों Numbers का Sum निकालें?

  1. हर set of rules में सुरुवात में Get started और अंत में Forestall/Finish लिखें जैसे निचे लिखा गया है.
    इसके बाद देखें की कितने Variables की जरुरत है या क्या Enter करना है. जैसे निचे दो numbers को Sum करने के लिए Three Variables चाहिए. Num1 पहले quantity के लिए Num2 दुसरे Quantity के लिए और sum variable Num1+num2 को Retailer करने के लिए. तो आपको इन variables के बारे में सोचें और लिखना सुरु करें.
  2. अब कुछ steps ऐसे होंगे जहाँ हमें Mathematics Operation जैसे +, -, ×, ÷ करने होंगे और कुछ Logical Operation जैसे Comparision Operation, True False, जीनका Output O (false) और 1 (True) होता है. Mathematics तो आपको पता ही है (+, -, ×, ÷ ) और Logical का एक Instance जैसे आपको जानना है. “Greatest Quantity amongst 2 Quantity” तो यहाँ आप दोनों Numbers को Evaluate करोगे. इन Symbols का इस्तमाल कर के “>, <, >=, <=, !=”.
  3. अब आखिर में जो Consequence आता है उसको आप Show लिख के Show कर सकते हैं और अंत Step में Forestall या Finish लिख दें. अब इस उदाहरण को धयान से समझें.

Step 1: Get started  //स्टेप स्टार्ट हुआ

Step 2: Claim variables num1, num2 and sum.   //num1, Num2, Sum वेरिएबल बनाएं जहाँ कोई भी संख्या स्टोर होगी

Step 3: Learn values num1 and num2.     //जब keyboard से Quantity input होगा तो यहाँ learn होगा

Step 4: Upload num1 and num2 and assign the end result to sum.
Sum=num1+num2  //दो numbers का जोड़, Sum में Retailer होगा

Step 5: Show sum    //sum को Show करें

Step 6: Forestall //समाप्त

अब कुछ और उदहारण देख के समझने की कोसिस करें.

Instance: 2

Step 1. Get started
Step 2. Learn the quantity n
Step 3. [Initialize] i=1, truth=1
Step 4. Repeat step Four thru 6 till i=n
Step 5. truth=truth*i
Step 6. i=i+1
Step 7. Print truth
Step 8. Forestall

आज आपने क्या सीखा

हमेसा से मेरी कोशिश रहती है की आपको सही और सठिक और पूर्ण Inforamtion आपको मिले. आशा करता हूँ आपको समझ आ गया होगा के ऍल्गोरिथम क्या है (Set of rules in Hindi).

शायद अगली  बार जब आप लिखो गे तो याद रखना इन कुछ बातों को- आप को Program में कितने Variable चाहिए और Compute क्या करना है. कोन कोन से Operation करने हैं. जिसे लिखने में आसानी होगी. कोसिस करने वालों की कभी हार नहीं होती.

आपसे यही उमीद है ये लेख पसंद आया होगा, कैसा लगा आप जरुर निचे बताइए. अगर अभी बी कोई सवाल आप पूछना चाहते हो तो निचे Remark Field में जरुर लिखे. कोई सुझाव या सलाह देना चाहते हो तो जरुर दीजिये जो हमारे लिए काफी उपयोगी हो.

हमारे Weblog को अभी तक अगर आप Subscribe नहीं किये हैं तो जरुर Subscribe करें आपको हनारी जानकरी आपको सबसे पहले मिले. मस्त रहें और खुस रहें. चलो बनायें Virtual India जय हिंद, जय भारत, धन्यबाद.

Leave a Comment