इमेज स्कैनर क्या है और इसके प्रकार

0
9


क्या आपने कभी सुना है की ये इमेज स्कैनर क्या है? यदि आपके लिए यह शब्द नया है तब आपको जरुर ही यह Article पढना चाहिए. क्यूंकि article के ख़त्म होने तक आपको इसके fundamentals के विषय में जानकारी जरुर मिल चुकी होगी. और यदि आप इसके विषय में जानते हैं तब शायद आपको कुछ और भी जानने को मिल सकता है जिसके विषय में आपको जानकारी नहीं है.

वैसे इमेज स्कैनर का नाम सुनते ही हमारे दिमाग में Scanning device का चित्र जरुर आता है, जैसे ही हम लोगों ने Motion pictures में देखा है जहाँ की Safety issues में Scanning Machines का इस्तमाल होता है frame scan करने के लिए जिससे कोई भी metals को ये hit upon कर सकते हैं. वैसे ही Scanner का एक और sort भी है जिसे की Symbol Scanner कहते हैं.

बहुत दिनों से customers हमें इसके विषय में कोई article लिखने के लिए कह रहे थे इसलिए आज मैंने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को Symbol Scanner क्या है के विषय में पूरी उपलब्ध जानकारी दे दी जाये. जिससे आप लोगों के सभी doubts transparent हो जायेंगे. तो फिर बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं की ये इमेज स्कैनर क्या होता है और इसके कितने प्रकार है हिंदी में.

इमेज स्कैनर क्या है (What’s Symbol Scanner in Hindi)

Image Scanner Kya Hai Hindi

Symbol scanner एक ऐसा virtual software होता है जिसका इस्तमाल pictures, footage, published textual content और items को Scan करने के लिए किया जाता है और फिर उसे Virtual Symbol में convert किया जाता है.

Symbol scanners का इस्तमाल बहुत सारे selection के home और business programs जैसे की design, opposite engineering, orthotics, gaming और trying out में किया जाता है.

Flatbed Scanner का इस्तमाल सबसे ज्यादा workplaces और घरों में किया जाता है, इसे Xerox device के नाम से भी जाना जाता है. आजकल के fashionable symbol scanner descendant (वंशज) हैं पहले ज़माने के fax enter units और telegraphy apparatus के. इन Symbol Scanner के इस्तमाल से हम Scanning के साथ साथ, photocopies निकालना इत्यादि भी कर सकते हैं.

इमेज स्कैनर का इतिहास

सबसे पहला scanner को Pc के साथ इस्तमाल करने के लिए expand किया गया था. यह एक drum scanner था. इसे सन 1957 में US Nationwide Bureau of Requirements के crew ने बनाया था.

उस crew का नेतृत्व कर रहे थे Russell A. Kirsch, जो की The usa की पहली internally programmable (stored-program) pc को बनाने में काम कर रहे थे, Requirements Jap Computerized Pc (SEAC) के साथ, जिससे वो allow कर सकें Kirsch’s workforce of experiment को जहाँ की algorithms का इस्तमाल कर release किया जा सकता है symbol processing और development popularity जैसे कई नयी generation को.

स्कैनर के प्रकार

वैसे तो बहुत सारे sorts के scanners मेह्जुद हैं, लेकिन यहाँ हम कुछ vital Scanner के बारे में जानेंगे.

1. Drum Scanners

ये Symbol को scan करते हैं photomultiplier tubes (PMT) के माध्यम से. यहाँ reflective originals को gather किया जाता है एक acrylic cylinder या drum के मदद से, ये rotate करते हैं जब object को go किया जाता है scanning के लिए precision optics के सामने.

ये optics फिर transmit करते हैं symbol data को PMT में. Colour के लिए, a drum scanner इस्तमाल करता है तीन PMTs का जिससे वो learn कर सकते हैं crimson, blue और inexperienced.

2. Flatbed Scanners

इसमें एक glass pane और एक shifting optical array होता है charge-coupled software (CCD) scanning के लिए. Flatbeds में तीन arrays of sensors भी होते हैं crimson, inexperienced और blue filters के साथ.

Photographs जिसे की scan किया जाये उन्हें position किया जाता है flat ही pane के ऊपर और एक dense duvet का इस्तमाल किया जाता है ambient lighting fixtures को दूर रखने के लिए.

फिर sensor arrays और mild supply को transfer किया जाता है complete symbol house को learn करने के लिए. वहीँ clear pictures, और particular equipment का इस्तमाल किया जाता है उन्हें remove darkness from करने के लिए higher aspect से.

3. Movie Scanners

Slide और unfavourable movie strips को रखा जाता है एक provider में एक movie scanner के भीतर. यहाँ provider को transfer किया जाता है एक motor के मदद से जिसमें एक lens और एक CCD sensor का भी इस्तमाल किया जाता है.

4. Hand Scanners

Hand held units को ऊपर से pull किया जाता है symbol floor के throughout जिससे huge pictures को scan किया जा सकें.

5. three-D Scanners

ये scanners rely करते हैं reference markers के placements के ऊपर, जिनका इस्तमाल होता है component के place को area में align करने के लिए.

6. Desktop Virtual Digital camera Scanners

यह एक all-in-one printer होता है एक desktop virtual digital camera scanner के साथ. यहाँ scanner be offering करता है high-speed symbol scanning जैसे options.

7. Smartphone Scanner

Apps को भी obtain किया जा सकता है कई smartphone units में, जिससे उनको paperwork को scan करने के लिए इस्तमाल किया जाता है virtual digital camera exposures के इस्तमाल से और इससे आखिर में आप उन scanned pictures का output ले सकते हैं JPEG और PDF codecs में.

CT Scan क्या है

CT scan का Complete Shape होता है Automatic tomography. इसे CAT (automated axial tomography) भी कहा जाता है. ये असल में एक X-ray process होता है जिसमें की किसी हिस्से की बहुत सारे X-ray pictures को succession में लिया जाता है.

इन pictures से फिर एक go sectional view दिखाई पड़ता है interior organs के. इसलिए जो चीज़ X-Ray में नहीं हो सकती है उसे CT Scan में किया जा सकता है वो भी आसानी से.

CT Scan का कहाँ इस्तमाल किया जाता है?

एक CT scan के इस्तमाल से frame के पुरे interior constructions को analyze किया जा सकता है. इनका मुख्य इस्तमाल nerve-racking accidents, जैसे की एक blood clot या एक cranium fracture, tumours या फिर एक an infection को hit upon करने के लिए किया जाता है.

इसके माध्यम से शरीर के अन्धरुनी अंग जैसे की liver, gallbladder, pancreas, spleen, aorta, kidneys, uterus, और ovaries को देखा जा सकता है.

CT Scan की Worth कितनी है?

CT Scan की value बहुत से parameters के ऊपर निर्भर करती है. चलिए उनके विषय में जानते हैं : –

1. Scan होने वाला जगह / frame phase

2. Distinction या Non-Distinction, आप कौन से प्रकार का करवाना चाहते हैं.

3. Slices (16/32/64 slices), आप कितनी slices में करना चाहते हैं.

4. उस radiologist का Enjoy कितना है.

5. Industrial sides (जैसे की middle का, affiliations इत्यादि) कैसे हैं.

वैसे एक common foundation में mind CT की कीमत roughly Rs 1300/- तक होती हैं और एक entire frame scan या एक Angio CT की कीमत roughly Rs 18000/- तक हो सकती है.

जहाँ ज्यादातर personal hospitals और diagnostic centres एक CT scan के लिए करीब Rs.3000 से 5000 price करते हैं, वहीँ government-run amenities में इनकी कीमत कम होती है जो की करीब Rs. 500 से 1000 तक होती है. कुछ hospitals में तो ये बिलकुल ही मुफ्त होते हैं.

स्कैन कैसे करे

जब एक report को Scanner के भीतर रखा जाता है, तब symbol सबसे पहले scanned होता है और फिर उस scanned knowledge को procedure करने के लिए उसे एक pc gadget में भेजा जाता है.

Scanners learn कर सकते हैं red-green-blue colour को colour array से और वहीँ colours की intensity को measure किया जाता है उनके array traits के foundation पर. Symbol answer को measure किया जाता है pixels consistent with inch में.

CT Scan कितनी बार किया जा सकता है?

अगर आप CT Scan की बात कर रहे हैं तब यह आपके Medical doctors के ऊपर निर्भर करता है की वो आपका scanning कितनी बार करना चाहते हैं.

आज आपने क्या सीखा

मुझे आशा है की मैंने आप लोगों को इमेज स्कैनर क्या है (What’s Symbol Scanner in Hindi) के बारे में पूरी जानकारी दी और में आशा करता हूँ आप लोगों को स्कैनर के उपयोग के बारे में समझ आ गया होगा.

यदि आपके मन में इस article इमेज स्कैनर इन हिंदी को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच feedback लिख सकते हैं. आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिलेगा.

यदि आपको मेरी यह लेख इमेज स्कैनर क्या होता है हिंदी में अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो तब अपनी प्रसन्नता और उत्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Fb,Twitter इत्यादि पर percentage कीजिये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here